समीक्षा में मुरादाबाद एवं बरेली मंडल के कई अफसर नपे

समीक्षा में मुरादाबाद एवं बरेली मंडल के कई अफसर नपे
  • विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था में लापरवाही बरतने पर एक दर्जन से अधिक अधिकारियों एवं कर्मचारियों के विरूद्ध विभागीय कार्यवाही निलम्बन एवं स्थानान्तरण करने के मुख्य सचिव के निर्देश

 

  • गोकशी की रोकथाम प्रत्येक दशा में सुनिश्चत हो, घटना घटित होने की दशा में सम्बन्धित थाना प्रभारियों की जिम्मेदारी नियत कर सख्त से सख्त कार्यवाही सुनिश्चत करायी जायः आलोक रंजन
मुरादाबाद में मुरादाबाद एवं बरेली मण्डल के विकास कार्याें एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा करते मुख्य सचिव आलोक रंजन।
मुरादाबाद में मुरादाबाद एवं बरेली मण्डल के विकास कार्याें एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा करते मुख्य सचिव आलोक रंजन।
उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव आलोक रंजन ने विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था में लापरवाही बरतने पर एक दर्जन से अधिक अधिकारियों एवं कर्मचारियों के विरूद्ध विभागीय कार्यवाही निलम्बन एवं स्थानान्तरण करने के निर्देश दिये है। उन्होंने कहा कि विकास कार्याें में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों को बख्शा नहीं जायेगा। उन्होंने कहा कि लम्बित वादों के निस्तारण में गति लाकर गरीब किसानों को नियमानुसार त्वरित न्याय प्रदान कराया जाये। उन्होंने मुरादाबाद के उद्यमियों को उद्योग में लाभान्वित एस.ई.जेड. को मल्टी प्रोडक्ट जोन घोषित किये जाने की जानकारी देते हुये कहा कि प्रदेश सरकार उद्यमियों की समस्याओं का समाधान एवं हर संभव सहायता उपलब्ध कराने हेतु सजग एवं प्रयत्नशील है। उन्होंने बताया कि उद्योगों के छोटे निर्यात के लिये लैण्ड बैंक बनाया जायेगा तथा हैण्डी क्राफ्ट हेतु नई नीति यथा-शीघ्र लायी जायेगी। उन्होंने कहा कि पर्यावरण सम्बन्धी अनापत्ति प्रमाण पत्र प्राप्त करने में उद्यमियों की समस्या के समाधान हेतु रीजनल स्तर का कार्यालय खोलने की कार्यवाही नियमानुसार सुनिश्चत कराई जाये। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य भवनों के अधूरे भवनों को यथा-शीघ्र पूर्ण करने हेतु मासिक रूप से बैठक कर रिव्यू सुनिश्चत कराया जाये। उन्होंने कहा कि चकबन्दी वादों के निस्तारण में भी गति लाई जाये। उन्होंने कहा कि तहसील एवं थानों में फरियादियों का सम्मान किया जायें तथा उनकी समस्या का निस्तारण नियमानुसार त्वरित गति से प्रत्येक दशा में सुनिश्चत कराया जाये। उन्होंने कहा कि ट्रांसफार्मर खराब होने की स्थिति पर 72 घंटे के भीतर ट्रांसफार्मर न बदलने पर सम्बन्धित अभियंता के विरूद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही हेतु संस्तुति की जाये।
मुख्य सचिव सोमवार को मुरादाबाद में मुरादाबाद एवं बरेली मण्डल के विकास कार्याें एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वरिष्ठ पुलिस अधिकारी छोटी-छोटी घटनाओं पर विशेष नजर रखकर त्वरित निस्तारण कराना सुनिश्चित करें, ताकि घटनायें उग्र रूप धारण न कर सकें। उन्होंने कहा कि दर्ज एफ.आई.आर पर विवेचना त्वरित गति से सुनिश्चत कराकर दुखी व्यक्ति को न्याय प्रदान कराया जाये। उन्होंने कहा कि विगत दो-तीन माह में कानून व्यवस्था में सुधार हुआ है, परन्तु और अधिक सुधार लाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि गोकशी की रोकथाम प्रत्येक दशा में सुनिश्चत होनी चाहिए यदि, किसी भी क्षेत्र में ऐसी घटना घटित होने की जानकारी प्राप्त हुई, तो सम्बन्धित थाना प्रभारियों की जिम्मेदारी नियत कर सख्त से सख्त कार्यवाही सुनिश्चत करायी जाये।
