मुख्यमंत्री की सुरक्षा से खिलवाड़ करने वालों को संत ने छुड़ाया

मुख्यमंत्री की सुरक्षा से खिलवाड़ करने वालों को संत ने छुड़ाया
कनखल थाने से बाहर निकलते संत अवधेशानंद गिरी।
कनखल थाने से बाहर निकलते संत अवधेशानंद गिरी।

        किरन कांत

मुख्यमंत्री की सुरक्षा से खिलवाड़ करने का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। घटना के बाद पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में भी ले लिया, लेकिन विश्व प्रसिद्ध संत थाने आये और सभी आरोपियों को अपने साथ ले गये, जिससे पुलिस की फजीहत हो रही है।

घटना उत्तराखंड के हरिद्वार की है। मुख्यमंत्री हरीश रावत मंगलवार को एक कार्यक्रम में सम्मलित होने आये थे। वापस जाने के लिए उनका हेलीकॉप्टर जैसे ही उड़ा, वैसे ही आसमान में एक हेलीकॉप्टर मंडराता नजर आया। चूँकि पुलिस को कोई जानकारी नहीं थी, जिससे मौके पर मौजूद पुलिस कर्मी स्तब्ध रह गये, इसके बावजूद हेलीकॉप्टर पुलिस ने उतरने दिया, लेकिन जमीन पर उतरते ही पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में ले लिया। पुलिस सभी को कनखल थाने में ले गई और सभी को हवालात में बंद कर दिया।

कनखल थाने के अंदर संत अवधेशानंद गिरी।
कनखल थाने के अंदर संत अवधेशानंद गिरी।

सीओ चंद्र मोहन ने बताया कि हेलीकॉप्टर से आने वाले लोग अप्रवासी भारतीय हैं, जो दक्षिण अफ्रीका में रहते हैं, लेकिन हेलीकॉप्टर उतारने की अनुमति न होने के कारण सभी को हिरासत में लिया गया है। कुछ देर बाद जूना अखाड़े के शक्तिशाली व विश्व प्रसिद्ध संत अवधेशानंद गिरी स्वयं थाने आ गये और उन्होंने सभी आरोपियों से कमरा बंद कर वार्ता ही नहीं की, बल्कि सभी आरोपियों को अपने साथ ले गये।

आरोपियों को इस तरह छोड़े जाने को लेकर पुलिस से सवाल किये, तो पुलिस अब कुछ भी कहने को तैयार नहीं है। जोर देने पर पुलिस के सुर ही बदल गये हैं। अब पुलिस कह रही है कि बाद में अनुमति पत्र दिखा दिया, जिससे सभी को छोड़ दिया गया, लेकिन सवाल यह है कि जब उनके पास अनुमति पत्र था, तो पुलिस ने उन्हें हिरासत में ही क्यूं लिया?

Leave a Reply