सांसद धर्मेन्द्र यादव का जमीनी स्तर पर कद बड़ा

सांसद धर्मेन्द्र यादव का जमीनी स्तर पर कद बड़ा
पंडाल लगी हाई-फाई स्क्रीन
पंडाल में लगी हाई-फाई स्क्रीन

 

इतिहास के पन्नों में कल का दिन दर्ज हो जायेगा और इस ऐतिहासिक दिन के साथ युवा सांसद धर्मेन्द्र यादव का नाम भी सदा के लिए स्वर्ण अक्षरों में लिख जायेगा। 20 दिसंबर का दिन बदायूं जिले के हर ख़ास और आम के लिए बेहद अहम इसलिए है कि यहाँ की संपदा और लोगों की भावनाओं का अंग्रेजों से लेकर मुगल शासकों तक ने सदैव दुरूपयोग ही किया है। यहाँ के लोगों को बदले में सांत्वना के अलावा कभी कुछ नहीं मिला, ऐसे में मेडिकल कॉलेज यहाँ के लोगों के लिए अब तक का सब से बड़ा तोहफा कहा जायेगा।

प्रस्तावित मेडिकल कॉलेज स्थल पर लगा हाई-फाई पंडाल
प्रस्तावित मेडिकल कॉलेज स्थल पर लगा हाई-फाई पंडाल
मंच के पीछे लगी विशाल स्क्रीन
मंच के पीछे लगी विशाल स्क्रीन

बदायूं लोकसभा क्षेत्र का कई बड़े राष्ट्रीय स्तर के नेताओं ने प्रतिनिधित्व किया है, उन लोगों ने विकास कराने की जगह उल्टा जनता पर यह कह कर एक और अहसान थोपा कि उनकी वजह से बदायूं क्षेत्र को राष्ट्रीय स्तर पर जाना जाता है, यह बहुत बड़ी बात है और इस पर गौरवान्वित महसूस करने वाली जनता विकास के प्रति पूरी तरह उदासीन लोगों को बार-बार चुनती रही। हाल-फिलहाल की बात करें, तो सलीम इक़बाल शेरवानी लगातार पांच बार सांसद रहे और इस बीच विदेश राज्यमंत्री और स्वास्थ राज्यमंत्री भी रहे, लेकिन जिला अस्पताल में भी कुछ ऐसा नहीं करा पाये, जिसका लाभ स्थानीय जनता ले पाती, ऐसे माहौल में धर्मेन्द्र यादव मैनपुरी छोड़ कर यहाँ चुनाव लड़ने आये, तो लोगों ने उन्हें हाथों-हाथ लिया। उनके जीतने के बाद लोगों के मन में विकास की आस फिर जाग उठी और लोगों की उस आस पर सांसद धर्मेन्द्र यादव खरे उतरते नज़र आ रहे हैं। कल दोपहर डेढ़ बजे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मेडिकल कॉलेज की आधारशिला रखेंगे।

हाई-फाई साउंड सिस्टम
हाई-फाई साउंड सिस्टम

बदायूं शहर से आगरा-दिल्ली की ओर जाने वाले राष्ट्रीय मार्ग के किनारे करीब छः किमी दूर प्रस्तावित मेडिकल कॉलेज के स्थान पर विकास रैली का भी आयोजन किया जायेगा। यह रैली भी खुद में ऐतिहासिक ही होगी, क्योंकि यहाँ फायर प्रूफ और वाटर प्रूफ ऐसा पंडाल लगाया गया है, जो उत्तर प्रदेश का अपनी तरह का पहला पंडाल होगा, साथ ही इस विशाल पंडाल में लोगों के बैठने की बेहतरीन व्यवस्था की गई है। मंच दूर पड़ने पर दिखने में कोई समस्या न हो, इसके लिए जगह-जगह 10×10 फुट साइज की स्क्रीन लगाई गईं हैं, इसके अलावा मंच के पीछे भी 13.50×20 फिट साइज की विशाल स्क्रीन रहेगी, जिसमें सब कुछ दूर से भी स्पष्ट दिखाई देगा। साउंड की और भी बेहतरीन व्यवस्था है। पूरा थ्री डी सिस्टम मुंबई की एक कंपनी ने लगाया है, जो एक-एक शब्द कान तक स्पष्ट पहुंचाने में मदद करेगा। मुख्यमंत्री और शिलान्यास के साथ रैली स्थल की एक-एक चीज लोगों के आकर्षण का केंद्र रहेगी।

हाई-फाई साउंड सिस्टम
हाई-फाई साउंड सिस्टम

खैर, मेडिकल कॉलेज की स्थापना कराने जा रहे सांसद धर्मेन्द्र यादव की बात करते हैं। पिछले चुनाव तक बदायूं के लोगों के लिए वह नेता कम, सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव के भतीजे ज्यादा थे और इसी रिश्ते के चलते लोगों ने उन्हें हाथों-हाथ लिया, लेकिन चार वर्षों में उन्होंने यहाँ के लोगों से अपना सीधा रिश्ता भी कायम किया है, साथ ही चारों दिशाओं में बन रही और बन चुकी सड़कों के माध्यम से, निर्माणाधीन ओवर ब्रिज के माध्यम से और अब मेडिकल कॉलेज की मंजूरी करा कर उन्होंने अपनी एक विकास पुरुष वाली छवि बना ली है। बड़े राजनैतिक घराने के सदस्य हैं, तो बड़ा कद स्वाभाविक ही था, लेकिन बरेली रैली की सफलता और बदायूं में कराए जा रहे विकास कार्यों ने उनका कद जमीनी स्तर पर बेहद मजबूत कर दिया है, जिसका लाभ उन्हें आने वाले समय में मिलना स्वाभाविक ही है।

हाई-फाई साउंड सिस्टम
हाई-फाई साउंड सिस्टम

इस अवसर पर सांसद धर्मेन्द्र यादव से बात की, तो उन्होंने कहा कि उन्हें मेडिकल कॉलेज की मंजूरी करा कर व्यक्तिगत तौर पर बेहद खुशी हो रही है। बोले- आगे भी वह हर क्षेत्र में ऐसे ही विकास कराने के लिए प्रयासरत रहेंगे। उन्होंने जनता के नाम एक बेहद मार्मिक पत्र जारी किया है, जिसे लोग बड़ी लगन से पढ़ते नज़र आ रहे हैं।

प्रस्तावित मेडिकल कॉलेज स्थल पर लगा हाई-फाई पंडाल
प्रस्तावित मेडिकल कॉलेज स्थल पर लगा हाई-फाई पंडाल

सांसद धर्मेन्द्र यादव से हुई बातचीत सुनने के लिए क्लिक करें

बातचीत

Leave a Reply