मुख्यालय के निर्देश पर भी ठाकुर विरोधी और भ्रष्टों के विरुद्ध नहीं हुई कार्रवाई

बदायूं जिले के थाना इस्लामनगर में तैनात बहुजन समाज पार्टी की मानसिकता के ठाकुर विरोधी थानाध्यक्ष रघुराज और उनके दबाव में रिश्वत मांगने वाले सब-इंस्पेक्टर रंजीत बहादुर व चालक मलखान के विरुद्ध चौबीस घंटे बीत जाने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की गई है, जबकि पुलिस मुख्यालय ने चौबीस घंटे के अंदर जाँच कर आख्या मांगी थी। रिश्वतखोरी की रिकॉर्डिंग सार्वजनिक होने से पुलिस की बड़ी फजीहत हो रही है, लेकिन बेकसूर को अभी तक कोई राहत नहीं मिली है, जिससे वह भूमिगत ही है।

उल्लेखनीय है कि इस्लामनगर थाना क्षेत्र के गाँव गढ़ीखानपुर निवासी दुष्यंत कुमार सिंह ने आरोप लगाया था कि एसओ रघुराज ने उसके विरुद्ध जाति विरोधी मानसिकता के चलते फर्जी प्रार्थना पत्र पर चोरी करने का फर्जी मुकदमा दर्ज कर दिया। दुष्यंत का कहना है कि फर्जी मुकदमा लिखाते समय फर्जी गवाह बनाये गये थे, जिन्होंने चोरी की कोई घटना नहीं होने के शपथ पत्र दे दिए हैं, इसके बावजूद एसओ रघुराज ठाकुर विरोधी होने के चलते लगातार दबिश दे रहे हैं। दुष्यंत का कहना है कि घटना सही भी मान ली जाये, तो भी चोरी की धारा- 380 आईपीसी में गिरफ्तार करने का प्रावधान नहीं है, इसके बावजूद एसओ रघुराज लगातार गिरफ्तार करने की धमकी दे रहे हैं और दबिश भी दे रहे हैं, जिससे वह भूमिगत है।

दुष्यंत ने बताया कि एसओ रघुराज एक ओर गिरफ्तारी को दबिश दे रहे हैं, वहीं अपने चालक मलखान सिंह और सब-इंस्पेक्टर रंजीत बहादुर से रिश्वत देने का दबाव बनवा रहे हैं। दुष्यंत ने आरोप लगाया कि पहले एक लाख रूपये मांगे गये, जिस पर उसने असमर्थता जताई, तो 50 हजार रूपये देने का फरमान सुना दिया गया। दुष्यंत ने कहा कि पुलिस वाले यह भी कह रहे हैं कि मुकदमा फर्जी है, लेकिन बिना रिश्वत के मुकदमा खत्म करने को तैयार नहीं हैं। दुष्यंत ने बताया कि सीओ और एएसपी आरए तक को रूपये जायेंगे, यह कर उससे रिश्वत मांगी जा रही है। बेकसूर दुष्यंत ने एसएसपी, आईजी, एडीजी, डीजीपी और मुख्यमंत्री से न्याय दिलाने की गुहार लगाई, इस खबर को गौतम संदेश ने प्रकाशित किया। खबर को संज्ञान में लेते हुए पुलिस मुख्यालय ने बदायूं पुलिस को चौबीस घंटे के अंदर जाँच कर आख्या देने का निर्देश दिया था, लेकिन चौबीस घंटे बाद भी रघुराज, रंजीत बहादुर और मलखान के विरुद्ध कार्रवाई नहीं की गई है, जबकि बेकसूर अभी भी भूमिगत ही है।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

पढ़ें: बसपा की मानसिकता के जाति विरोधी एसओ के चलते दहशत में हैं ठाकुर

पढ़ें: ठाकुर विरोधी एसओ के विरुद्ध नहीं हुई कार्रवाई, दबिश देकर मंगवाई रिश्वत

बेकसूर दुष्यंत कुमार सिंह एवं भ्रष्ट सब-इंस्पेक्टर रंजीत बहादुर व भ्रष्ट चालक मलखान सिंह।

Leave a Reply