एक गाँव नहीं, बल्कि हर गाँव आदर्श बनाना है: धर्मेन्द्र

एक गाँव नहीं, बल्कि हर गाँव आदर्श बनाना है: धर्मेन्द्र
उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते सांसद धर्मेन्द्र यादव।
उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते सांसद धर्मेन्द्र यादव।
शीत लहर की सर्द रातों में गरीबों की मजबूरियों को महसूस करते हुए कार्यक्रम आयोजित कर करीब ढ़ाई हजार गरीब महिला, पुरूषों को कंबल वितरित किए गए। सांसद धर्मेन्द्र यादव के हाथों से कंबल पाने वालों के चेहरे खिले नजर आये।
बदायूं के गांधी मैदान में शनिवार को आयोजित किये गये कंबल वितरण कार्यक्रम के युवा सांसद धर्मेन्द्र यादव मुख्य अतिथि रहे। सांसद धर्मेन्द्र यादव ने कहा कि प्रदेश सरकार गरीबों की कई योजनाओं के माध्यम से सेवा कर रही है। उन्होंने कहा कि न केवल कंबल वितरण, बल्कि समाजवादी पेंशन योजना, कृषि बीमा योजना, किसान दुर्घटना बीमा योजना, कर्ज माफी योजनाओं के माध्यम से पात्र लोगों को लाभान्वित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इससे पूर्व भी दूसरी विधान सभाओं में कैम्प के माध्यम से गरीबों को कंबल वितरण किए जा चुके हैं।
एक महिला को साइकिल प्रदान करते सांसद धर्मेन्द्र यादव।
एक महिला को साइकिल प्रदान करते सांसद धर्मेन्द्र यादव।
विधान परिषद सदस्य बनवारी सिंह यादव ने कहा कि प्रदेश सरकार ने गरीबों के दुख-दर्द में उनकी समस्याओं एवं मजबूरियों को ध्यान में रखते हुए कंबल वितरण किए जाने का निर्णय लिया है। शहर विधायक आबिद रज़ा ने कहा कि कंबल देकर किसी गरीब की मदद नहीं की जा रही है, बल्कि यह कंबल एक तोहफे के स्वरूप भेंट किए जा रहे हैं, इससे गरीबों की पूरी ठंड की तो व्यवस्था नहीं हो सकती, लेकिन कुछ राहत अवश्य मिलेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने बेरोजगारों, छात्रों, गरीबों, मजदूरों, बेसहारा लोगों के लिए तमाम योजनाएं संचालित की हैं। उन्होंने कहा कि विभिन्न क्षेत्रों में ज्यों-ज्यों व्यक्ति का अनुभव बढ़ता जाता है, उसी आधार पर उसकी फीस भी बढ़ जाती है, लेकिन रिक्शा चालक एक ऐसा गरीब मजदूर है, जिसकी आयु बढ़ने से उसकी आय समाप्त हो जाती है, इसलिए प्रदेश सरकार ने उन्हें आटो रिक्शा दिए जाने का निर्णय लिया है, जनपद में शीघ्र ही 600 आटो रिक्शा पात्र लोगों को दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि 25 करोड़ की लागत से आवासहीनों को आवास भी उपलब्ध कराए जाएंगे। सहसवान के विधायक ओमकार सिंह यादव, सुरेश पाल सिंह चौहान, हर प्रसाद सिंह पटेल, नरेश प्रताप सिंह ने अपने विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर बिसौली के विधायक आशुतोष मौर्या, प्रदीप यादव उर्फ गुड्डू, अवधेश कुमार यादव, बलवीर सिंह यादव, जिलाधिकारी शम्भू नाथ, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व राजेन्द्र प्रसाद यादव, अपर जिलाधिकारी प्रशासन अशोक कुमार श्रीवास्तव, उप जिलाधिकारी सदर प्रदीप कुमार यादव, जिला ग्राम्य विकास अभिकरण के परियोजना निदेशक रामरक्ष पाल सहित अन्य अधिकारीगण एवं गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।
मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड के पंजीकृत 710 श्रमिकों को साइकिल सहायता योजना के तहत बदायूं के लोकप्रिय सांसद धर्मेन्द्र यादव ने साइकिलों का भी वितरण किया। शनिवार को पुलिस लाइन प्रांगण में आयोजित साइकिल वितरण समारोह में 702 पंजीकृत पुरूष श्रमिकों एवं आठ पंजीकृत महिला श्रमिकों को साइकिलों का वितरण किया गया। वर्ष में 90 दिनों तक कार्य करने वाले 18 से 60 वर्ष की आयु वर्ग के श्रमिक व मनरेगा के तहत 50 दिनों तक मजदूरी का कार्य करने वाले श्रमिक 50 रूपए शुल्क देकर पंजीकरण करा सकते है, जिसके छह माह बाद श्रमिक साइकिल सहायता योजना का लाभ ले सकते हैं।
