ख़ास यादव के मुकाबले असहाय है आम यादव

ख़ास यादव के मुकाबले असहाय है आम यादव
पीड़ित हमेश पाल यादव
पीड़ित हमेश पाल यादव

यादवों में भी अब एक आम यादव होने लगे हैं और एक खास यादव। आम यादव गैर यादव से भिड़ जाए, तो आम यादव ही भारी पड़ता है, पर झगड़ा आम यादव और ख़ास यादव के बीच हो, तो आम यादव असहाय ही साबित होता है। ऐसी ही एक घटना जनपद बदायूं के थाना बिल्सी क्षेत्र में स्थित गाँव बैन की है। ख़ास यादव ने परिवार सहित घर पर धावा बोलते हुए आम यादव को बेरहमी से पीट दिया। आम यादव की पसली टूट गई, लेकिन उसकी गुहार सुनने तक को कोई तैयार नहीं है।

पीड़ित हमेश पाल यादव का आरोप है कि 10 फरवरी को उसके घर पर लाठी-डंडों और हथियारों से लैस लगभग एक दर्जन परिजनों के साथ समाजवादी पार्टी यूथ बिग्रेड के जिलाध्यक्ष व ग्राम प्रधान सर्वेश यादव ने धावा बोल दिया और उसके परिवार के सभी सदस्यों को बेरहमी से पीटा, साथ ही जिन्दा जलाने के इरादे से घर में आग लगा दी। घटना के बाद वह थाना बिल्सी पुलिस के पास तहरीर लेकर गया, तो रिपोर्ट दर्ज करना तो दूर, पुलिस ने घटना की जांच तक नहीं की। अगले दिन उसने जिले के बड़े अधिकारियों से कार्रवाई कराने की गुहार लगाई, तो उसकी अधिकारियों ने भी नहीं सुनी, जबकि उसकी पसली भी टूट गई है। पीड़ित ने परेशान होकर न्यायालय का सहारा लिया है। पीड़ित के प्रार्थना पत्र पर सीजीएम ने पुलिस से जांच कर रिपोर्ट तलब की है।

Leave a Reply