कोर्ट का निर्णय विपरीत आने पर महिला ने जहर खाया, मौत

कोर्ट का निर्णय विपरीत आने पर महिला ने जहर खाया, मौत
जिला अस्ताल में महिला के उपचार के दौरान वार्ड के बाहर ड्यूटी पर तैनात पुलिस कर्मी।
जिला अस्ताल में महिला के उपचार के दौरान वार्ड के बाहर ड्यूटी पर तैनात पुलिस कर्मी।

बदायूं में शुक्रवार को अलग तरह की दर्दनाक घटना घटित हुई। अदालत का निर्णय विपरीत आते ही एक महिला ने अदालत में ही किसी समय जहर खा लिया। आनन-फानन में उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन डॉक्टर बचाने में असफल रहे।

उल्लेखनीय है कि बदायूं जिले में स्थित सहसवान कोतवाली क्षेत्र के गाँव नसीरपुर टप्पा में वर्ष 2003 में भूदेवी नाम की महिला की मौत पर उसके मायके पक्ष ने पति, ससुर, जेठ और जेठानी पर दहेज़ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था, इस प्रकरण में शुक्रवार को स्पेशल जज ईसी चन्द्रपाल सिंह ने निर्णय सुनाया, जिसमें चारों को आजीवन कारावास की सज़ा का प्रावधान था।

अदालत का निर्णय संज्ञान में आते ही फूलवती (40) पत्नी महावीर ने किसी समय जहर खा लिया। माना जा रहा है कि मृतका जहर लेकर ही आई थी और अदालत में छुपाये बैठे रही। हालत बिगड़ने पर उसे जिला अस्ताल भेजा गया, जहाँ उपचार के दौरान उसने दम तोड़ दिया। इस घटना की शहर में व्यापक स्तर पर चर्चा रही और लोग तरह-तरह की प्रतिक्रिया व्यक्त करते नज़र आये।

Leave a Reply