गांधी ग्राउंड में एक महिला को कंबल देते सांसद धर्मेन्द्र यादव।
गांधी ग्राउंड में एक महिला को कंबल देते सांसद धर्मेन्द्र यादव।
समारोह में सांसद धर्मेन्द्र यादव ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि जनपद में इस योजना के तहत एक हजार से अधिक साइकिलों का वितरण किया जा चुका है। गरीब मजदूरों को दूर-दराज से रोजी-रोटी की तलाश में पैदल चलना पड़ता था या धन व्यय करके कार्य स्थल तक पहुंचते थे। साइकिल मिलने से धन और समय दोनों की बचत होगी और इससे उनके जीवन में खुशहाली आएगी। उन्होंने कहा कि वह न सिर्फ जरीफनगर को विकसित करेंगे, बल्कि उनका प्रयास रहेगा कि जनपद का प्रत्येक गांव आदर्श गांव बने और सरकार द्वारा संचालित सभी योजनाओं का लाभ जनता को मिले।
विधान परिषद सदस्य बनवारी सिंह यादव ने कहा कि यह बड़ी खुशी का अवसर है कि मेहनत मजदूरी करने वालों ने कड़ाके की ठंड की परवाह न करते हुए वह दूर-दराज के गांव से यहां पहुंचे, ऐसे सभी मजदूर साइकिल पाने से अपनी आय और बचत में भी बढ़ोत्तरी कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि सांसद के प्रयासों से यह कार्यक्रम आयोजित किया गया हैै। शहर विधायक आबिद रजा ने कहा कि साइकिल चलाने में पेट्रोल, डीजल भी खर्च नहीं होता है और स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है। उन्होंने कहा कि कोई भी कार्य जब तक पूरा नहीं होता, तब तक उसमें गरीब मजदूरों का पसीना नहीं लगा हो, इसलिए प्रदेश सरकार ने मेहनत करने वालों की चिन्ता करते हुए उनके लिए विभिन्न प्रकार की योजनाओं से लाभान्वित करने हेतु श्रम विभाग में पंजीकरण कराए जा रहे हैं। अन्त में जिलाधिकारी शम्भू नाथ ने आभार व्यक्त करते हुए कहा कि जनप्रतिनिधियों की प्रेरणा एवं सहयोग से ही सरकारी योजनाओं को पात्र लोगों तक पहुंचाने में हमेशा विशेष सहयोग प्राप्त होता रहा है, इसके लिए वह सभी के आभारी हैं। बरेली मण्डल के उप श्रमायुक्त राजेश कुमार ने संचालित विभिन्न योजनाओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि जनपद में 40 हजार मजदूरों का पंजीकरण हो चुका है, जिसमें गत तीन माह में 28 हजार मजदूरों का पंजीकरण किया गया है। चालीस प्रकार से अधिक विभिन्न कार्यों को करने वाले मजदूर अपना पंजीकरण करा सकते हैं। पंजीकृत मजदूरों को सौर ऊर्जा लाइटों का वितरण भी कराया जाएगा। इस अवसर पर बिसौली के विधायक आशुतोष मौर्या, सहसवान के विधायक ओमकार सिंह, प्रदीप यादव उर्फ गुड्डू, सुरेश पाल सिंह चौहान, हरप्रसाद सिंह पटेल, विमल कृष्ण अग्रवाल, योगेन्द्र कुमार उर्फ कुन्नू बाबू, अवधेश कुमार यादव, बलवीर सिंह यादव, ज्वाला प्रसाद, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह, मुख्य विकास अधिकारी देवेन्द्र सिंह कुशवाहा अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व राजेन्द्र प्रसाद यादव, अपर जिलाधिकारी प्रशासन अशोक कुमार श्रीवास्तव, जिला पंचायत राज अधिकारी राजेश यादव, पीडी (डीआरडीए) रामरक्ष पाल सिंह सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन आजीविका मिशन के उपायुक्त आरपी सिंह ने किया।
गांधी ग्राउंड में मौजूद महिलायें।
गांधी ग्राउंड में मौजूद महिलायें।

Leave a Reply