रामायनी हॉस्पीटल में डॉक्टर और स्टाफ ने अधिवक्ता पर किया जानलेवा हमला

रामायनी हॉस्पीटल में डॉक्टर और स्टाफ ने अधिवक्ता पर किया जानलेवा हमला

बदायूं के रामायनी हॉस्पीटल में मनमानी का विरोध करने पर लोकप्रिय अधिवक्ता पर डॉक्टर और उसके स्टाफ ने बल्लों और चाकुओं से जानलेवा हमला कर दिया। हमले में अधिवक्ता को गंभीर चोट आई है। घटना को लेकर अधिवक्ता आक्रोशित नजर आ रहे हैं। बार के महासचिव ने कड़ी कार्रवाई कराने की बात कही है।

बताते हैं कि लोकप्रिय अधिवक्ता अजय सिसौदिया की पत्नी बेटे रुद्रांश को लेकर रामायनी हॉस्पिटल गई थीं, उन्होंने इमरजेंसी का पर्चा बनवाया था, इसके बावजूद हॉस्पीटल के कर्मचारी अपने परिचितों को डॉक्टर के केबिन में घुसा रहे थे, इसका अधिवक्ता की पत्नी ने विरोध किया, तो उनके साथ अभद्रता की गई, उन्होंने पति को फोन कर मनमानी और अभद्रता करने की जानकारी दे दी, तो अधिवक्ता अजय सिसौदिया भी हॉस्पीटल पहुंच गये।

अधिवक्ता ने डॉक्टर से मिल कर बात करने का प्रयास किया, उससे पहले कर्मचारी बल्ले और चाकू लेकर दौड़ पड़े, अपने कर्मचारियों को रोकने की जगह डॉ. नीकल कमल भी मारपीट करने लगे। घटना की सूचना पर पुलिस हॉस्पीटल पहुंची, तब मामला शांत हुआ। अचानक हुए हमले में अधिवक्ता अजय सिसौदिया गंभीर रूप से घायल हुए हैं, उन्हें सिर में गहरी चोट लगी है।

घटना की खबर अधिवक्ताओं के बीच फैली, तो अधिवक्ता आक्रोशित हो उठे। जिला बार एसोसियेशन के महासचिव अधिवक्ता पवन कुमार गुप्ता ने कहा कि लोकप्रिय अधिवक्ता के साथ हुई घटना दुर्भाग्य पूर्ण है। निजी हॉस्पीटल के स्वामी न सिर्फ नियमों की अनदेखी कर रहे हैं, बल्कि आम जनता का आर्थिक दोहन कर रहे हैं और मनमानी का आलम यह है कि लोकप्रिय अधिवक्ता पर ही हमला कर दिया, इसको लेकर कड़ा कदम उठाया जायेगा।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

घटना के समय का दृश्य देखने के लिए वीडियो पर क्लिक करें

Leave a Reply