उत्तर प्रदेश की जनता के साथ विश्वासघात किया: धर्मेन्द्र

उत्तर प्रदेश की जनता के साथ विश्वासघात किया: धर्मेन्द्र
सांसद धर्मेन्द्र यादव
सांसद धर्मेन्द्र यादव

बदायूं लोकसभा क्षेत्र के लोकप्रिय व युवा सांसद धर्मेन्द्र यादव ने बुधवार को संसद में उत्तर प्रदेश की बिजली की समस्या को जोरदार तरीके से उठाया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भारत सरकार को पत्र लिखकर उत्तर प्रदेश की बिजली की समस्या के बारे में अवगत कराया है। बोले- उत्तर प्रदेश में कोयले पर आधारित 1140 मेगावाट का विद्युत प्लान्ट है तथा प्रतिदिन 5 कोयले की रेकों की आवश्यकता होती है, जबकि बमुश्किल केन्द्र सरकार से 3 कोयले की रेक ही प्राप्त हो रही हैं, जिससे 460 मेगावाट प्रतिदिन बिजली का उत्पादन कम हो रहा है।

उन्होंने सदन के माध्यम से मांग करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश की कोयले की कमी तत्काल दूर की जाये। सपा सांसद ने कहा कि बिजली की कमी के कारण उत्तर प्रदेश सरकार पर तमाम विपक्षी पार्टिया सवाल उठा रही हैं। यदि उत्तर प्रदेश सरकार को उसके कोटे का पूरा कोयला मिले, तो यूपी सरकार उन सवालों का समाधान कर सकती है। उन्होंने आगे कहा कि यूपी का केन्द्र से बिजली का आवंटित अंश 6002 मेगावाट है, जबकि मात्र 4500 मेगावाट बिजली केन्द्र सरकार द्वारा यूपी को उपलब्ध कराई जा रही है।

धर्मेन्द्र यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश के कोटे की बिजली पूरी उपलब्ध कराये, जिससे बिजली की समस्या का समाधान हो सके। बोले- उत्तर प्रदेश से भाजपा के बहुत से सांसद जीतकर आये हैं और केन्द्र की सरकार भी उत्तर प्रदेश के भाजपा सांसदों के कारण बनी है। यदि कोयले की कमी को शीघ्र पूरा नहीं किया गया, तो आने वाले समय में बिजली की और अधिक कटौती हो सकती है। उन्होंने कहा यूपी की जनता को अच्छे दिन आने का नारा देकर उनके साथ विश्वासघात किया गया है। जनता यह सब देख रही है और आने वाले समय में भाजपा सहित तमाम विपक्षी दलों को सबक सिखाने का कार्य करेगी।

Leave a Reply