दोहरे दलित हत्या कांड में दो को फांसी व दो को उम्र कैद

दोहरे दलित हत्या कांड में दो को फांसी व दो को उम्र कैद
न्यायालय से बाहर आते मुख्य अभियुक्त पातांजलि भारद्वाज।
न्यायालय से बाहर आते मुख्य अभियुक्त पातांजलि भारद्वाज।

बदायूं की जिला अदालत ने दोहरे दलित हत्या कांड में समाजवादी पार्टी के नेता व पूर्व ब्लॉक प्रमुख पातांजलि भारद्वाज और उनके भाई वशिष्ट भारद्वाज को आज फांसी की सजा सुनाई है, साथ ही उनके बेटे राहुल (मोनू) और वरुण (चीनू) को उम्र कैद की सजा सुनाते हुए प्रत्येक पर 6 लाख 60 हजार रूपये का अर्थ दंड भी डाला है, जिसमें 12-12 लाख रूपये मृतकों के आश्रितों को देने का अदालत ने आदेश दिया है। प्रकरण में फरार चल रहे पातांजलि के एक बेटे विकास को अभी सजा नहीं सुनाई गई है, साथ ही उसे भगोड़ा घोषित कर दिया गया है।

अलापुर थाना क्षेत्र के कस्बा म्याऊँ में 5 जनवरी 2005 को ब्लॉक मुख्यालय पर सहकारी समिति के चुनाव की प्रक्रिया के दौरान आरोपियों ने हमला बोल कर गाँव कोड़ा बुजुर्ग निवासी अरवेंद्र जाटव व अशोक जाटव को गोलियों से भून दिया था। अरवेंद्र की मौके पर मौत हो गई थी एवं अशोक ने बाद में उपचार के दौरान दम तोड़ा था, इस घटना की रिपोर्ट माधवराम की ओर से दर्ज कराई गई थी। बता दें कि पातांजलि और इसके परिवार की छवि दबंग ही नहीं, बल्कि अपराधी वाली है, साथ ही इस पर गंभीर धाराओं के कई मुकदमे पंजीकृत हैं।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

ऐतिहासिक निर्णय के दौरान न्यायालय परिसर में जुटी भीड़।
ऐतिहासिक निर्णय के दौरान न्यायालय परिसर में जुटी भीड़।

Leave a Reply