हड़ताल से राजस्व हानि का समाचार असत्य एवं भ्रामक

हड़ताल से राजस्व हानि का समाचार असत्य एवं भ्रामक
हड़ताल के दौरान बदायूं में कर्मचारियों को संबोधित करता कर्मचारी नेता
हड़ताल के दौरान बदायूं में कर्मचारियों को संबोधित करता कर्मचारी नेता
कर्मचारियों की हड़ताल के चलते हर विभाग में कार्य प्रभावित हो रहा है, लेकिन सरकार हड़ताल को एक गुट की हड़ताल बता कर फ्लॉप करार दे रही है। प्रवक्ता का कहना है कि ‘कर्मचारियों के एक वर्ग की हड़ताल के कारण राज्य सरकार को हो रहा है अरबों रुपये का नुकसान’ विषयक कतिपय समाचार पत्रों में प्रकाशित समाचार पूरी तरह असत्य एवं भ्रामक है।
राज्य सरकार के प्रवक्ता ने आज बताया कि प्रदेश सरकार की आय का मुख्य स्रोत वाणिज्य कर, स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन तथा आबकारी विभाग से प्राप्त होने वाली आय है। इन विभागों को विभिन्न करों तथा शुल्कों से प्राप्त होने वाली आय में कोई कमी नहीं हुई है। उन्होंने बताया कि वाणिज्यकर विभाग की आय की प्राप्ति बैंक एवं ई-पेमेंट के माध्यम से होती है, जिस पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है।
प्रवक्ता ने आगे बताया कि स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन विभाग की आय का स्रोत अचल सम्पत्ति की रजिस्ट्री है। यह रजिस्ट्री अनिवार्य रूप से प्रदेश के अन्दर ही सम्पादित होती है। उन्होंने कहा कि कतिपय जनपदों को छोड़कर प्रायः सभी जनपदों में आय पर कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़ा है। ऐसी स्थिति में स्पष्ट है कि कर्मचारी वर्गों की हड़ताल से राज्य सरकार को राजस्व सम्बन्धी कोई क्षति नहीं हुई है।

Leave a Reply