तहसील दिवस को गंभीरता से नहीं ले रहे बदायूं के अफसर

तहसील दिवस को गंभीरता से नहीं ले रहे बदायूं के अफसर
सहसवान स्थित तहसील दिवस में प्रभारी डीएम उदय राज सिंह को परेशानी बताते बुजुर्ग नागरिक।
सहसवान स्थित तहसील दिवस में प्रभारी डीएम उदय राज सिंह को परेशानी बताते बुजुर्ग नागरिक।

तहसील दिवस को अधिकारी गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। बदायूं में तमाम अधिकारी अनुपस्थित रहे। जून, 2014 में सेवा निवृत्त 160 शिक्षकों को अब तक देयों का भुगतान बेसिक शिक्षा विभाग के वित्त एवं लेखाधिकारी कार्यालय में लंबित होने पर सीडीओ/प्रभारी जिलाधिकारी उदयराज सिंह ने नाराजगी जताते हुए तत्काल भुगतान के निर्देश दिए हैं।
तहसील सहसवान में मंगलवार को आयोजित तहसील दिवस में सीडीओ/प्रभारी जिलाधिकारी एवं एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने जनता की शिकायतों/समस्याओं को सुना। तहसील दिवस मेें कमलेश बाबू गुप्त ने शिकायत की कि 30 जून, 2014 को उनके साथ 160 शिक्षक सेवानिवृत्त हुए थे, परन्तु अब तक उन्हें देयों का भुगतान नहीं मिल सका है। प्रभारी डीएम ने प्राथमिकता के आधार पर सेवानिवृत्त अध्यापकों का भुगतान कराने के निर्देश जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को दिए हैं।  बेसिक शिक्षा विभाग के नगर क्षेत्र सहसवान के सेवानिवृत्त चतुर्थ श्रेणी एक कर्मचारी ने शिकायत की कि 30 सितम्बर 2012 को रिटायर्ड होने के बाद भी उसको दी जाने वाली पेंशन विसंगतियों को दूर न करने के साथ ही अन्य अवशेष देयों का भुगतान न होने से आर्थिक समस्याएं उत्पन्न हो रही हैं, जिस पर प्रभारी डीएम ने निर्देश दिए कि इस प्रकार का कोई भी प्रकरण भुगतान हेतु लम्बित नहीं रहना चाहिए।
ग्राम पंचायत मोहम्मद गंज गोबरा के ग्राम प्रधान रनवीर सिंह सहित एक दर्जन से अधिक ग्रामीणों ने कोटेदार गुलफान सिंह की शिकायत की कि मिट्टी का तेल तीन लीटर के स्थान पर दो लीटर दिया जाता है तथा एपीएल कार्ड धारकों को गल्ला न देने के साथ ही मध्यान्ह भोजन का भी निर्धारित मानक के अनुसार राशन नहीं दिया जा रहा है। प्रभारी जिलाधिकारी ने तुरन्त मौके पर जिला पूर्ति अधिकारी को तलब कर निर्देश दिए कि तत्काल जांच कराकर दोषी कोटेदार के खिलाफ कार्रवाई की जाए।
ग्राम मुस्तफाबाद जरेठा के रमेश चन्द्र सहित दो दर्जन से अधिक ग्रामीणों ने तहसील दिवस में उपस्थित होकर शिकायत की कि मुस्तफाबाद जरेठा चार विभागों में विभाजित है, जिसमें माली का नगला, जाटवों का नगला, यादवों का नगला तथा फकीरों का नगला शामिल हैं। इन सभी नगलों में अब तक विद्युतीकरण नहीं हुआ है। ग्राम मुस्तफाबाद जरेठा वर्ष 2014-15 में लोहिया ग्राम चयनित भी हो गया है। मुस्तफाबाद जरेठा में तो विद्युतीकरण हुआ है, परन्तु जुड़े हुए नगलों में नहीं हुआ है। प्रभारी डीएम ने विद्युत विभाग के अभियन्ता को इस सम्बंध में आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।
तहसील दिवस में आराम सिंह यादव ने शिकायत की कि ग्राम दरियापुर की आंगनबाड़ी कार्यकत्री फर्जी प्रमाण पत्रों के आधार पर वर्ष 2005 से कार्य कर रही है। इस सम्बन्ध में जब प्रभारी जिला कार्यक्रम अधिकारी से जानकारी की गई, तो उन्होंने बताया कि आंगनवाड़ी कार्यकत्री का मानदेय रोक दिया गया है और उनसे पुष्टाहार का वितरण भी नहीं कराया जा रहा है। शैक्षिक प्रमाण पत्र यू0पी0 बोर्ड तथा गुरूकुल विश्व विद्यालय को जांच हेतु भेजे जा चुके हैं।
तहसील दिवस में मुख्य कार्यकारी अधिकारी मत्स्य पालक, जिला अल्प संख्यक कल्याण अधिकारी एवं अधिशासी अभियंता लघु सिंचाई तहसील दिवस में अनुपस्थित रहे। प्रभारी डीएम ने अनुपस्थित अधिकारियों का एक दिन का वेतन काटने के निर्देश दिए हैं।
इसके अलावा तहसील दिवस में मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा ग्राम बजरिया के अशोक कान्त, नरेश कान्त, शिकार पुर के जसवीर, ग्राम तिगरा की मंजू एवं रानी के विकलांग प्रमाण पत्र भी बनाए गए, साथ ही जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी उत्तम कार्य तथा पठन पाठन हेतु प्राथमिक विद्यालय खन्दक के कक्षा आठ के छात्र जयवीर, कक्षा छह की छात्रा शशी कुमारी तथा प्रधानाध्यापिका सुधा कुमारी को प्रभारी जिलाधिकारी, एसएसपी द्वारा पुरस्कार एवं प्रमाण पत्र देकर प्रोत्साहित किया गया।
तहसील दिवस में राजस्व, पुलिस, चकबन्दी, खाद्य आपूर्ति, विद्युत, बाल विकास, शिक्षा विभाग सहित अन्य विभागों से सम्बंधित कुल 138 शिकायतें प्राप्त हुईं, जिसमें 12 शिकायतों का मौेके पर निस्तारण कराया गया। तहसील दिवस में प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी प्रभाग समीर कुमार, उप जिलाधिकारी सहसवान हरि शंकर यादव सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply