पिछले वर्षों से अलग रही सैफई की होली, उल्लास की जगह रही उदासी

अखिलेश यादव

मुलायम सिंह यादव का परिवार होली के अवसर पर इस बार गाँव नहीं पहुंचेगा, ऐसी संभावना जताई जा रही थी, लेकिन संभावनाओं के विपरीत परिवार के सदस्यों ने गाँव में ही होली मनाई, पर दूरियां बरकरार रहीं, जिससे होली के अवसर पर स्वाभाविक खुशी भी दिखाई नहीं दी, वहीं अखिलेश यादव ने पत्रकारों से बात करते हुए सैफई में कहा कि विधायकों की बैठक में नेता प्रतिपक्ष का चयन किया जायेगा। उन्होंने ईवीएम को लेकर दिए गये मायावती के बयान का समर्थन किया और कहा कि उन्होंने आपत्ति की है, तो उसकी जांच होनी चाहिए।

इटावा जिले में स्थित गाँव सैफई के निवासी हैं मुलायम सिंह यादव, जहाँ विशिष्ट अवसरों पर पूरा परिवार जमा होता रहा है। राजनैतिक व्यवस्तताओं को त्याग कर पूरा परिवार त्यौहार सैफई में ही मनाता रहा है। परिवार में हुए घमासान और विधान सभा चुनाव में पार्टी की हार को लेकर माना जा रहा था कि इस होली पर परिवार सैफई में इकट्ठा नहीं हो सकेगा, लेकिन संभावनाओं के विपरीत परिवार के सदस्य सैफई पहुंचे।

शनिवार की शाम को ही मुलायम सिंह यादव, बड़े भाई अभयराम, छोटे भाई राजपाल यादव, बेटा अभिषेक यादव अंशुल, उनकी पत्नी डॉ. स्वीटी, भतीजे बदायूं सांसद धर्मेंद्र यादव, अनुराग यादव, पौत्र मैनपुरी सांसद तेज प्रताप यादव एवं उनकी पत्नी राज लक्ष्मी सहित अन्य तमाम लोग सैफई में पहुंच गए थे, लेकिन अखिलेश-डिम्पल के आते ही मुलायम लखनऊ वापस चले गए थे, इसके अलावा शिवपाल सिंह यादव सैफई नहीं पहुंचे, उन्होंने समर्थकों के साथ इटावा में मस्ती की। होली की मस्ती से पहली पीढ़ी नदारद रही, अथवा मायूस दिखी, लेकिन अखिलेश के पूरे परिवार के साथ दूसरी और तीसरी पीढ़ी के लोग होली खेलते नजर आये, पर पिछले वर्षों वाला उल्लास उनका भी गायब रहा।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

मुख्यमंत्री ने कल सैफई और आज लखनऊ में खेली होली

Leave a Reply