नरेंद्र मोदी का नेपाल में भव्य स्वागत, तोपों से सलामी दी गई

नरेंद्र मोदी का नेपाल में भव्य स्वागत, तोपों से सलामी दी गई
नेपाल की संसद को संबोधित करते भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीै।
नेपाल की संसद को संबोधित करते भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीै।

दो दिवसीय यात्रा पर पहुंचे भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को नेपाल की संसद को संबोधित किया। उन्होंने नेपाल से अच्छे संबंध बनाये रखने को प्राथमिकता बताते हुए कहा कि भारत और नेपाल का हिमालय और गंगा जितना पुराना संबंध है।

नरेंद्र मोदी ने धार्मिक संबंध को अटूट बताते हुए कहा कि यह दुनिया को आश्चर्यचकित कर देने वाले भगवान की धरती है। यह वीरों की धरती है। बोले- लोकतंत्र में विश्वास रखने वाले दुनिया भर के लोगों की नज़रें नेपाल की ओर टिकी हैं। नये संविधान के निर्माण के लिए बधाई देते हुए उन्होंने कहा कि संविधान वह है, जो लोगों की इच्छाओं और आकांक्षाओं को पूरा करता है। संविधान कोई किताब नहीं होती, बल्कि लोकतांत्रिक जीवन पद्धति होती है।

नरेंद्र मोदी ने बुलेट छोड़कर बैलेट की ओर आगे बढ़ने की शुभकामनायें देते हुए कहा कि युद्ध से बुध की ओर आने वालों को मैं बधाई देता हूं। उन्होंने कहा कि नेपाल में असीम संभावनायें हैं। हम यहां से बिजली खरीदना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि कहा जाता है कि पहाड़ के लिए पानी और जवानी काम नहीं आती। इस कहावत को हम बदलना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि हम नेपाल में विकास देखना चाहता हैं और भारत हर मदद को तैयार है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत कृषि क्षेत्र में आर्गेनिक फार्मिग, स्वाइल हेल्थ के जरिये नेपाल की मदद करने को तैयार है। बोले- नदी पर पुल बन जाने से हमारे बीच की दूरियां बहुत कम हो जायेंगी। नरेंद्र मोदी ने नेपाल के लिए 10 हजार करोड़ रुपये की मदद देने का भी ऐलान किया। भारत नेपाल की पहले भी आर्थिक मदद कर चुका है।

इससे पहले त्रिभुवन अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर नरेंद्र मोदी के स्वागत के लिए नेपाल के प्रधानमंत्री सुशील कोइराला खुद पहुंचे। उन्हें 19 तोपों की सलामी भी दी गई। उनका नेपाल में भव्य स्वागत किया गया। नरेंद्र मोदी की दो दिवसीय यात्रा के चलते नेपाल में दो दिन का राष्ट्रीय अवकाश घोषित किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा व्यवस्था बेहद कड़ी है। नरेंद्र मोदी सोमवार को पशुपति नाथ मंदिर में भगवान शंकर की पूजा भी करेंगे। भारतीय प्रधानमंत्री की यात्रा को लेकर चीन चिंतित नज़र आ रहा हैै।

Leave a Reply