डीएम ने बैंक से फर्जी ऋण निकालने की जांच के आदेश दिये

डीएम ने बैंक से फर्जी ऋण निकालने की जांच के आदेश दिये
बदायूं स्थित विकास भवन में आयोजित किसान दिवस में बोलते जिलाधिकारी शंभूनाथ यादव।
बदायूं स्थित विकास भवन में आयोजित किसान दिवस में बोलते जिलाधिकारी शंभूनाथ यादव।

बदायूं जिले के किसानों की समस्याओं को नज़र अन्दाज करने वाले अधिकारियों के साथ सख्ती से पेश आया जाएगा, जो अधिकारी किसान दिवस में प्राप्त शिकायतों का समयवद्ध ढ़ंग से निस्तारण नहीं करेगा, उसके खिलाफ आवश्यकतानुसार कठोर कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

विकास भवन स्थित सभा कक्ष में बुधवार को आयोजित दूसरे किसान दिवस में जिलाधिकारी शम्भू नाथ ने शिकायतें/समस्याएं सुनने के बाद सम्बंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि आगामी किसान दिवस के आयोजन तक प्रत्येक दशा में सभी शिकायतों का निस्तारण हो जाना चाहिए। किसान दिवस में सबसे अधिक विद्युत एवं बैंक से सम्बंधित 28 शिकायतें प्राप्त हुईं। गत किसान दिवस की समीक्षा में जिलाधिकारी ने पाया कि पहला किसान दिवस होने के कारण मात्र 18 शिकायतें ही प्राप्त हुईं थीं, जिसमें 08 शिकायतों का निस्तारण सम्बंधित अधिकारियों द्वारा किया जा चुका है और अभी भी 08 शिकायतें विद्युत विभाग तथा एक- एक शिकायत जिला कृषि रक्षा अधिकारी एवं लीड बैंक मैनेजर के स्तर पर निस्तारण हेतु लंबित होने पर जिलाधिकारी ने कड़ा असंतोष व्यक्त करते हुए शीघ्र निस्तारण करने को कहा है। दातागंज तहसील क्षेत्र के ग्राम खेड़ा जलालपुर निवासी जय सिंह ने शिकायत की कि उसकी जमीन के कागजात लगाकर किसी व्यक्ति ने छह जुलाई, 2013 को यूनियन बैंक इंदिरा चौक बदायूं से नौ लाख पचास हजार रूपये का ऋण निकाल लिया है। जिलाधिकारी ने मामले की गम्भीरता को दृष्टिगत रखते हुए जांच कर कार्रवाई कराने के निर्देश दिए हैं। विकास भवन स्थित सभा कक्ष में किसान दिवस, खरीफ गोष्ठी तथा भू-जल सप्ताह जैसे ताबड़-तोड़ कार्यक्रम आयोजित किए गए। खरीफ गोष्ठी कृषि विभाग द्वारा आयोजित गोष्ठी में किसानों से सम्बंधित सभी विभागों के अधिकारियों ने गोष्ठी में प्रतिभाग किया। गोष्ठी में सभी अधिकारियों ने अपने-अपने विभाग से सम्बंधित जानकारी दीं। कृषि विज्ञान केन्द्र उझानी के डा0 एके चौबे ने किसानों को धान एवं बाजरा सहित अन्य खरीफ की खेती के सम्बंध में विस्तार से जानकारी देते हुए फसलों में लगने वाली बीमारियों के उपचार, उत्पादन बढ़ाने की वैज्ञानिक विधि सहित संतुलित मात्रा में उर्वरक प्रयोग करने के सम्बन्ध में बताया। भू-जल सप्ताह जनपद में लघु सिंचाई, भू-गर्भ जल विभाग खण्ड बरेली के तत्वाधान में 16 से 22 जुलाई के मध्य भू-जल सप्ताह मनाया जाएगा। भू-जल सप्ताह के तहत जन सहभागिता से दैनिक दिनचर्या में पानी की बर्बादी को रोकने,अंधा-धुंध भू-गर्भ जल दोहन को नियंत्रित करने के साथ ही बारिश के पानी का संरक्षण कर भू-जल स्रोतों को बचाने का संकल्प लिया गया। प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी प्रभाग समीर सक्सेना से वर्षा कम होने कारण जनपद में पेड़-पौधों की कमी बताते हुए अधिकाधिक वृक्षारोपण करने एवं उनकी सुरक्षा करने का आहवान किया। इस अवसर पर उप निदेशक कृषि प्रसार अनिल तिवारी सहित अन्य सम्बंधित अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply