सपा की रैली में न बोलने देने से जारी किया मुस्लिम एजेंडा

सपा की रैली में न बोलने देने से जारी किया मुस्लिम एजेंडा
सपा की रैली में न बोलने देने से जारी किया मुस्लिम एजेंडा
सपा की रैली में न बोलने देने से जारी किया मुस्लिम एजेंडा

समाजवादी पार्टी की बरेली में हुई ‘देश बचाओ-देश बनाओ’ रैली का असर अभी खत्म नहीं हो पा रहा है। अब लोकसभा चुनाव में मुस्लिम एजेंडा लागू करने वाले दल को समर्थन देने की बात शुरू की जा रही है।

बरेली के कादरी हाउस में अपने छोटे भाई मौलाना तसलीम रजा खां के साथ मुस्लिम एजेंडा जारी करते हुए नबीरे आला हजरत मौलाना सिराज रजा नूरी ने कहा कि भाजपा की नीतियों के चलते उसके साथ नहीं जा सकते, पर उसकी कथनी-करनी में फर्क नहीं है, ऐसा ही दल चाहिए, जो कहे, वही करे। बोले- लोकसभा चुनाव में ऐसे ही दल को समर्थन दिया जायेगा।

उन्होंने कहा कि दंगा विरोधी बिल लाया जाये, आतंकवाद में गिरफ्तार युवकों की सुनवाई को फास्ट ट्रैक कोर्ट बनाया जाये, अल्पसंख्यक आयोग को मानवाधिकार आयोग जैसे अधिकार दिए जायें, आरक्षण में धर्म के आधार पर रोक हटाई जाये, समान अवसर आयोग का गठन किया जाये, पंचायत से लेकर लोकसभा तक मुस्लिम प्रतिनिधित्व बढ़ाया जाये, जंगे आजादी के मुस्लिम शहीदों का पुस्तकों में जिक्र किया जाये और मस्जिदों के निर्माण से रोक हटाने वगैरह की मांग पूरी करने का जो वादा करेगा, उसे समर्थन दिया जायेगा।

सपा की देश बचाओ-देश बनाओ रैली के मंच से नहीं बोलने देने से खफा मौलाना तसलीम रजा खां ने 15 सूत्रीय मुस्लिम एजेंडा जारी करते हुए कहा कि अगर सपा रैली में बोलने दिया जाता, तो वह इसी एजेंडे को सामने रखते। उन्होंने कहा कि एजेंडे को सभी प्रमुख दलों को भेजा है और पांच जनवरी तक जवाब का इंतजार करेंगे, इसके बाद खानकाह और मदरसों के जिम्मेदारों को बुलाकर सलाह मशवरा कर मुस्लिम एजेंडा लागू करने वाली पार्टी को लोकसभा चुनाव में खुलकर समर्थन देंगे। इस दौरान अखलाक अहमद सिद्दीकी, मुहम्मद उवैस खान भी मौजूद रहे।

Leave a Reply