हर अमेरिकी का एयरपोर्ट पर ही हो एचआईवी टेस्ट: उमा

हर अमेरिकी का एयरपोर्ट पर ही हो एचआईवी टेस्ट: उमा
भाजपा नेत्री उमा भारती
भाजपा नेत्री उमा भारती

                किरन कांत

हिंदुस्तान आने वाले प्रत्येक अमेरिकी का एयरपोर्ट पर ही एचआईवी टेस्ट होना चाहिए। उक्त विचार भाजपा नेत्री उमा भारती ने उत्तराखंड के हरिद्वार में व्यक्त किये।

उन्होंने उत्तर प्रदेश के कुछ विधायकों के विदेशी दौरे पर जाने को लेकर कहा कि सरकारी पैसों से मौज-मस्ती करना लोकतंत्र का दुरूपयोग है, इसके साथ ही उमा भारती ने यूपी के अफसर के साइबेरिया वाले बयान पर चुनौती देते हुए कहा कि वो मुजफ्फरनगर के राहत कैंपों में केवल दो दिन रहकर दिखायें।

उमा भारती ने कहा कि आम आदमी पार्टी से भाजपा को किसी तरह का खतरा नहीं है। आप कांग्रेस के लिए खतरे की घंटी है और आप ही कॉंग्रेस की पूर्णाहुति करेगी। उन्होंने कहा कि आम चुनाव में भाजपा को 250 से ज्यादा सीटें मिलेंगी और नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री बनेंगें।

उन्होंने अरविन्द केजरीवाल की तारीफ भी की और कहा कि वे उन्हें अच्छी नजर से देखती हैं और चाहती हैं कि उन्होंने जो बातें और वादे किये थे, उन्हें पूरा करें। उन्होंने कहा कि केजरीवाल नेक नीयत के व्यक्ति हैं और उन्हें सफलता मिलनी चाहिए।

उमा भारती ने केजरीवाल के सुरक्षा ना लिए जाने के सवाल पर कहा कि अभी वो केवल दिल्ली में है, उन्हें राष्ट्रीय परिदृश्य का अनुभव नहीं है, जहाँ उनका सामना आंतकवाद, नक्लवाद और माओवाद जैसी शक्तियों के साथ हुआ हो। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी अपना राष्ट्रीय दृष्टिकोण सामने रखे, जिनमें ये सभी मुद्दे हों, तब उन्हें पता चलेगा कि सुरक्षा कितनी जरूरी है।  देवयानी प्रकरण पर उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान आने वाले अमेरिकी नागरिकों और अफसरों की एचआईवी जांच होना चाहिए।

इससे पहले स्वामी विवेकानंद की 151वीं जयंती के मौके पर हरिद्वार में बोलते हुए भाजपा नेत्री उमा भारती ने कहा कि हरिद्वार की प्रसिद्ध समाजसेवी संस्था दिव्य प्रेम सेवा मिशन विवेकानंद जी के आदर्शों को जन-जन तक पहुंचाने में सबसे अच्छा काम कर रही है। उन्होंने विवेकानंद के जीवन पर विस्तार से प्रकाश डाला।

समारोह में पंतजलि विश्वविद्यालय के कुलपति आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि आज हम अपनी संसकृति से विमुक्त होते जा रहे हैं, इसी वजह से समाज संवेदनशून्य होता जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद जी के सेवाभाव के दर्शन से युवाओं को अवगत कराने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि सेवा के द्वारा संवेदनाओं को जागृत कर हम अपनी संस्कृति की रक्षा कर सकते हैं।

एक्सक्लूसिव लेख पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

उमा भारती की शादी में बाधा था काला रंग

Leave a Reply