हम पर अपने फैसले मत थोपिए, हम अपने संस्कार जानतीं हैं

हम पर अपने फैसले मत थोपिए, हम अपने संस्कार जानतीं हैं

बागपत में हुई एक पंचायत में लड़कियों के बाजार जाने, उनके मोबाइल के इस्तेमाल करने पर प्रतिबंध लगाने और घर के बाहर सिर ढंककर चलने का फरमान जारी कर दिया। ईंट का जवाब पत्थर से देते हुए मंसूरपुर थानातर्गत दूधाहेड़ी गाव में लड़कियों ने पंचायत कर आजीवन जींस न पहनने, नाखून न बढ़ाने और कक्षा 12 तक मोबाइल फोन का प्रयोग न करने की शपथ ली। स्वेच्छा से ली गयी इस शपथ के माध्यम से एक प्रकार उन्होने संदेश दिया कि हम पर फैसले थोपने की आवश्यकता नहीं है, हम अपनी परम्पराएँ और संस्कार पहचानती हैं।  लड़कियों की पंचायत भारतीय किसान यूनियन महिला विंग की मंडल अध्यक्ष सोहनवीरी के आवास पर हुई। जिसमें दूधाहेड़ी, मंसूरपुर व मोहकपुर आदि गावों की लड़कियां शामिल हुईं। ये सभी लड़कियां उच्च शिक्षा प्राप्त कर रही हैं। प्रथम वर्ष की छात्रा दीप्ति राणा ने कहा कि पंचायतों को उनके ऊपर किसी तरह के फरमान थोपने की जरूरत नहीं है। बीए प्रथम वर्ष की छात्रा निशी ने कहा, लड़किया नाखून बढ़ाने व बाल कटाने से भी परहेज रखें। बीएड की छात्रा कुमुद व बीए की सोनिया ने कहा, जींस खराब पहनावा है क्योंकि इसके साथ दुपट्टे का चलन नहीं है। मोबाइल रखना भी ठीक नहीं। पंचायत में फैसला लिया गया कि मोबाइल का प्रयोग तभी किया जाएगा जब लड़की शिक्षा के लिए घर से दूर रहेगी ताकि परिवार से संपर्क बना रहे। दूसरे गांवों में भी इस प्रकार की पंचायत करके लड़कियों को जागरूक किया जाएगा। अगली पंचायत नौवा गाँव में होगी। भाकियू नेत्री सोहनवीरी ने इन फैसलों के लिए लड़कियों का धन्यवाद दिया।

Leave a Reply