सरकारी योजनाओं की कढ़ाई में वोट पका रही है सपा

सरकारी योजनाओं की कढ़ाई में वोट पका रही है सपा

सरकारी योजनाओं की कढ़ाई में समाजवादी पार्टी बड़ी चालाकी से वोट पका रही है। पहले मुख्यालय पर विशाल शिविर लगा कर कन्या विद्याधन के चेक बांटे गये, उसके बाद विशाल समारोह आयोजित कर बेरोजगारी भत्ता बांटा गया और आज वृद्धा. विधवा पेंशन और शादी अनुदान सहित अन्य तमाम योजनाओं के चेक बांटे गये। समारोह कहने को ही सरकारी होता है। वास्तव में रंग से लेकर मंच तक, सब सपामय ही नज़र आता है। सपा की नीतियों और रीतियों की खूब चर्चा की जाती है। लोग वाह-वाही भी करते दिखते हैं, लेकिन यह नोट वोट में कितने तब्दील हो पायेंगे, यह तो समय ही बतायेगा …

नेताओं की भाषणबाजी से तंग आकर पंडाल से बाहर आकर शांति से बातें करती दो वृद्ध महिलायें
नेताओं की भाषणबाजी से तंग होकर पंडाल से बाहर आकर शांति से बातें करती दो वृद्ध महिलायें

– गरीबों की सेवा ही सबसे बड़ी पूजा: अवधेश

– पेंशन शिविर में 8806 लाभार्थियों को 28231600 रूपए वितरित

-महिला कल्याण विभाग की मंत्री ने की एक करोड़ देने की घोषणा

– नए बजट में मिलेगी ओवर ब्रिज के निर्माण को धनराशि: धर्मेन्द्र

जनपद बदायूं के एसके इण्टर कालेज के मैदान में आयोजित विशाल पेंशन शिविर में प्रदेश के समाज कल्याण, अनुसूचित जाति सैनिक कल्याण मंत्री अवधेश प्रसाद, महिला कल्याण एवं सांस्कृतिक विभाग की राज्य मंत्री (स्वतन्त्र प्रभार) अरूण कुमारी कोरी, बदायूं के सांसद धर्मेन्द्र यादव सहित अन्य जनप्रतिनिधियों ने विभिन्न छः योजनाओं के आठ हजार आठ सौ छः लाभार्थियों को दो करोड़ व्यालीस लाख इक्यासी हजार छः सौ रूपए के चेक वितरित किये। रेलवे क्रासिंग पर ओवर ब्रिज के निर्माण और प्रेक्षागृह निर्माण हेतु एक करोड़ रूपये देने की घोषणा भी की गई। किसानों को एक बड़ी राहत देते हुए सिंचाई फ्री की घोषणाओं के साथ वृद्ध माता-पिता की सेवा न करने वालों से दस हजार रूपये वसूल कर उन्हें दिलाने तथा न देने की स्थिति अथवा सेवा न करने पर तीन माह का करावास अथवा पांच हजार रूपये जुर्माना एवं दोनो सजा देने का कानून शीघ्र बनाने की भी घोषण की गई।

