हरीश रावत हो सकते हैं उत्तराखंड के अगले मुख्यमंत्री

हरीश रावत हो सकते हैं उत्तराखंड के अगले मुख्यमंत्री
वर्तमान विजय बहुगुणा
वर्तमान मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा

उत्तर प्रदेश से उत्तराखंड को अलग करने को लेकर हुआ आंदोलन किसी जंग से कम नहीं था। आंदोलनकारियों को बड़ी आशायें थीं, तभी बच्चे, बूढ़े और महिलाओं ने आंदोलन में बढ़-चढ़ कर भाग ही नहीं लिया, बल्कि तन-मन और धन से बलिदान दिया। तमाम बलिदानियों के खून से उत्तराखंड की नींव रखी गई, लेकिन उन बलिदानियों का शौर्य, साहस और संघर्ष आज बेकार नज़र आ रहा है। राजनैतिक दृष्टि से उत्तराखंड एक विफल राज्य की श्रेणी में शामिल नज़र आ रहा है। भ्रष्टाचार, अनियमितता और राजनेताओं के निजी स्वार्थ इस कदर हावी हो गये हैं कि 13 साल के उत्तराखंड में 7 मुख्यमंत्री बन चुके हैं और आठवें की ताजपोशी की सरगर्मियां चल रही हैं। उत्तराखंड में भाजपा और कांग्रेस ही प्रभावशाली हैं और दोनों ही दलों के नेताओं ने उत्तराखंड की रीढ़ की हड्डी तोड़ने का काम किया है।

पिछले विधान सभा चुनाव में कांग्रेस की ओर से हरीश रावत ही मुख्यमंत्री पद के दावेदार थे और उन्हीं को ध्यान में रख कर जनता ने कांग्रेस के पक्ष में मतदान किया था, लेकिन गांधी परिवार से नजदीकियों का लाभ उठा कर विजय बहुगुणा मुख्यमंत्री की कुर्सी पर आसीन हो गये। विजय बहुगुणा के मुख्यमंत्री बनने के बाद से तो उत्तराखंड पर मुसीबतों का पहाड़ सा ही टूट पड़ा है। हालांकि कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व ने हरीश रावत को केन्द्रीय मंत्रिमंडल में स्थान देकर विजय बहुगुणा को राजनैतिक स्थितरता देने का भरपूर प्रयास किया है, पर समाज सेवा में शून्य अनुभव वाले विजय बहुगुणा राजनीति की पिच पर जम ही नहीं पा रहे। वह राजनैतिक और प्रशासनिक दृष्टि से पूरी तरह विफल साबित हुए हैं, साथ ही जनता हाहाकार कर रही है। आपदा के दौरान उनकी भूमिका और भी खराब रही और बाद में भी पीड़ितों के पास मदद तक पहुंचाने में सफल नहीं हुए, इतना ही नहीं मदद के नाम पर भी घोटाले की सुगबुगाहट चल रही है। इसके अलावा उत्तराखंड जैसे शांत राज्य में अपराध बड़ी संख्या में लगातार बढ़ रहे हैं। उधर कांग्रेस के बड़े दुश्मन रामदेव पर भी अंकुश नहीं लगा पा रहे हैं, इसलिए विजय बहुगुणा का हटना तय माना जा रहा है। यह माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री की कुर्सी के असली हकदार हरीश रावत की शीघ्र ही ताजपोशी हो सकती है।

मुख्यमंत्री पद के दावेदार हरीश रावत
मुख्यमंत्री पद के दावेदार हरीश रावत

मुख्यमंत्री के पद को लेकर चर्चाओं में एक-दो नाम और भी हैं, पर सूत्र बाकी नामों को लेकर अफवाहें ही बता रहे हैं, क्योंकि हरीश रावत उत्तराखंड में सर्वाधिक लोकप्रिय कांग्रेसी नेता हैं एवं शीर्ष नेतृत्व से उनके संबंध भी मधुर हैं और इस सबके साथ उनका अपना स्वभाव गंभीर है, जिससे उनका मुख्यमंत्री बनना निश्चित माना जा रहा है। अंदर की खबरें यह हैं कि मुख्यमंत्री नहीं बदला, तो लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को भारी नुकसान हो सकता है, इसलिए कांग्रेस नेतृत्व की मुख्यमंत्री बदलने की मजबूरी भी बताई जा रही है, पर अभी तक खुल कर कोई कुछ कहने को तैयार नहीं है।

Leave a Reply