बरेली-अलीगढ़ पैसेंजर बंद होने से नाराज ग्रामीणों ने रोकी ट्रेन

मुरादाबाद-बरेली रेलवे ट्रैक पर जमे ग्रामीणों से बात करते एसडीएम।
मुरादाबाद-बरेली रेलवे ट्रैक पर जमे ग्रामीणों से बात करते एसडीएम।

एनडीए की सरकार लगातार जनहित विरोधी निर्णय लेती नजर आ रही है। ट्रेन बढ़ाने की जगह बरेली-अलीगढ़ पैसेंजर बंद कर दी, जिससे नाराज ग्रामीणों ने रेलवे ट्रैक पर जाम लगा दिया। मुरादाबाद-बरेली पैसेंजर तीन घंटे तक खड़ी रही, साथ ही कई अन्य ट्रेन भी प्रभावित हुईं। रेलवे ट्रैक जाम होने से प्रशासनिक अफसरों में हड़कंप मच गया। एसडीएम द्वारा दिए गये आश्वासन के बाद आक्रोशित ग्रामीण रेलवे ट्रैक से हट तो गये, लेकिन ग्रामीणों ने चेतावनी दी है कि बरेली-अलीगढ़ पैसेंजर ट्रेन का संचालन शीघ्र ही शुरू नहीं हुआ, तो विकराल आंदोलन किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि बरेली-अलीगढ़ पैसेंजर बीती 28 जुलाई को अचानक बंद कर दी गई, जिससे बिसौली तहसील क्षेत्र के करेंगी, दबतोरी, आसफपुर, सिसरका रेलवे स्टेशन के साथ पुरवाखेड़ा हाल्ट के यात्रियों को बड़ी समस्या होने लगी। क्षेत्र के लोगों ने लिखित में शिकायत की, लेकिन कोई कार्रवाई न होने पर मंगलवार को ग्रामीणों का धैर्य जवाब दे गया। क्षेत्र के पुरवाखेड़ा, हरदासपुर, सिसरका और संग्रामपुर सहित अन्य तमाम गाँवों के आक्रोशित महिला-पुरुष व बच्चे पुरवाखेड़ा हाल्ट पर जमा हो गये और रेलवे ट्रैक पर बैठ गये, जिससे मुरादाबाद-बरेली पैसेंजर ट्रेन आकर खड़ी हो गई।

ट्रेन रोकने की खबर पर प्रशासनिक अफसरों में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में मौके पर पहुंचे बिसौली क्षेत्र के एसडीएम आर. डी. राम ने कोतवाली प्रभारी जमीरूल हसन के साथ मिल कर ग्रामीणों से वार्ता की और उनकी मांग संबंधित अफसरों तक पहुँचाने का आश्वासन दिया, जिससे आक्रोशित ग्रामीणों ने ट्रेन को जाने दिया, लेकिन ग्रामीणों ने चेतावनी दी है कि बरेली-अलीगढ़ पैसेंजर क संचालन शीघ्र शुरू न किया गया, तो विकराल आंदोलन किया जायेगा।

Leave a Reply