समाज कल्याण मंत्री अवधेश प्रसाद
समाज कल्याण मंत्री अवधेश प्रसाद

प्रदेश के समाज कल्याण मंत्री अवधेश प्रसाद ने कहा कि बदायूं में वृद्धा आश्रम खोला जाएगा, जिसमें खाना, कपड़ा, दवा एवं रहने की व्यवस्था मुफ्त होगी। उन्होंने बताया कि ऐसे वृद्धों जिनके वारिसान गरीब हैं अथवा वे उनको सहारा नहीं दे रहे हैं, ऐसे लोगों के लिए भी पालन पोषण की व्यवस्था होगी। उप जिलाधिकारी और जिला समाज कल्याण अधिकारी इसकी व्यवस्था करायेंगे। इसके अलावा यह भी व्यवस्था कराई जा रही है कि यदि उन्होंने अपने जायदाद अपनी सन्तानों को रजिस्ट्री कर दी है और संतान उनका पालन पोषण नहीं करते हैं तो रजिस्ट्री स्व्तः निरस्त मानी जायेगी, यह एक्ट यथा शीघ्र वरिष्ठ नागरिकों के लिए लाया जा रहा है। उन्होंने सर्व प्रथम इस विशाल शिविर के सफल आयोजन के लिए जिला प्रशासन को बधाई दी और समाज कल्याण की विभागीय योजनाओं को बताते हुए कहा कि सरकार ने अपने वादे के अनुसार जनता को लाभान्वित करने का क्रम शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा कि यह शिविर प्रदेश भर में पहला शिविर है, जहां एक साथ इतने बड़े जन समूह को एकत्रित कर लाभान्वित किया है। उन्होंने कहा कि उन्हें आशा ही नहीं  पूर्ण विश्वास है कि आगामी दो वर्षों में किए गए सभी बादे सरकार पूरे कर देगी। उन्होंने 108 नम्बर का ज़िक्र करते हुए कहा कि यह एक ऐसा नम्बर है, जिस पर काल करते ही आधे घण्टे के अन्दर एम्बोलेंस आपके दरवाज़े पर होगी। एम्बोलेंस में डाक्टर, नर्स सहित सम्पूर्ण मेडीसन भी उपलबघ रहेगी, जो मरीज को उसी आवश्यकतानुसार उसी चिकित्सालय में पंहुचाएगी। उन्होंने कहा कि जो लोग वृद्धावस्था में अपने माता-पिता की सेवा अथवा देखभाल नहीं करते, उनके लिए शीघ्र ही कानून बनाया जाएगा जिसमें दस हजार रूपए लेकर माता-पिता को दिए जाएंगे और ऐसा करने वालों के लिए तीन माह के कारावास अथवा पांच हजार रूपये के जुर्माने का प्रावधान किया जाएगा, ताकि कोई भी माता-पिता वृद्धावस्था में बेसहारा न बने।

महिला कल्याण एवं संस्कृति विभाग की राज्य मंत्री अरूण कुमार कोरी
महिला कल्याण एवं संस्कृति विभाग की राज्य मंत्री अरूण कुमार कोरी

प्रदेश की महिला कल्याण एवं संस्कृति विभाग की राज्य मंत्री अरूण कुमार कोरी ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा गरीबों, नौजवानों, मज़दूरों, छात्रों तथा कन्याओं सहित अन्य तमाम वर्गों का ध्यान रखते हुए विभिन्न योजनाओं को चलाया है, ताकि जनता खुशहाल रहे। श्रीमती कोरी ने शिविर की मुक्तकण्ठ से प्रसंशा करते हुए वूमैन पावर लाइन के फायदे बताए और कहा कि इससे महिलाएं और लड़कियां सेफ रहेंगी। उन्होंने जनपद में एक करोड़ की लागत से प्रेक्षागृह बनाने की घोषणा की। उन्होंने शिविर का श्रेय बदायॅू के सांसद को देते हुए कहा कि उनका यह प्रयास सार्थक हुआ, जिसके कारण आज हजारों लोगों के चेहरों पर खुशी दिखाई दे रही है।

