जिला योजना की बैठक में पीडी और डीपीआरओ की फजीहत

जिला योजना की बैठक में पीडी और डीपीआरओ की फजीहत
  • जिला योजना में एक अरब 70 करोड़ 88 लाख के अनुमोदन को हरी झण्डी
जिला योजना की बैठक में मौजूद प्रभारी मंत्री राम करन आर्य, सदस्य और अधिकारीगण।
जिला योजना की बैठक में मौजूद प्रभारी मंत्री राम करन आर्य, सदस्य और अधिकारीगण।

बदायूं जनपद में विकास कार्यों को और गति प्रदान करने हेतु वित्तीय वर्ष 2014-15 की जिला योजना में एक अरब सत्तर करोड़ 88 लाख का प्रस्ताव सर्व सम्मति से अनुमोदित किया गया। वक्फ विकास निगम के अध्यक्ष आबिद रजा द्वारा बैठक का बहिष्कार करने की खबर निराधार साबित हुई। बैठक में सबसे पहले पहुंचने वालों में से एक थे, लेकिन उन्होंने निंदा प्रस्ताव पास करा दिया, साथ ही उनकी बसपा एमएलसी जितेन्द्र यादव से तीखी नोंक-झोंक भी हुई, इसके अलावा बैठक में डीआरडीए के पीडी व प्रभारी डीपीआरओ की जमकर फजीहत भी हुई।
विकास भवन स्थित सभाकक्ष में शुक्रवार को आयोजित बैठक जनपद प्रभारी एवं खेल, युवा कल्याण, वाह्य सहायतित परियोजना एवं समग्र ग्राम विकास विभाग के राज्यमंत्री राम करन आर्य की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। प्रस्तावित जिला योजना में जनपद की मूलभूत आवश्यकताओं को दृष्टिगत रखते हुए ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में हैंडपम्पों के अधिष्ठापन, रीबोर, 4598 इंदिरा आवासों का निर्माण, 1060 लोहिया आवासों का निर्माण, दो सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों की स्थापना, एक सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के भवन का निर्माण, चार रोगी आसरा स्थलों का निर्माण, शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्र में पांच पांच आयुर्वेदिक एवं यूनानी चिकित्सालयों की स्थापना, नगरीय क्षेत्रों में दो होम्योपैथिक चिकित्सालयों की स्थापना, डा. राम मनोहर लोहिया समग्र ग्राम विकास योजनान्तर्गत 20.02 किमी सीसी रोड एवं केसी ड्रेन का निर्माण तथा सूरज कुंड का पर्यटन विकास, सरसोता एवं उझानी के बुर्रा फरीदपुर मंदिर का सौन्दर्यीकरण कराया जाएगा।
बैठक का शुभारम्भ विधिवत स्वागत और परिचय से हुआ। विभिन्न विभागोें द्वारा प्रस्तुत जिला योजना के प्रस्ताव अनुमोदन से पूर्व सभी सदस्यों ने गत वर्ष कराए गए विकास कार्यों की प्राप्त धनराशि एवं व्यय धनराशि की विस्तृत जानकारी चाही, जिस पर प्रभारी मंत्री श्री आर्या ने कहा कि एक सप्ताह के अंदर वित्तीय वर्ष 2013-14 के विकास कार्यों की सूची और आय व्यय की विस्तृत विवरण सभी सदस्यों को जिलाधिकारी के माध्यम से उपलब्ध कराया जाए।
जिला योजना में जल निगम विभाग द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में पंद्रह सौ हैंडपम्पों के स्थापन, पंद्रह सौ हैंडपम्पों का रीबोर, नगरीय क्षेत्रों में 250 हैंडपम्पों का अधिष्ठापन एवं 200 हैंडपम्पों के रिबोर के प्रस्ताव को विधान परिषद सदस्य बनवारी सिंह यादव ने न काफी बताते हुए कुल पांच हजार नलों का प्रस्ताव रखने को कहा। शेखूपुर के विधायक आशीष यादव ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में इंडिया मार्का हैंडपम्पों को सुचारू रूप से चालू रखने हेतु ग्राम सचिवों की भागीदारी सुनिश्चित करने को कहा।  