जनेश्वर मिश्र पार्क के लोकार्पण समारोह से सपा का तापमान बढ़ा

जनेश्वर मिश्र पार्क के लोकार्पण समारोह से सपा का तापमान बढ़ा

 
  • इच्छाशक्ति, संघर्ष व साहस की बदौलत आगे बढ़ते हैं समाजवादी: मुलायम सिंह यादव
स्व. जनेश्वर मिश्र की 82वीं जयन्ती के अवसर पर लखनऊ के गोमतीनगर में देश के विशालतम जनेश्वर मिश्र पार्क के लोकार्पण के अवसर पर विचार व्यक्त करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और मंचासीन सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव, अमर सिंह व अन्य मंत्रिगण।
स्व. जनेश्वर मिश्र की 82वीं जयन्ती के अवसर पर लखनऊ के गोमतीनगर में देश के विशालतम जनेश्वर मिश्र पार्क के लोकार्पण के अवसर पर विचार व्यक्त करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और मंचासीन सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव, अमर सिंह व अन्य मंत्रिगण।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज स्व. जनेश्वर मिश्र की 82वीं जयन्ती के अवसर पर लखनऊ के गोमतीनगर में देश के विशालतम जनेश्वर मिश्र पार्क का लोकार्पण किया।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि 376 एकड़ भूमि में बनने वाले इस पार्क का अभी प्रथम चरण का कार्य पूरा हुआ है। आने वाले समय में जब दूसरे चरण का कार्य भी पूरा हो जाएगा, तो यह पार्क देश के बेहतरीन पार्कों में शामिल हो जाएगा। उन्होंने कहा कि इस पार्क में अच्छे पार्कों जैसी सभी सुविधाएं उपलब्ध होंगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि आदरणीय नेताजी (मुलायम सिंह यादव) ने लखनऊ नगर में ही डा. राम मनोहर लोहिया पार्क बनवाया, जिसका लाभ सभी लोग उठा रहे हैं। उन्होंने कहा कि छोटे लोहिया के नाम से लोकप्रिय स्व. श्री मिश्र के नाम पर निर्मित यह पार्क लोहिया पार्क से भी बड़ा और विविधताओं वाला होगा। उन्होंने कहा कि लखनऊ नगर की घनी आबादी के बीच स्थापित होने वाले इस पार्क में बाल क्रीड़ा स्थल, बहुगतिविधि जोन, थीम गार्डेन, जाॅगिंग ट्रैक, साइकिल ट्रैक, वाॅटर बाॅडी तथा वाॅक-वे की भी सुविधाएं होंगी, जिसका लाभ बच्चों, महिलाओं, बुजुर्गों, नौजवानों एवं पर्यटकों, सभी को मिलेगा। उन्होंने कहा कि समाजवादी पत्थरों का स्मारक बनवाने के बजाय ऐसे हरे-भरे पार्क बनवाने पर विश्वास करते हैं, जो हरियालीयुक्त हो और जहां पहुंचकर सभी संतुष्टि का अनुभव करें।
श्री यादव ने स्व. जनेश्वर मिश्र के साथ अपने संस्मरणों को साझा करते हुए कहा कि वे हमेशा गरीबों, मजलूमों, नौजवानों एवं आम लोगों की समस्याओं के लिए संघर्ष करने वाले नेता थे। उनका व्यक्तित्व इतना प्रेरक था कि उनके एक आह्वान पर समाजवादी विचारधारा के लोग मरने-मिटने के लिए तैयार रहते थे। राज्य सरकार द्वारा किए गए विकास कार्यों की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार पूर्ण बहुमत की सरकार है, इसीलिए इसकी घेराबंदी भी अधिक की जाती है। देश में कोई ऐसी राज्य सरकार नहीं है, जिसके तीन शहरों में मेट्रो संचालन के लिए काम किया जा रहा हो। आगरा से लखनऊ तक बनने वाले ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस-वे का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इस बड़ी सड़क को अपने वित्तीय संसाधनों के माध्यम से बनवाने जा रही है। उन्होंने कहा कि सामान्यतः राज्य सरकारें इतने बड़े पैमाने पर विकास कार्यों के बारे में नहीं सोचतीं, जितने व्यापक स्तर पर प्रदेश सरकार द्वारा विकास कार्य कराए जा रहे हैं। उन्होंने ‘108’ समाजवादी स्वास्थ्य सेवा तथा ‘102’ नेशनल एम्बुलेंस सर्विस का जिक्र करते हुए कहा कि इन दोनों सेवाओं के तहत बड़ी संख्या में एम्बुलेंस चलाई जा रही हैं।
