मुख्यमंत्री के निशाने पर आये वन विभाग के अधिकारी, निलंबित

मुख्यमंत्री के निशाने पर आये वन विभाग के अधिकारी, निलंबित
विधान भवन में आयोजित बैठक में विधान सभा अध्यक्ष माता प्रसाद, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव व विपक्षी दलों के नेता।
विधान भवन में आयोजित बैठक में विधान सभा अध्यक्ष माता प्रसाद, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव व विपक्षी दलों के नेता।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सलिल कुमार शुक्ला, सहायक वन संरक्षक, तत्कालीन वन क्षेत्राधिकारी, मोदी नगर रेंज गाजियाबाद को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर अनुशासनिक कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उक्त अधिकारी पर वन क्षेत्र में अतिक्रमण रोकने के लिए प्रभावी कार्यवाही न करने, अपने कर्तव्यों का निष्ठापूर्वक पालन न करने एवं उच्च अधिकारियों के आदेशों की अवहेलना के गम्भीर आरोप हैं।
सरकारी प्रवक्ता ने आज लखनऊ में यह जानकारी देते हुए बताया कि मुख्यमंत्री ने आरोपित अधिकारी के विरुद्ध 30 दिन में विभागीय जांच पूरी कर आख्या उपलब्ध कराए जाने के भी निर्देश दिए हैं।
मुख्यमंत्री ने अधिकारियों/कर्मचारियों को सचेत किया है कि कार्य में शिथिलता बरतने तथा उदासीनता दिखाने वालों को बख्शा नहीं जाएगा और उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी।
उधर उत्तर प्रदेश विधान सभा अध्यक्ष माता प्रसाद पाण्डेय ने 19 जून, 2014 से शुरु हो रहे विधान सभा सत्र के सुव्यवस्थित संचालन हेतु दलीय नेताओं से सहयोग का अनुरोध किया है। आज विधान भवन में आहूत एक बैठक में उन्होंने विभिन्न दलों के नेताओं से संसदीय परम्पराओं के अनुसार सदन को चलाने में सहयोग प्रदान करने की अपील की।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने विधान सभा अध्यक्ष को सत्तारूढ़ दल की ओर से सदन के पूर्ण संचालन में सहयोग प्रदान करने का भरोसा दिया। उन्होंने कहा कि बजट सत्र प्रदेश के विकास के लिए अत्यन्त महत्वपूर्ण होता है। बैठक में बहुजन समाज पार्टी के स्वामी प्रसाद मौर्य, कांग्रेस पार्टी के प्रदीप माथुर, राष्ट्रीय लोकदल के दलवीर सिंह एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री अम्बिका चौधरी भी उपस्थित थे।

Leave a Reply