रिश्वतखोर कर्मचारी के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करने का आदेश

रिश्वतखोर कर्मचारी के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करने का आदेश
रिश्वत के रूपये लेकर गिनते हुए मास्टर पेपर नरेंद्र कुमार।
रिश्वत के रूपये लेकर गिनते हुए मास्टर पेपर नरेंद्र कुमार।

बदायूं जिले में स्थित सरकारी कार्यालयों की हालत दयनीय है। भ्रष्टाचार और लापरवाही चरम पर है। बिना रिश्वत के कोई काम नहीं होता, जिससे आम आदमी त्राहि-त्राहि कर रहा है। एक भ्रष्ट कर्मचारी का पीड़ित ने रिश्वत देते हुए वीडियो बना लिया। पीड़ित की शिकायत पर मुख्य विकास अधिकारी ने एसएसपी को मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है।

रिश्वतखोरी का यह मामला बदायूं जिले में स्थित जिला ग्रामोद्योग कार्यालय में घटित हुआ। विकास खंड बिसौली क्षेत्र के गाँव सिरतोला निवासी विनोद कुमार ने दुग्ध उत्पादन हेतु दस लाख के ऋण के लिए आवेदन किया था। संस्तुति सहित पत्रावली बैंक भेजने के नाम पर मास्टर पेपर के पद पर तैनात कर्मचारी नरेंद्र कुमार बीस हजार रूपये की रिश्वत की मांग करने लगा। आवेदक ने रिश्वत देने में असमर्थता जताई, तो पत्रावली बैंक के लिए नहीं भेजी गई, तो परेशान विनोद कुमार ने समझौता कर लिया और पन्द्रह हजार रूपये देने निश्चित हो गये।

रिश्वत के रूपये लेता मास्टर पेपर नरेंद्र कुमार।
रिश्वत के रूपये लेता मास्टर पेपर नरेंद्र कुमार।

आवेदक विनोद कुमार ने नरेंद्र कुमार को रूपये देते हुए साथी की मदद से मोबाइल द्वारा वीडियो बना लिया और मुख्य विकास अधिकारी उदय राज सिंह से शिकायत की। शिकायत को गंभीरता से लेते हुए मुख्य विकास अधिकारी ने एसएसपी को नरेंद्र कुमार के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करने का आदेश दिया है।

रिश्वत लेने का वीडियो देखने के लिए क्लिक करें लिंक

रिश्वत के रूपये लेता मास्टर पेपर नरेंद्र कुमार।

Leave a Reply