आज हर्बल पार्क का शिलान्यास, कल होगा मेट्रो का शुभारंभ

आज हर्बल पार्क का शिलान्यास, कल होगा मेट्रो का शुभारंभ
अखिलेश यादव
अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश की जनता के लिए खुश कर देने वाली खबर है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव गुरूवार को लखनऊ मेट्रो के ट्रायल रन का शुभारम्भ करेंगे, साथ ही मेट्रो ट्रेन डिपो का लोकार्पण भी करेंगे। मुख्यमंत्री बुधवार को पतंजलि फूड एवं हर्बल पार्क प्रा. लि. नोएडा का शिलान्यास करेंगे, इस कार्यक्रम की अध्यक्षता सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव करेंगे।

लखनऊ में बना 23 कि. मी. लम्बा मेट्रो का नाॅर्थ-साउथ काॅरिडोर चौधरी चरण सिंह हवाई अड्डे से मुंशी पुलिया तक की दूरी को कवर करेगा, इस बीच कुल 21 स्टेशन पड़ेंगे। नाॅर्थ-साउथ काॅरिडोर के तहत ट्रान्सपोर्ट नगर से चारबाग तक 8.5 कि. मी. लम्बा प्राथमिक सेक्शन निर्मित किया गया है। इस रूट पर लगभग 2 हजार करोड़ रुपये का खर्च सम्भावित है। इस पर 8 एलिवेटेड स्टेशन ट्रान्सपोर्ट नगर, कृष्णा नगर, सिंगार नगर, आलमबाग, आलमबाग बस स्टेशन, मवइया, दुर्गापुरी तथा चारबाग आएंगे। लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना के लिए लखनऊ मेट्रो रेल कारपोरेशन स्थापित किया गया है। नाॅर्थ-साउथ काॅरिडोर के निर्माण पर 6,800 करोड़ रुपये का व्यय सम्भावित है, इस बहुप्रक्षित मेट्रो ट्रेन के ट्रायल रन की मुख्यमंत्री अखिलेश यादव गुरूवार को शुभारम्भ करेंगे, साथ ही मेट्रो ट्रेन डिपो का लोकार्पण भी करेंगे।

इसके अलावा सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव की उपस्थिति में अखिलेश यादव बुधवार को यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण क्षेत्र में स्थापित किये जा रहे पतंजलि फूड एवं हर्बल पार्क प्रा. लि. नोएडा का शिलान्यास करेंगे।

पतंजलि फूड एवं हर्बल पार्क प्रा. लि. नोएडा 455 एकड़ क्षेत्र में स्थापित होगा, जिसमें 1600 करोड़ रुपये का निवेश होगा। इसके कार्यशील होने के उपरान्त 8,000 लोगों को सीधे तौर पर रोजगार मिलेगा, जबकि लगभग 80,000 लोगों को परोक्ष रूप से रोजगार मिलेगा। इस पार्क के अन्तर्गत कृषि आधारित उत्पादों, खाद्य उत्पाद, हर्बल उत्पाद, पशु आहार दुग्ध उत्पाद एवं औषधीय उत्पाद की इकाइयां तथा रिसर्च एण्ड डेवलपमेण्ट सेण्टर की स्थापना की जाएगी। पार्क में स्थापित की गयी खाद्य प्रसंस्करण इकाई प्रतिदिन 400 टन फल एवं सब्ज़ियों का प्रसंस्करण करेगी, जबकि इसमें जैविक गेहूं का इस्तेमाल करते हुए प्रतिदिन 750 टन आटा भी तैयार किया जाएगा। इस पार्क की स्थापना से इस क्षेत्र की ऊसर एवं कम उपजाऊ जमीनों में ज्वार, बाजरा एवं मोटे अनाजों के उत्पादन को भी बढ़ावा मिलेगा, जिससे किसानों की सकल आय में वृद्धि होगी। फूड पार्क की स्थापना से जहां एक ओर कृषि कार्य में विविधता आएगी, वहीं दूसरी ओर किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य भी मिलेगा। इसके साथ ही युवाओं का कौशल विकास होगा और स्थानीय व्यापार को भी बढ़ावा मिलेगा, इसके अलावा, पब्लिक प्राईवेट पार्टनरशिप से सम्पूर्ण आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा। इस परियोजना का मुख्य उद्देश्य स्थानीय किसानों को बाजार की मुख्यधारा से जोड़ना भी है।

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

जनता को समर्पित किया एशिया का पहला साईकिल हाईवे

Leave a Reply