एसओजी के सिपाही पर परिजनों ने भी लगाया हत्या का आरोप

एसओजी के सिपाही पर परिजनों ने भी लगाया हत्या का आरोप
एसओजी के सिपाही के विरुद्ध कार्रवाई की मांग को लेकर प्रदर्शन करते परिजन।
एसओजी के सिपाही के विरुद्ध कार्रवाई की मांग को लेकर प्रदर्शन करते परिजन।

अब मृतक नीतेश के परिजन भी खुल कर एसओजी के सिपाही पर आरोप लगाने लगे हैं। परेशान परिजनों ने सोमवार को धरना प्रदर्शन कर ज्ञापन भी सौंपा, लेकिन पुलिस एसओजी के सिपाही को बचा कर घटना का खुलासा कर चुकी है। पुलिस के खुलासे पर तमाम सवाल उठ रहे हैं, लेकिन सवालों का जवाब देने को कोई तैयार नहीं है।

उल्लेखनीय है कि 5 नवंबर की रात में बदायूं शहर के सिविल लाइंस थाना क्षेत्र में स्थित आवास विकास मोहल्ले में शराब की दुकान पर नीतेश को गोली मारी गई थी, जिसका खुलासा “गौतम संदेश” ने कुछ ही देर बाद कर दिया था, लेकिन सुबह को नीतेश के पिता मंगल सेन शर्मा की ओर से पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गोली का जिक्र ही नहीं आया, जबकि जिला अस्पताल में प्राथमिक उपचार के दौरान उसी दिन डॉक्टर ने गोली पाई थी, साथ ही हालत गंभीर होने के कारण नीतेश को बरेली के लिए रेफर कर दिया गया था, लेकिन नीतेश ने बरेली पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया था।

पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट अपने पक्ष में कराने के बाद एक प्रेम त्रिकोण की कहानी गढ़ी और गिरफ्तारी दिखाते हुए घटना का अपने अनुसार खुलासा कर दिया। पुलिस एसओजी के सिपाही को बचा गई, जबकि घटना के समय तमाम लोग मौजूद थे, जो पुलिस के सामने आने से डर रहे हैं। घटना के बाद पुलिस ने कहा था कि चार लोग कार से आये और नीतेश को गोली मार गये। पुलिस ने सुबह को कहा कि सत्यवीर यादव नाम के युवक ने गोली मारी है और पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गोली न निकलने पर एक और कहानी गढ़ ली, जिससे परिजन अब खुल कर एसओजी के सिपाही पर आरोप लगाने लगे हैं। परिजनों ने सोमवार को धरना देकर सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन दिया और कार्रवाई की मांग की।

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

शराब पीते समय एसओजी के सिपाही ने युवक को गोली मारी

Leave a Reply