सीबीआई ने परिजनों को साक्ष्य देने से मना किया

सीबीआई ने परिजनों को साक्ष्य देने से मना किया
न्यायालय से बाहर निकलते सीबीआई के अधिवक्ता कुमार रजत व विवेचक डिप्टी एसपी विजय कुमार शुक्ल।
न्यायालय से बाहर निकलते सीबीआई के अधिवक्ता कुमार रजत व विवेचक डिप्टी एसपी विजय कुमार शुक्ल।

विश्व भर में चर्चित बदायूं के कटरा सआदतगंज कांड में पीड़ित पक्ष की मांग पर न्यायालय में सीबीआई ने क्लोजर रिपोर्ट से संबंधित साक्ष्य दाखिल नहीं किये। इस मुददे पर बहस के लिए न्यायालय ने 2 फरवरी का दिन निश्चित किया है।

उल्लेखनीय है कि बदायूं जिले में स्थित उसहैत थाना क्षेत्र के गाँव कटरा सआदतगंज में दो बहनों के साथ हुये यौन शोषण और उनकी हत्या के प्रकरण को सीबीआई ने आत्म हत्या करार दिया है। इस प्रकरण में न्यायालय में सुनवाई शुरू हो गई है। पिछली तारीख पर मृतकाओं के परिजनों ने सीबीआई द्वारा दाखिल की गई क्लोजर रिपोर्ट के साक्ष्य मांगे थे, तो सीबीआई के अधिवक्ता कुमार रजत और विवेचक डिप्टी एसपी विजय कुमार शुक्ल ने न्यायालय से समय मांग लिया था, लेकिन आज सीबीआई के अधिवक्ता कुमार रजत ने नियमों का हवाला देते हुए मना कर दिया कि परिजनों को साक्ष्य देने का प्रावधान नहीं है।

उधर मृतकाओं के परिजनों ने आज न्यायालय में ही सीबीआई पर गंभीर आरोप लगाये। परिजनों का कहना था कि सीबीआई टीम में एक सदस्य आरोपी का रिश्तेदार है, जिससे घटना की जांच सही से नहीं की गई, इस पर न्यायालय ने आश्वस्त किया कि अब उनके साथ न्याय होगा। अब सुनवाई की तिथि 2 फरवरी निश्चित की गई है।

सीबीआई द्वारा न्यायालय में दाखिल की गई क्लोजर रिपोर्ट पढ़ने के लिए एवं कटरा सआदतगंज प्रकरण से जुड़ी तस्वीरें देखने के लिए क्लिक करें लिंक।

सीबीआई की नजर में कटरा सआदतगंज कांड का सच कुछ और

बदायूं कांड के घटनाक्रम को एक बार फिर तस्वीरों में देखें

Leave a Reply