पुलिस ने तस्करों की कमर तोड़ी और कट्टरपंथी पुलिस से भिड़े

पुलिस ने तस्करों की कमर तोड़ी और कट्टरपंथी पुलिस से भिड़े
पुलिस चौकी नवादा के अंदर एसओ सिविल लाइन से हाथापाई करते एक हिंदूवादी संगठन के कार्यकर्ता।
पुलिस चौकी नवादा के अंदर एसओ सिविल लाइन से हाथापाई करते एक हिंदूवादी संगठन के कार्यकर्ता।

पुलिस अपराधियों की कमर तोड़ने का मन बना ले, तो पल भर में अपराधी त्राहि-त्राहि करने लगते हैं। पिछले चौबीस घंटों में पुलिस ने पशु तस्करों की रीढ़ की हड्डी तोड़ दी। हालाँकि कार्रवाई राजनैतिक दबाव में हुई है, लेकिन आम जनता पुलिस की सराहना कर रही है, वहीं पक्षपात के आरोप के चलते पुलिस से कुछ कट्टरपंथी युवकों से हाथापाई भी हो गई, जिससे देर शाम तक भाजपाई राजनीति चमकाते नजर आये।

बदायूं जिले में स्थित बिनावर थाना क्षेत्र के गाँव सेंमर मई में नखासा लगता है, जहां से गुरूवार की रात में तस्करों ने बड़े स्तर पर गौवंशीय जानवरों को गाड़ियों में भरा और मुरादाबाद की ओर भेज दिए, तभी पुलिस को मुखबिर ने सूचना दे दी, तो पुलिस ने रात में ही छापामार कार्रवाई शुरू कर दी। थाना सिविल लाइन, थाना वजीरगंज और कोतवाली बिसौली की पुलिस ने अपने-अपने क्षेत्रों में कुल 78 वाहनों में 223 बैल, सौ तस्कर पकड़े हैं, जिनसे एक लाख 45 हजार रूपये भी बरामद किये गये हैं। पुलिस की इस कार्रवाई से तस्करों में हड़कंप मच गया है।

उधर सिविल लाइन थाना क्षेत्र की चौकी नवादा पर आज सुबह कुछ हिंदूवादी संगठनों के कार्यकर्ता जमा हो गये। यहाँ पुलिस व प्रशासन के कुछ अफसर तस्करों से एकांत में बात कर रहे थे, जिससे हिंदूवादी संगठनों के कार्यकर्ता पुलिस पर पक्षपात का आरोप मढ़ने लगे, जिसको लेकर हिंदूवादी संगठनों के कार्यकर्ताओं से पुलिस की हाथापाई भी हो गई। इसके बाद भाजपाई आने लगे, जिनमें नगर पालिका परिषद के उपचुनाव में टिकट मांगने वालों की सक्रीयता चर्चा का विषय बनी रही। आंवला लोकसभा क्षेत्र के भाजपा सांसद धर्मेन्द्र कश्यप भी आ गये और उन्होंने भी पुलिस पर कई आरोप लगाये।

पुलिस की छापामार कार्रवाई की पृष्ठभूमि में बताया जाता है कि तस्करों का सरगना सत्ता पक्ष के एक बड़े नेता की शरण में पहुंच गया है, जिससे वो स्थानीय नेता को भाव नहीं दे रहा है। बताया जाता है कि स्थानीय नेता के दबाव में ही पुलिस ने कार्रवाई की है। कार्रवाई और घटना को लेकर शहर के साथ जिले भर में तरह-तरह की चर्चायें चल रही हैं, लेकिन पुलिस की कार्रवाई से आम जनता में खुशी की लहर है।

Leave a Reply