मुख्यमंत्री ने अपनी पार्टी के घोषणा पत्र की चर्चा करते हुए कहा कि गांव में रहने वाले गरीबों, किसानों, नौजवानों, महिलाओं तथा अल्पसंख्यकों के लिए बिना किसी भेदभाव के अनेक योजनाएं संचालित की जा रही हैं, जिनका सीधा लाभ प्रदेश की जनता को मिला है। उन्होंने कहा कि पिछली राज्य सरकार में ठप पड़े विभिन्न भाषाओं के साहित्यकारों को दिए जाने वाले सम्मान को वर्तमान सरकार ने पुनः शुरु किया। इसमें हिन्दी, संस्कृत तथा उर्दू केे साहित्यकारों को पुरस्कृत किया गया। प्रदेश सरकार द्वारा संचालित निःशुल्क लैपटाॅप वितरण योजना विशुद्ध रूप से समाजवादी योजना थी, जिसका लाभ सभी को मिला। उन्होंने लोगों से स्व0 मिश्र जी के विचारों के अनुरूप कार्य करने का आह्वान करते हुए कहा कि देश के सेक्युलर चरित्र को बनाए रखने के लिए समाजवादी सिद्धान्तों की सख्त जरूरत है। मुख्यमंत्री ने डाॅ0 राम मनोहर लोहिया पर केन्द्रित स्मारिका तथा स्व0 जनेश्वर मिश्र पर आधारित पुस्तक का विमोचन भी किया।
इस मौके पर अपने सम्बोधन में सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव ने स्व. जनेश्वर मिश्र जी की याद में बनाए जा रहे पार्क की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह पार्क किसी पार्टी विशेष के लिए नहीं बल्कि जनता के लिए बनाया जा रहा है। उन्होंने डाॅ. लोहिया पार्क का उल्लेख करते हुए कहा कि आज यह पार्क सभी के लिए उपयोगी सिद्ध हो रहा है। उन्होंने कहा कि समाजवादी कथनी एवं करनी में भेद नहीं करते। उन्होंने जनेश्वर मिश्र के संदर्भ में कहा कि उनकेे लिए समाजवादी विचारधारा केवल भाषण की बात नहीं थी, अपितु वे इसे जीते भी थे। उन्होंने जनेश्वर मिश्र जी से प्रेरणा लेने का आह्वान करते हुए कहा कि समाजवादी हमेशा इच्छा शक्ति, संघर्ष एवं साहस की बदौलत आगे बढ़ने का काम करते हैं। उन्होंने वर्तमान सरकार द्वारा किसानों, नौजवानों एवं प्रदेश की जनता के हित में लिए गए तमाम फैसलों का जिक्र करते हुए कहा कि इन फैसलों का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाना चाहिए।
इस अवसर पर उपस्थित जनसमुदाय को सम्बोधित करते हुए विधान सभा अध्यक्ष माता प्रसाद पाण्डेय ने कहा कि जनेश्वर मिश्र हमेशा अन्याय एवं शोषण के खिलाफ संघर्ष करते रहे।
लोक निर्माण मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि समाजवाद के आधार पर लोगों की तरक्की के लिए लगातार काम करना होगा। उन्होंने कहा कि स्व0 मिश्र ने समाजवादियों को गरीबों के लिए सतत् संघर्ष करने की प्रेरणा दी।
इस अवसर पर मुख्य सचिव आलोक रंजन ने कहा कि यह पार्क दुनिया के विशालतम पार्कों की सभी अच्छाईयों का मिश्रण होगा। यहां लगभग 150 प्रजातियों के पौधों को रोपित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार लखनऊ को विकसित नगर बनाने के लिए बड़े पैमाने पर विकास कार्य करा रही है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री अहमद हसन, खाद्य एवं रसद मंत्री रघुराज प्रताप सिंह, उ0प्र0 हिन्दी संस्थान के कार्यकारी अध्यक्ष उदय प्रताप सिंह, विधायक शादाब फातिमा, प्रमुख सचिव आवास सदाकांत, वरिष्ठ पत्रकार के0 विक्रम राव, सांसद अमर सिंह, अनंत राम जायसवाल, सरिता शर्मा, पूर्व सांसद भगवती प्रसाद सिंह, रंजना वाजपेई, सुनील सिंह यादव, नीरज शेखर ने भी कार्यक्रम को सम्बोधित किया। कार्यक्रम का संचालन खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री नारद राय ने किया।
उधर कार्यक्रम में अमर सिंह आकर्षण का मुख्य केंद्र रहे। उन्हें शॉल पहनाने के साथ पुष्प गुच्छ देकर सम्मानित किया गया, साथ ही आजम खां और प्रो. रामगोपाल यादव के न होने को लेकर भी तरह-तरह की चर्चायें की जा रही हैं। इस सब के साथ इस भव्य पार्क के लोकार्पण के अवसर पर सांसद डिपंल यादव, सांसद धर्मेन्द्र यादव, सांसद अक्षय यादव, सांसद नरेश अग्रवाल और सांसद जया बच्चन भी नज़र नहीं आये।

Leave a Reply