श्री रंजन ने विकास कार्याें एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा तथा उद्यमियों से वार्तालाप के पूर्व लोहिया ग्राम लक्ष्मीपुर कट्टई का स्वयं निरीक्षण कर लाभार्थियों से सीधा संवाद स्थापित किया। उन्होंने ग्राम लक्ष्मीपुर कट्टई के विकास कार्याें का स्थलीय निरीक्षण करने हेतु सम्बन्धित अधिकारियों के साथ लगभग 4 से 5 किलोमीटर पैदल चलकर गलियों का भ्रमण कर सड़कों, नालियों तथा अन्य विकास कार्याें की जानकारी प्राप्त की तथा जिला अस्पताल का निरीक्षण भी किया। उन्होंने बताया कि अन्य 6 प्रमुख सचिवों को विभिन्न अलग-अलग लोहिया ग्रामों का निरीक्षण करने हेतु भेजा गया था। उन्होंने बताया कि प्रमुख सचिवों से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार लोहिया ग्राम योजना में लापरवाही बरतने पर प्रभारी सहायक विकास अधिकारी, समाज कल्याण, मुरादाबाद जावेद तथा जिला समाज कल्याण अधिकारी, सम्भल पजनेश कुमार को तत्काल निलम्बित करने के निर्देश दिये गये है। उन्होंने बताया कि जिला अल्प संख्यक कल्याण अधिकारी, सम्भल जिज्ञासा श्रीवास्तव के विरूद्ध विभागीय कार्यवाही प्रारम्भ करने तथा निर्माण खण्ड, लोक निर्माण विभाग बरेली के अधिशासी अभियंता खुशमूद अली को प्रतिकूल प्रविष्टि तथा वृक्षों के कटान में अनियमितता बरतने के कारण जी.एस. खुशरिया, जिला प्रभागीय वन अधिकारी, अमरोहा के विरूद्ध विभागीय कार्यवाही प्रारम्भ करने के निर्देश दिये गये हैं। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के 02 चिकित्सकों को अपने कार्याें में लापरवाही बरतने के कारण जिला चिकित्सालय मुरादाबाद के कार्यवाहक प्रमुख अधीक्षक/वरिष्ठ परामर्शदाता डाॅ. विपिन कुमार गुप्ता तथा जिला चिकित्सालय बरेली के कार्यवाहक प्रमुख अधीक्षक डाॅ. आर.सी. डिमरी को स्थानान्तरण करने के निर्देश दिये गये हैं।
श्री रंजन ने बताया कि कानून व्यवस्था में लापरवाही बरतने पर मुरादाबाद परिक्षेत्र के अन्तर्गत उमेश कुमार को जनपद बिजनौर से बाहर स्थानान्तरण करने तथा सी.ओ. रामपुर रविशंकर प्रसाद को चेतावनी एवं एस.ओ. मझौला, एस.आई. राजेश कुमार को थाना पद से हटाने के निर्देश दिये गये है। उन्होंने बताया कि बरेली परिक्षेत्र के अन्तर्गत सी.ओ. तिलहर संजय कुमार को जनपद- शाहजहांपुर से बाहर एवं सी.ओ. बिसौली, जनपद- बदायूं राजवीर सिंह को चेतावनी तथा इंसपेक्टर सिधौली परवेज मिश्रा को जनपद शाहजहांपुर से बाहर हटाने के निर्देश दिये गये है।
मुख्य सचिव के साथ प्रमुख सचिव लोक निर्माण डाॅ. रजनीश दुबे, प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थय अरविन्द कुमार, प्रमुख सचिव लघु उद्योग महेश कुमार गुप्ता सचिव गृह कमल सक्सेना, पुलिस उप महानिदेशक कानून व्यवस्था एवं आयुक्त ग्राम्य विकास सहित अन्य विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों ने दोनों मण्डलों के अलग-अलग लोहिया ग्रामों के विकास कार्याें का स्थलीय निरीक्षण करने के उपरान्त समीक्षा बैठक में भाग लिया। बैठक में मण्डलायुक्त मुरादाबाद एवं बरेली सहित सम्बन्धित मण्डलों के जिलाधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply