खाद की कालाबाजारी बर्दाश्त नहीं की जायेगी: आयुक्त

खाद की कालाबाजारी बर्दाश्त नहीं की जायेगी: आयुक्त
बदायूं स्थित विकास भवन के सभाकक्ष में अधिकारियों के साथ बैठक करते मण्डलायुक्त विपिन कुमार द्विवेदी।
बदायूं स्थित विकास भवन के सभाकक्ष में अधिकारियों के साथ बैठक करते मण्डलायुक्त विपिन कुमार द्विवेदी।
बरेली क्षेत्र के मण्डलायुक्त विपिन कुमार द्विवेदी ने कड़ा रूख अपनाते हुए कहा कि जनपद बदायूं में खाद की कालाबाजारी करने वालों के विरूद्ध 3/7 की कार्रवाई अमल में लाई जाए। उन्होंने समस्त उप जिलाधिकारियों, उप निदेशक कृषि प्रसार, जिला कृषि अधिकारी तथा सहायक निबंधक सहकारी समितियों को निर्देश दिए कि निरन्तर भ्रमण कर खाद की कालाबाजारी बन्द करायें।
शुक्रवार को आयुक्त ने बदायूं स्थित विकास भवन के सभाकक्ष में समस्त अधिकारियों की बैठक कर सर्वप्रथम प्रदेश में जनपद 12वें स्थान पर होने की बधाई दी। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को अपने सम्मुख तलब कर कहा कि निर्धारित मूल्य से अधिक दर पर खाद विक्रय कर कालाबाजारी करने वालों के साथ कोई रियायत न बरती जाए। अधिकारी लगातार छापामार कार्रवाई करें, पकड़े जाने पर उन्हें जेल भिजवाएं। आयुक्त ने कुपोषण मिटाओ अभियान के अन्तर्गत प्रभारी जिलाधिकारी/मुख्य विकास अधिकारी देवेन्द्र सिंह कुशवाहा को हिदायत दी कि सभी अधिकारियों को एक-एक गांव सौंपा जाए। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि मेहनत और लगन से कार्य कर जनपद को प्रदेश में टापटेन में शामिल कराएं। उन्होंने कहा कि अधिकारी ऐसी योजनाओं पर विशेष ध्यान दें, जिसमें गरीबों, किसानों को सीधे लाभान्वित किया जा सके।
आयुक्त ने आम आदमी बीमा योजनान्तर्गत भूमिहीन परिवारों के घायल अवस्था/दुर्घटना होने पर आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के उद्देश्य से उनकी खोजबीन हेतु पंचायत सचिवों, सिंचाई विभाग के नलकूप आपरेटरों, तकनीकी विभागों के एई, जेई को लगाने के निर्देश देते हुए कहा कि इस कार्य में ग्राम प्रधानों का भी सहयोग प्राप्त किया जाए। इस योजनान्तर्गत दुर्घटना होने पर 70 हजार तथा घायल होने पर 37500 रूपए दिए जाने का प्रावधान है।
आयुक्त ने श्रम विभाग द्वारा किए जा रहे मजदूरों के पंजीकरण के सम्बंध में निर्देश दिए कि जिन श्रमिकों का पंजीकरण हो चुका है, उनको विभिन्न 14 योजनाओं से लाभान्वित करने की कार्रवाई तेज की जाए। उन्होंने कहा कि मजदूरों के पंजीकरण में प्रदेश में जनपद ने प्रथम स्थान प्राप्त किया है।
आयुक्त ने जनपद में पशु पालकों के हितार्थ पांच हजार पशुओं का बीमा कराने का लक्ष्य निर्धारित करते हुए मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डाक्टर डबल सिंह को निर्देश दिए हैं कि शत-प्रतिशत लक्ष्य पूरा कर पशु पालकों को लाभान्वित किया जाए। आयुक्त ने आगामी खरीफ फसल में अधिक से अधिक किसानों का फसली बीमा कराने हेतु उप निदेशक कृषि प्रसार को निर्देश दिए हैं।
दुर्घटनाओं एवं अन्य दैवीय आपदा की घटनाओं में अत्यन्त गरीबों को त्वरित सहायता उपलब्ध कराने हेतु आयुक्त ने रेडक्रास को अधिक मजबूत करने के निर्देश देते हुए सभी अधिकारियों से अपील की कि वह इसमें अधिक से अधिक सहयोग करने का प्रयास करें, जिससे गरीबों की सहायता की जा सके।
आयुक्त ने किसानों के भुगतान पर विशेष बल देते हुए निर्देश दिए कि जिन किसानों पर गन्ना पर्ची हों, उन्ही के गन्ने की तौल कराई जाए। जिला गन्ना अधिकारी एवं समस्त उप जिलाधिकारी निरन्तर निरीक्षण कर व्यवस्था में सुधार लाएं।
जनपद को मिलेगी 1600 मीट्रिक टन अतिरिक्त खाद-जनपद में निर्धारित मात्रा में खाद न मिल पाने पर उप निदेशक कृषि प्रसार अमर नाथ मिश्रा ने आयुक्त से अनुरोध किया कि जनपद को 3200 एमटी खाद की आवश्यकता है, जिस पर आयुक्त ने कहा कि वह इफ्को के अधिकारियों से वार्ता कर 3200 एमटी न सही, लेकिन 1600 मीट्रिक टन यूरिया खाद उपलब्ध कराने का पूरा प्रयास करेंगे।
आयुक्त ने राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की धीमी प्रगति तथा मनरेगा योजनान्तर्गत महिलाओं की भागीदारी कम होने पर असंतोष व्यक्त करते हुए सुधार लाने की हिदायत दी है। उन्होंने सभी अधिकारियों से कहा है कि भ्रमण के दौरान संबंधित योजनान्तर्गत दिए जा रहे भोजन की गुणवत्ता तथा मात्रा को अवश्य चेक करें। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) अशोक कुमार श्रीवास्तव, अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) राजेन्द्र प्रसाद यादव, समस्त उप जिलाधिकारी, तहसीलदार एवं अन्य जिला स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित रहे।इससे पहले मंडलायुक्त निजी कार्य से कछला स्थित गंगा तट पर भी गये।

Leave a Reply