तीन घायल गायों ने दम तोड़ा, बिसौली में ऐतिहासिक बंद

तीन घायल गायों ने दम तोड़ा, बिसौली में ऐतिहासिक बंद
एसडीएम गुलाब चंद्र से बात करते पूर्व विधायक योगेन्द्र कुमार गर्ग व बिसौली के तमाम प्रतिष्ठित लोग।
एसडीएम गुलाब चंद्र से बात करते पूर्व विधायक योगेन्द्र कुमार गर्ग व बिसौली के तमाम प्रतिष्ठित लोग।

बदायूं जिले के कस्बा बिसौली में शनिवार को ऐतिहासिक बंद रहा। गुरूवार रात को तस्करों द्वारा गायों को मारने की घटना ने लोगों को झकझोर दिया है, साथ ही घायल गायों में तीन गायों ने और दम तोड़ दिया, जिससे ग्रामीण और अधिक दुखी हैं, वहीं बिसौली में शमशान भूमि पर अवैध कब्जे को लेकर शनिवार को तमाम लोग एसडीएम से मिले और कार्रवाई की मांग की।

उल्लेखनीय है कि गुरूवार की रात में बिसौली कोतवाली क्षेत्र के गाँव निजामुद्दीनपुर शाह में बेखौफ पशु तस्करों ने तेरह गायों को धारदार हथियारों के वार से बुरी तरह घायल कर दिया था। दरिंदे तस्करों ने टाँगें काट कर गायों को अपंग बना दिया था, जिससे एक घायल गाय ने तड़प-तड़प कर दम तोड़ दिया था। तस्कर नौ गायों को मार कर ले गये थे, इस घटना को लेकर शनिवार को बिसौली में ऐतिहासिक बंद रहा। बिसौली का बाजार पूरी तरह बंद रहा, जिससे लोग जरूरी चीजों के लिए भी तरस गये, वहीं बिसौली-बिल्सी-इस्लामनगर रोड पर सोत नदी के किनारे स्थित शमशान भूमि पर एक दबंग साधू और उसके समर्थकों ने तोड़-फोड़ ही नहीं की, बल्कि सौन्दर्यकरण को आई सामग्री को भी तहस-नहस कर दिया। इस घटना को लेकर भी नगर लोगों में आक्रोश दिखाई दिया। आक्रोशित लोगों ने साधू की अर्थी निकाल कर प्रदर्शन भी किया। आक्रोशित लोगों ने एसडीएम गुलाब चन्द्र को ज्ञापन देकर साधू की गिरफ्तारी की मांग की। शमशान भूमि के संरक्षक रामबाबू गुप्ता की तहरीर पर बाबा मोहनदास समेत ग्यारह लोगों के विरुद्ध पुलिस ने मुकदमा पंजीकृत कर लिया है। इस दौरान पूर्व सपा विधायक योगेन्द्र कुमार गर्ग “कुन्नू बाबू”, नगर पालिका अध्यक्ष अबरार अहमद, शमशान भूमि के संरक्षक रामबाबू गुप्ता, गौरव साहनी, भाजपा नगराध्यक्ष दुर्गेश वार्ष्णेय, घनश्याम दास गुप्ता, व्यापार मण्डल अध्यक्ष लक्ष्मी नारायण गुप्ता, अनुपम गुप्ता, संजय सक्सेना, ईशान्त सक्सेना, अनिल गुप्ता, हरीश गुप्ता, विनय गुप्ता, विनीत वार्ष्णेय, निशान्त गोयल, मनीष अग्रवाल, निर्लय साहनी आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

बिसौली का बंद बाजार।
बिसौली का बंद बाजार।

उधर शमशान भूमि पर तोड़-फोड़ और निजामुद्दीनपुर शाह में गायों पर हुए हमले की घटना की तहसील बार के वकीलों ने घोर निंदा करते हुए एसडीएम गुंलाब चन्द्र को ज्ञापन सौंपा, साथ ही तहसील बार के वकील न्यायिक कार्यों से पूरी तरह दूर रहे, वहीं शनिवार को घायल गायों में से तीन और गायों ने दम तोड़ दिया, जिससे ग्रामीण बेहद दुखी हैं। पुलिस दुर्दांत घटना को अंजाम देने वाले तस्करों को अभी तक नहीं पकड़ पाई है। एसडीएम गुलाब चंद्र और सीओ राजवीर सिंह ने निजामुद्दीनपुर शाह का शनिवार को भी दौरा किया और लोगों से शांति बनाये रखने की अपील की।

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

तस्करों ने हृदय विदारक घटना को दिया अंजाम, 28 गायें काटीं

Leave a Reply