सांसद धर्मेन्द्र यादव
सांसद धर्मेन्द्र यादव

सांसद धमेंन्द्र यादव ने कहा कि आगामी बजट में बदायूं के रेलवे क्रासिंग पर ओवर ब्रिज के निर्माण हेतु धनराशि का प्रावधान कराने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जो लोग विभिन्न पेंशन पाने से शेष रह गए हैं, उन्हें भी पेंशन दिलाने की शीघ्र व्यवस्था कराई जाएगी धनराशि की कोई कमी नहीं है। उन्होंने कहा कि उन्हें आज बड़ी प्रसन्नता हो रही है कि आज एक विशाल समूह एक साथ लाभान्वित हुआ है, इसके सफल आयोजन के लिए जिला प्रशासन बधाई का पात्र है। उन्होंने कहा कि पूर्व विधायक विमल कृष्ण अग्रवाल ने एवं अपने परिवार के सदस्यों की 40 एकड़ भूमि प्रस्तावित मेडीकल कालेज के लिए दी है। मेडीकल कालेज के निर्माण कार्य हेतु 25 करोड़ की धनराशि अवमुक्त भी हो चुकी है।
इसके बाद बिसौली के विधायक आशुतोष मौर्य, शेखूपुर के विधायक आशीष यादव, शहर विधायक आबिद रज़ा, आंवला लोक सभा क्षेत्र के पूर्व सांसद कु0 सर्वराज सिंह ने अपने-अपने विचार व्यक्त करते हुए शिविर की प्रशंसा की और कहा कि जिला प्रशासन का यह एक सराहनीय कार्य है, जिससे हजारों लोग लाभान्वित हुए हैं, इसके अलावा दातागंज के पूर्व विधायक प्रेम पाल सिंह, पूर्व विधायक विमल कृष्ण अग्रवाल, पूर्व विधायक जोगेन्द्र सिंह अनेजा, हरप्रसाद सिंह पटेल, रजनीश गुप्ता, बलवीर सिंह यादव सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण भी मौजूद रहे। सहसवान के विधायक ओमकार सिंह यादव ने अपने अध्यक्षीय भाषण में सभी अतिथियों का आभार व्यक्त करते हुए कार्यक्रम की प्रशंसा की।
समाज कल्याण विभाग के निदेशक अनिल कुमार ने अपने विभाग की तमाम योजनाओं की जानकारी देते हुए कहा कि गरीब, बेसहारा, अनाथ एवं निराश्रित लोगों को विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित करने हेतु धनराशि की कोई कमी नहीं है और इस प्रकार के जितने भी पात्र लाभार्थी मिलेंगे, उनको लाभान्वित कराने का प्रयास किया जाएगा। जिलाधिकारी सीपी त्रिपाठी ने कहा कि जनपद के ग्रामीण अंचलों से लाने-लेजाने हेतु प्रर्याप्त मात्रा में बसें लगाने के साथ चिकित्सीय सुविधा हेतु चिकित्सीय दल और भोजन आदि की समुचित व्यवस्था कराई गई है। उन्होंने कहा कि बुजुर्गो के सम्मान और आर्शीवाद से ही व्यक्ति को जो खुशी हासिल होती है, उतनी किसी दूसरे कार्य से नहीं। उन्होंने इस सफल आयोजन के लिए जिला स्तरीय अधिकारियों को बधाई देते हुए कहा कि इस समारोह के आयोजन का श्रेय बदायूं के सांसद धमेंन्द्र यादव को जाता है।
शिविर में 5778 लाभार्थियों को वृद्धा पेंशन के रूप में 10400400, पारिवारिक लाभ योजना के 506 लाभार्थियों  को 10120000, अनुसूचित जाति शादी अनुदान योजना के 370 लाभार्थियों को 3700000, अनुसूचित जाति बीमारी योजना के 11 लाभार्थियों को 55000, सामान्य जाति शादी अनुदान योजना के 223 लाभार्थियों को 2230000 तथा विधवा पेंशन योजना के 1918 लाभार्थियों को 1726200 रू0 के चेक वितरित किए गए। शिविर में मंच पर बुलाकर रामवती, रेणुका, चन्द्रपाल, मुन्ने मियां, होती लाल, भूप सिंह तथा गंगाराम आदि को वृद्धावस्था पेंशन योजना के चेक देने के साथ अन्य लाभार्थियों को भी चेक दिए गए। इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह यादव, मुख्य विकास अधिकारी जयन्त कुमार दीक्षित, अपर जिलाधिकारी प्रशासन संजय कुमार सिंह, अपर जिलाधिकारी वित्त शीलधर सिंह यादव, नगर मजिस्ट्रेट ज़मीर आलम, जिला पूर्ति अधिकारी नीरज सिंह, जिला समाज कल्याण अधिकारी कुसुम कुमरा सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारीगण मौजूद रहे।    

भूख से बेहाल दिखे वरिष्ठ नागरिक

समारोह में वरिष्ठ नागरिकों के सम्मान में हर किसी ने कसीदे गढ़े, लेकिन मौके पर लाये गये वरिष्ठ नागरिक सुबह पांच और छः बजे बसों में ठूंस दिए गये थे और लाकर सीधे पंडाल में बैठा दिए गये।

भूख से तड़पने के बाद अपने साथ लाये पराठे खाता एक आम आदमी
भूख से तड़पने के बाद अपने साथ लाये पराठे खाता एक आम आदमी

उन्हें खाने के पैकेट तो दिए गये, लेकिन ढाई-तीन बजे तक अधिकाँश वरिष्ठ नागरिकों का भूख से बुरा हल हो गया, वहीं कई बुजुर्ग महिला व पुरुष चक्करा कर गिर भी गये

धन की बर्बादी भी हुई

पंडाल में जगह-जगह विशाल टीवी स्क्रीन भी लगाए गये थे। कार्यक्रम को हाईटेक बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी गई, जिससे साफ़ है कि धन की बर्बादी भी दिल खोल कर की गई, जबकि यह धन अन्य कार्यों में लगाया गया होता, तो आम आदमी का भला होता।

Leave a Reply