सीबीआई ने प्रभारी डीपीआरओ राजेश यादव से की पूछताछ

सीबीआई ने प्रभारी डीपीआरओ राजेश यादव से की पूछताछ
प्रभारी जिला पंचायत राज अधिकारी राजेश यादव
प्रभारी जिला पंचायत राज अधिकारी राजेश यादव

बदायूं जिले के सर्वाधिक चर्चित अफसरों में से एक प्रभारी जिला पंचायत राज अधिकारी राजेश यादव को अचानक आई सीबीआई टीम ने आज कार्यालय से उठा लिया। सीबीआई ने राजेश यादव से गोपनीय स्थान पर लंबी पूछताछ की है, जिससे उनके कार्यालय में हड़कंप मचा रहा।

उल्लेखनीय है कि हाईकोर्ट के निर्देश पर सीबीआई प्रदेश के कई जिलों में हुए मनरेगा घोटालों की जाँच कर रही है। बताया जाता है कि सोनभद्र जिले में भी बड़ा घोटाला हुआ है, जिसमें राजेश यादव की भूमिका प्रकाश में आई है। राजेश यादव सोनभद्र जिले में खंड विकास अधिकारी के पद पर तैनात रहे हैं। सूत्रों ने बताया कि दिल्ली से अचानक आई सीबीआई टीम आज विकास भवन स्थित जिला पंचायत राज अधिकारी के कार्यालय में पहुंची और राजेश यादव को साथ ले गई। सूत्र ने बताया कि सीबीआई ने राजेश यादव से अज्ञात स्थान पर काफी देर तक पूछताछ की। हालांकि इस खबर की पुष्टि करने को कोई तैयार नहीं है, लेकिन जिला पंचायत राज अधिकारी के कार्यालय में तैनात कर्मचारियों में हड़कंप मचा रहा।

बता दें कि राजेश यादव पर कई विकास खंडों में खंड विकास अधिकारी का कार्यभार है, साथ ही जिलाधिकारी ने उन्हें जिला पंचायत राज अधिकारी का भी कार्यभार दे रखा है, जबकि प्रदेश के चर्चित व हाईकोर्ट के संज्ञान में आ चुके घोटाले में राजेश यादव आरोपी हैं।

राजेश यादव ने डीपीआरओ कार्यालय को बनाया लूट का अड्डा

हाईकोर्ट व शासन के निर्देश के विपरीत राजेश ही बने डीपीआरओ

Leave a Reply