तस्करों ने हृदय विदारक घटना को दिया अंजाम, 28 गायें काटीं

तस्करों ने हृदय विदारक घटना को दिया अंजाम, 28 गायें काटीं
ग्रामीणों की मदद से घायल गाय का उपचार करते डॉक्टर।
ग्रामीणों की मदद से घायल गाय का उपचार करते डॉक्टर।

बदायूं जिले के हालात सुधर नहीं पा रहे हैं। अपराधी और असामाजिक तत्व पूरी तरह हावी हैं और जब, जहां व जैसे चाह रहे हैं, वैसे आपराधिक घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। ताजा घटना बिसौली कोतवाली क्षेत्र के गाँव निजामुद्दीनपुर शाह की है, जहां अज्ञात तस्करों ने टांगें काट कर तेरह गायों को बुरी तरह घायल कर दिया, जिनमें एक गाय ने तड़प-तड़प कर दम तोड़ दिया। हृदय विदारक घटना को लेकर समूचे इलाके में आक्रोश व्याप्त है। गाँव निजामुद्दीनपुर शाह में कई थानों से फोर्स बुला कर तैनात कर दिया गया है, वहीं गायों को आईवीआरआई बरेली भेजने को लेकर ग्रामीण काफी देर तक अड़े रहे। ग्रामीणों की पुलिस से तीखी नोंक-झोंक भी हुई, पर पुलिस ने घायल गायों को गोशाला भेज दिया, जिससे गायों के उपचार को लेकर संशय बना हुआ है।

निजामुद्दीनपुर शाह में घायल गाय को देखते ग्रामीण व पुलिस कर्मी।
निजामुद्दीनपुर शाह में घायल गाय को देखते ग्रामीण व पुलिस कर्मी।

बिसौली कोतवाली क्षेत्र के गाँव निजामुद्दीनपुर शाह में बेखौफ पशु तस्करों ने तेरह गायों को रात किसी समय धारदार हथियारों के वार से बुरी तरह घायल कर दिया। दरिंदे तस्करों ने टाँगें काट कर गायों को अपंग बना दिया है, साथ ही एक घायल गाय ने तड़प-तड़प कर दम तोड़ दिया। घटना की जानकारी तब हुई, जब ग्रामीण शौच क्रिया को जंगल की ओर गये। दर्दनाक अंदाज़ में रंभा रही गायों के आसपास बहता खून देख कर ग्रामीणों का भी खून खौलने लगा, लेकिन सूचना पर फोर्स के साथ पहुंचे एसडीएम गुलाब चंद्र व सीओ राजवीर सिंह ने किसी तरह ग्रामीणों को शांत तो कर लिया, लेकिन मौके की स्थिति को देखते हुए थाना फैजगंज बेहटा, इस्लामनगर और वजीरगंज से बड़ी संख्या में फोर्स मंगा कर तैनात कर दिया।

प्रशासन व पुलिस अफसरों के निर्देश पर देर से पहुंची पशु चिकित्सा विभाग की टीम को ग्रामीणों ने काफी भला बुरा कहा। प्राथमिक उपचार के बाद घायल गायों को पुलिस गोशाला भेजने लगी, तो आईवीआरआई बरेली भेजने को लेकर ग्रामीणों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया। पुलिस से ग्रामीणों की नोंक-झोंक भी हुई और ग्रामीणों ने पुलिस को खदेड़ने की भी कोशिश की, लेकिन सीओ राजवीर सिंह ने ग्रामीणों को समझाते हुए गायों को गोशाला भेजने के लिए मना लिया, तो पुलिस ने गंभीर रूप से घायल गायों को नूरनगर कौढ़िया और बरेली जिले के रामनगर स्थित गोशाला भेज दिया।

निजामुद्दीनपुर शाह में लगी आक्रोशित ग्रामीणों की भीड़।
निजामुद्दीनपुर शाह में लगी आक्रोशित ग्रामीणों की भीड़।
निजामुद्दीन पुर शाह के जंगल में बैठी घायल गाय।
निजामुद्दीन पुर शाह के जंगल में बैठी घायल गाय।

गौरतलब है कि गाँव निजामुद्दीनपुर शाह में हुई दर्दनाक घटना गाँव की उत्तरी दिशा में हुई है, इस ओर बसे संग्रामपुर, जलालपुर, और लक्ष्मीपुर में गायों और बैलों को अवैध रूप से काटने की शिकायतें मिलती रही हैं। इन गाँवों में ही पशु तस्कर रहते हैं, जो पुलिस से मिल कर तस्करी के धंधे को अंजाम देते हैं। गुरुवार रात में अंजाम दी गई इस घटना में भी उन्हीं तस्करों के संलिप्त होने की आशंका जताई जा रही है। ग्रामीणों का कहना है कि गाँव में 28 गायें थीं, लेकिन घायल गायें 19 हैं, जिससे स्पष्ट है कि तस्कर 9 गायें काट कर ले गये। घायल गायों के पैरों के साथ गर्दन पर भी कटे के निशान हैं, जिससे यह भी स्पष्ट है कि तस्कर सभी गायों को मार कर ले जाने के इरादे से आये थे, इसीलिए टाँगें काट कर सभी को अपंग बना दिया, लेकिन दिन निकल आने के कारण सभी को नहीं ले जा पाए। घटना को लेकर शाहबर, दबथरा, मलखानपुर, रतनपुर, भमौरी, जलालपुर, सैंटाखेड़ा, अम्बियापुर और आसफपुर सहित आसपास के सभी गांवों में आक्रोश नज़र आ रहा है। ग्राम प्रधान कल्लू, महेश मौर्य, सोहनलाल और गिरजेश गुप्ता की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात तस्करों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कर लिया है। एसपी (ग्रामीण) विसर्जन सिंह यादव ने घटना स्थल का दौरा कर पुलिस को घटना का खुलासा करने के कड़े निर्देश दिए हैं। पोस्टमार्टम के बाद देर शाम को मृत गाय को दफना दिया गया, लेकिन पूरा गाँव शोक ग्रस्त है। यहाँ यह भी बता दें कि इस्लामनगर थाना क्षेत्र के कस्बा नूरपुर पिनौनी में भी ऐसी ही घटना को तस्कर अंजाम दे चुके हैं, जिसमें बड़ा बवाल हुआ था।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

नूरपुर पिनौनी क्षेत्र में पुलिस का तांडव, कई गिरफ्तार

अब दानपुर से गाय गायब, नर को गोली मारी, मौत, एफआईआर

Leave a Reply