राज्यमंत्री व कोतवाल पर पत्रकार की हत्या का मुकदमा दर्ज

राज्यमंत्री व कोतवाल पर पत्रकार की हत्या का मुकदमा दर्ज
पत्रकार जगेन्द्र सिंह की हत्या का मुख्य आरोपी राज्यमंत्री राममूर्ति सिंह वर्मा।
पत्रकार जगेन्द्र सिंह की हत्या का मुख्य आरोपी राज्यमंत्री राममूर्ति सिंह वर्मा।

शाहजहांपुर निवासी पत्रकार जगेन्द्र सिंह के प्रकरण में उत्तर प्रदेश सरकार में राज्यमंत्री राममूर्ति सिंह वर्मा और निलंबित कोतवाल प्रकाश राय सहित छः लोगों को नामजद करते हुए कई अज्ञात पुलिस कर्मियों के विरुद्ध हत्या का मुकदमा मृतक के पुत्र की ओर से दर्ज कराया गया है। मुकदमा दर्ज होते ही शासन-प्रशासन में हड़कंप मच गया है, वहीं जगेन्द्र सिंह के निधन पर प्रदेश भर में शोक सभा आयोजित की जा रही हैं एवं प्रदेश भर के मृतक पत्रकार के आश्रितों को आर्थिक सहायता देने की मांग रहे हैं।

आरोपी निलंबित कोतवाल प्रकाश राय।
आरोपी निलंबित कोतवाल प्रकाश राय।

जिला शाहजहाँपुर में थाना खुटार क्षेत्र के गाँव कोट निवासी दिवंगत जगेन्द्र सिंह के नाबालिग पुत्र राघवेन्द्र सिंह की ओर दी तहरीर में कहा गया है कि उसके पिता पिछले दस वर्षों से जिला मुख्यालय पर निर्भीकता से पत्रकारिता कर रहे थे। लेखन के चलते अनेक राजनैतिक व अपराधी उनसे रंजिश मानते थे। पिछले दिनों एक महिला ने प्रदेश के राज्यमंत्री राममूर्ति सिंह वर्मा सहित कई लोगों पर यौन शोषण का आरोप लगाया, इस प्रकरण को उसके पिता ने गंभीरता से उठाया एवं घटना के साक्षी होने के चलते पीड़ित के साथ खड़े हुए और गवाह बने, इसीलिए राममूर्ति सिंह वर्मा रंजिश मानने लगे।

राममूर्ति सिंह वर्मा के कहने पर 1 जून को उनके गुर्गों ने पुलिस वालों के साथ आवास विकास कालौनी स्थित घर पर धावा बोल दिया और मंत्री के विरुद्ध खड़े होने को लेकर गालियाँ देते हुए पेट्रोल डाल कर उसके पिता में आग लगी दी। आग लगने से उसके पिता गंभीर रूप से जल गये, जिसके बाद दबाव में पुलिस ने उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया। डॉक्टर ने हालत गंभीर होने के कारण लखनऊ के लिए रेफर कर दिया, जहां उनका 8 जून को निधन हो गया।

जगेन्द्र ने अपनी वॉल पर 22 को शेयर की थी यह पोस्ट।
जगेन्द्र ने अपनी वॉल पर 22 मई को शेयर की थी यह पोस्ट।

बता दें कि जगेन्द्र का जिला अस्पताल में बयान दर्ज हुआ था एवं जगेन्द्र ने मीडिया के समक्ष भी कहा था कि मंत्री राममूर्ति सिंह वर्मा के कहने पर उसके गुर्गों व पुलिस वालों ने पेट्रोल डाल कर उसमें आग लगाई है, इससे पहले जगेन्द्र ने 22 मई को फेसबुक पर एक पोस्ट शेयर की थी, जिसमें स्पष्ट लिखा है कि मंत्री राममूर्ति सिंह वर्मा उसकी हत्या का षड्यंत्र रच रहे हैं। लिखित व मौखिक बयान, गवाह आदि सब जगेन्द्र के साथ हैं, लेकिन पुलिस इस प्रकरण में आगे क्या करती है, यह भविष्य में ही पता चल सकेगा।
उधर जगेन्द्र की मौत पर प्रदेश भर के पत्रकारों में शोक व्याप्त है। जगह-जगह शोक सभायें आयोजित कर दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की जा रही हैं। पत्रकारों ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि मृतक के आश्रितों को पचास लाख रुपया और एक व्यक्ति को नौकरी दी जाये।

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

माफिया के दबाव में शाहजहांपुर पुलिस ने पत्रकार को फंसाया

One Response to "राज्यमंत्री व कोतवाल पर पत्रकार की हत्या का मुकदमा दर्ज"

  1. Prashant   June 9, 2015 at 6:56 PM

    Truly i am thankful to given space in your site. Please check with details in FB. We citizen of spn lost true friend an real patrakar. If possible do the needful to raise issue at high level. Thanks for yr time to read.

    Reply

Leave a Reply