मेला ककोड़ा में पाॅलीथीन, जुआ, मदिरा व मांस पर रहेगा प्रतिबंध

मेला ककोड़ा में पाॅलीथीन, जुआ, मदिरा व मांस पर रहेगा प्रतिबंध
मेला ककोड़ा से संबंधित तैयारियों की समीक्षा करते जिलाधिकारी शंभूनाथ।
मेला ककोड़ा से संबंधित तैयारियों की समीक्षा करते जिलाधिकारी शंभूनाथ।
रूहेलखंड क्षेत्र में कुम्भ के नाम से प्रसिद्ध मेला ककोड़ा में पाॅलीथीन के प्रयोग पर पूर्णतया प्रतिबंध के साथ ही जुआ खेलने, मदिरा एवं मांस की बिक्री नहीं होने दी जाएगी। कुम्भ मेले की भांति सम्पूर्ण मेला परिसर में सीसीटीवी कैमरे लगाकर चप्पे-चप्पे पर नजर रखी जाएगी। 30 अक्टूबर को जिलाधिकारी शम्भू नाथ विधिवत पूजा-अर्चना कर मेले का शुभारम्भ करेंगे और जिला स्तरीय अधिकारियों की मेला स्थल पर बैठक लेकर मेले को गत वर्षों के सापेक्ष बेहतर बनाए जाने का प्रयास किया जाएगा।
गुरूवार को जिलाधिकारी शम्भू नाथ ने कलेक्ट्रेट स्थित सभाकक्ष में मेला ककोड़ा की तैयारियों की गहन समीक्षा की। इस वर्ष मेले में घुड़दौड़ नहीं कराई जाएगी, क्योंकि गिलेन्डर्स फारसी नामक बीमारी घोड़ों में पाई जा रही है, जो मानव जीवन को भी प्रभावित करती है, इसलिए घुड़दौड़ पर रोक का निर्णय लिया है। श्रद्धालुओं के लिए सुविधाजनक स्नान घाट बनाए जाएंगे और सुरक्षा की दृष्टि से गोता खोर, मोटर बोट की भी व्यवस्था कराई जाएगी। मेले में पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल, पीएसी एवं होमगार्ड के साथ ही एनसीसी तथा स्काउट गाइड का भी सहयोग लिया जाएगा। जिलाधिकारी ने मेले में साफ-सफाई, यातायात व्यवस्था, प्रकाश व्यवस्था, पेयजल व्यवस्था, चुस्त-दुरूस्त रखने के निर्देश दिए हैं।
मेले में श्रद्धालुओं के मनोरंजन की व्यवस्था हेतु बाहरी जनपदों से सांस्कृतिक दल, कठपुतली, नौटंकी, जादू, आदि की व्यवस्था भी रहेगी। जिलाधिकारी ने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वह अपने-अपने विभाग से संबंधित योजनाओं, विकास कार्यक्रमों की मेले में विकास प्रदर्शनी लगाने के लिए अभी से तैयारियां पूर्ण कर लें। जिलाधिकारी ने मेले में पर्याप्त चिकित्सकों महिला एवं पुरूष, औषधियों एवं एम्बोलेंस की व्यवस्था करने के निर्देश देते हुए मेले में दूध बिक्री कराने हेतु दुग्ध विकास निगम के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। जिलाधिकारी ने मेले में उचित दर पर मिट्टी के तेल वितरण व्यवस्था सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं। जिलाधिकारी ने बदायूं-ककोड़ा मार्ग पर गंगपुर स्थित टूटी पुलिया के निकट चौड़ा रास्ता बनाने एवं सम्पूर्ण मार्ग की मरम्मत कराने के निर्देश दिए हैं।
बैठक में कादरगंज का पुल बनने के कारण मेले में अधिक भीड़ आने की सम्भावना पर विचार करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि इस बार मेले में जनपद कासगंज की पटियाली तहसील के सीओ एवं उप जिलाधिकारी को भी 30 अक्टूबर को मेला स्थल पर आयोजित होने वाली बैठक में बुलाया जाए। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन अशोक कुमार श्रीवास्तव, एसपी सिटी मान सिंह चौहान, मुख्य चिकित्साधिकारी दिनेश कुमार सक्सेना, उप जिलाधिकारी सदर प्रदीप कुमार यादव, डीआरडीए के परियोजना निदेशक रामरक्षपाल, डा0 हरिपाल सिंह, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा0 डबल सिंह सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी एवं जिला पंचायत के अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे।

Leave a Reply