देश और समाज को आज समाजवाद की ज़रूरत: मुख्यमंत्री

देश और समाज को आज समाजवाद की ज़रूरत: मुख्यमंत्री
 
लखनऊ स्थित विधान भवन के केन्द्रीय सभागार में पूर्व प्रधानमंत्री स्व0 चन्द्रशेखर की 7वीं पुण्यतिथि के अवसर पर विचार व्यक्त करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव।
लखनऊ स्थित विधान भवन के केन्द्रीय सभागार में पूर्व प्रधानमंत्री स्व0 चन्द्रशेखर की 7वीं पुण्यतिथि के अवसर पर विचार व्यक्त करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि देश और समाज को आज समाजवाद की ज़रूरत है। देश की वर्तमान समस्याओं का समाधान समाजवादी विचारधारा के माध्यम से ही सम्भव है। गरीबों के लिए समाजवादियों की लड़ाई को मजबूती प्रदान करने के लिए आज समाजवादी सिद्धान्तों को नई पीढ़ी तक पहुंचाने की आवश्यकता है। हम सबको मिलकर इस काम को करना होगा।
मुख्यमंत्री आज लखनऊ स्थित विधान भवन के केन्द्रीय सभागार में पूर्व प्रधानमंत्री स्व0 चन्द्रशेखर की 7वीं पुण्यतिथि पर उनपर आधारित पुस्तक ‘जननायक चन्द्रशेखर’ का विमोचन करने के पश्चात अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। पुस्तक का सम्पादन डाॅ0 जय शंकर शुक्ल द्वारा किया गया है।
श्री यादव ने कहा कि चन्द्रशेखर जी का व्यक्तित्व बेमिसाल था। देश की राजनीति, अर्थव्यवस्था, विदेश नीति सहित सभी मामलों में वे अपनी राय बड़े तार्किक ढंग से बेबाकी व निडरता के साथ रखते थे। लोक सभा में जब वे बोलते थे, तो पक्ष-विपक्ष के सभी लोग उनकी बात बड़े गौर से सुनते थे। उन्होंने कहा कि राजनीतिक इतिहास में स्व0 चन्द्रशेखर जी का अपना अलग स्थान है। अपने व्यक्तित्व, विचार शक्ति तथा संघर्ष के बल पर वे बलिया के सामान्य से गांव से निकल कर देश की सबसे महत्वपूर्ण कुर्सी तक पहुंचे।
समाजवादी आन्दोलन के प्रचार-प्रसार में स्व0 चन्द्रशेखर जी के योगदान का जिक्र करते हुए श्री यादव ने कहा कि समाजवादी सिद्धान्तों के प्रचार-प्रसार के लिए पूर्व प्रधानमंत्री के कार्याें को हमेशा याद किया जाएगा। कन्याकुमारी से लेकर दिल्ली तक अपनी पद यात्रा के माध्यम से स्व0 चन्द्रशेखर ने समाजवादी सिद्धान्तों एवं विचारों का व्यापक प्रचार-प्रसार किया। उस दौर में साधनों की कमी एवं अल्प सुविधाओं को देखते हुए इस बात की कल्पना करना भी मुश्किल है कि इसके लिए उन्हें कितनी मेहनत और संघर्ष करना पड़ा होगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादी सरकार ने समाजवादी नेताओं की स्मृति में डाॅ0 लोहिया पार्क व जनेश्वर मिश्र पार्क जैसे स्मारक बनवाए। उन्होंने विश्वास दिलाया कि लखनऊ में स्व0 चन्द्रशेखर सहित अन्य प्रमुख समाजवादी नेताओं की स्मृति में एक ऐसा स्मारक बनाया जाएगा जहां पर इन नेताओं से सम्बन्धित साहित्य, आडियो, वीडियो सहित अन्य सामाग्रियों का संकलन होगा। ताकि नई पीढ़ी समाजवादी नेताओं के संघर्षाें से परिचित होकर उनसे सीख एवं प्रेरणा ले सके।
विधान सभा अध्यक्ष माता प्रसाद पाण्डेय ने स्व0 चन्द्रशेखर को याद करते हुए कहा कि वे समाज के दबे-कुचले लोगों की आकांक्षाओं की पूर्ति करना चाहते थे। उनका जीवन बहुत संघर्षपूर्ण था, क्योंकि वे स्वभाव से ही विद्रोही थे व वर्तमान से संतुष्ट न होकर बेहतर भविष्य के लिए लगातार प्रयास करते रहते थे। उन्होंने प्रसन्नता जताई कि नेता जी मुलायम सिंह यादव, चन्द्रशेखर की विचारधारा के आधार पर ही आगे बढ़ रहे हैं।
बेसिक शिक्षा मंत्री राम गोविन्द चौधरी ने कहा कि देश-दुनिया की बारीक जानकारी व समाजवादी सिद्धान्तों के प्रति गहन समर्पण के कारण सभी समाजवादी चन्द्रशेखर की इज्जत करते थे। वर्तमान समय में स्व0 चन्द्रशेखर की बहुत जरूरत महसूस हो रही है। उन्होंने कहा कि यह हम सबका सौभाग्य है कि ऐसे समय में नेता जी मुलायम सिंह यादव का नेतृत्व हमें प्राप्त है। खाद्य एवं रसद मंत्री रघुराज प्रताप सिंह ‘राजा भैया’ ने कहा कि स्व0 चन्द्रशेखर में एक साथ दृढ़ता एवं सरलता का समावेश था। पर्यटन मंत्री ओम प्रकाश सिंह ने चन्द्रशेखर जी को याद करते हुए कहा कि उनमें सही को सही और गलत को गलत कहने का साहस था। वे आम आदमी के दुःख दर्द से जुड़े हुए थे। संसार से जाने के बाद भी वे अपने विचारों एवं सीखों के माध्यम से आज भी हमारे साथ हैं।
इस अवसर पर राजनैतिक पेंशन मंत्री राजेन्द्र चौधरी, स्टाम्प तथा न्यायालय शुल्क पंजीयन, नागरिक सुरक्षा मंत्री राजा महेन्द्र अरिदमन सिंह, ग्राम्य विकास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अरविन्द सिंह गोप, धमार्थ कार्य राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) विजय कुमार मिश्र, माध्यमिक शिक्षा राज्य मंत्री विनोद कुमार उर्फ पण्डित सिंह, बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री योगेश प्रताप सिंह ‘योगेश भइया’ सहित जनप्रतिनधिगण व शासन प्रशासन के अधिकारी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन विधान परिषद सदस्य यशवंत सिंह ने किया।

Leave a Reply