कृषि एवं गन्ना विकास विभाग के प्रस्ताव पर समिति सदस्यों ने किसानों की जरूरतों को ध्यान में रखकर जिला योजना तैयार करने को कहा। बिसौली के विधायक आशुतोष मौर्य ने लघु एवं सीमांत कृषकों की सहायतार्थ प्रस्ताव अनुमोदन के संबंध में कहा कि संबंधित विभाग की गार्ड लाइन सहित कराए गए बोरिंग की सूची जनप्रतिनिधियों को उपलब्ध कराई जाए। शहर विधायक/वक्फ विकास निगम के अध्यक्ष आबिद रजा ने पशु चिकित्सकों की उपस्थिति सुनिश्चित कराने सहित पशु चिकित्सालयों पर आवश्यकतानुसार दवा उपलब्ध कराने को कहा। उन्होंने शुक्रवार के दिन विशेष नमाज को दृष्टिगत रखते हुए महत्वपूर्ण बैठकें आयोजित न करने का प्रस्ताव रखा, जिसे जिलाधिकारी ने स्वीकार करते हुए कहा कि अब इस ओर विशेष ध्यान रखा जाएगा। विधायक ने जिला चिकित्सालय में व्याप्त अव्यवस्थाओं पर अंकुश लगाने एवं दलालों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई कराने को कहा। बैठक में समिति सदस्यों द्वारा पोषाहार वितरण में पारदर्शिता लाने पर भी बल दिया।
दुग्ध विकास विभाग पर किसानों का दो करोड़  रूपए बकाया होने पर सदन ने असंतोष जताया, जिस पर प्रभारी मंत्री ने जिलाधिकारी की अध्यक्षता में दो विधान परिषद सदस्य, विधायकों एवं जिला पंचायत सदस्यों के साथ समिति गठित कर दुग्ध विकास विभाग की जांच के आदेश दिए हैं। सहसवान के विधायक ओमकार सिंह यादव ने जांच की समय सीमा तय करने का प्रस्ताव रखा, तो प्रभारी मंत्री ने एक सप्ताह में रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम यादव ने जनपद में एक वृद्ध  आश्रम बनाने हेतु जिला योजना में प्रस्ताव रखने को कहा।
जिलाधिकारी शम्भूनाथ ने जिला योजना समिति के अध्यक्ष/सदस्यों का स्वागत करने के बाद प्रभारी मंत्री सहित अन्य सदस्यों को आश्वस्त किया कि दिए गए निर्देशों का अक्षरशः पालन कराते हुए विकास कार्यों एवं जनकल्याणकारी योजनाओं को भली-भांति क्रियान्वित कराया जाएगा। मुख्य विकास अधिकारी उदय राज सिंह ने जिला योजना समिति के समक्ष विभागवार प्रस्तुत की और सम्बंधित अधिकारियों द्वारा अपने अपने विभागों के प्रस्ताव के सम्बंध में समिति सदस्यों को विस्तृत जानकारी दी गई।
जिला योजना की बैठक में कृषि सेक्टर हेतु 687.32 लाख, ग्राम्य विकास विभाग 4286.94, सिंचाई विभाग 474.20, सड़क एवं पुल 5672.72, शिक्षा 1994.56, चिकित्सा एवं जन स्वास्थ्य 647.70, जल सम्पूर्ति एवं स्वच्छता 969.03, कल्याणकारी योजनाएं 2125.46 तथा अन्य कार्यों हेतु 230.07 लाख का परिव्यय प्रस्ताव रखा गया। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम यादव, विधान परिषद सदस्या जितेन्द्र यादव, बिल्सी के विधायक हाजी मुशर्रत अली, दातागंज के विधायक सिनोद कुमार शाक्य, सुरेश पाल सिंह चौहान, अवधेश यादव, विपिन यादव, राहुल चौहान एवं बलवीर सिंह यादव तथा जिला योजना के नामित, निर्वाचित एवं पदेन सदस्यों सहित जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

बैठक में आबिद रज़ा और एमएलसी जितेन्द्र यादव के बीच तीखी नोंक-झोंक हुई, साथ ही आबिद रज़ा ने पूनम यादव से तो यहाँ तक पूछ लिया कि वह किस दल से हैं, तो उन्होंने खुद को बसपाई बताया। विधायक सिनोद शाक्य और विधायक बिट्टन अली ने डीआरडीए के पीडी रामरक्ष पाल यादव की कार्यप्रणाली को लेकर असंतोष जताया, तो अधिकांश सदस्यों ने समर्थन किया। कई सदस्यों ने पीडी के विरुद्ध अभद्र शब्दों का भी प्रयोग किया। जिलाध्यक्ष बनवारी सिंह यादव ने तो यहाँ तक कह दिया कि पीडी पांच दिन के अंदर चले जायेंगे। पीडी की पत्नी बदायूं में ही डीआईओएस हैं, जो बैठक में मौजूद थीं। पत्नी के सामने ही पीडी की आज बड़ी फजीहत हो गई, इसी तरह डीपीआरओ राजेश यादव की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठाये गये।

Leave a Reply