शोक के वातावरण में रतन सिंह यादव की सैफई में अंत्येष्टि

शोक के वातावरण में रतन सिंह यादव की सैफई में अंत्येष्टि
  • हेलीकॉप्टर से पक्षी टकराया,बाल-बाल बचे अखिलेश-डिंपल 
रतन सिंह यादव की शव यात्रा में शामिल शोक ग्रस्त परिजन
रतन सिंह यादव की शव यात्रा में शामिल शोक ग्रस्त परिजन

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के भाई रतन सिंह यादव का शनिवार की रात को हृदय गति रुक जाने से निधन हो गया था। लंबे समय से बीमार चल रतन सिंह यादव का सैफई के उ.प्र. ग्रामीण आयुर्विज्ञान एवं अनुसंधान संस्थान में उपचार चल रहा था। निधन की सूचना पर पूरा परिवार तत्काल सैफई में पहुंच गया और आज रविवार की दोपहर में उनका दाह संस्कार कर दिया गया।

अंत्येष्टि में सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सहित सभी परिजन और प्रदेश भर से जुटे असंख्य लोग मौजूद रहे। रतन  सिंह यादव किसान सेवा सहकारी समिति उझियानी के लगातार दो बार अध्यक्ष रहे थे। उन्होंने शनिवार और रविवार की रात को लगभग 12.45 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। निधन की सूचना रात में ही राजपाल यादव ने परिवार के सभी लोगों को दी, तो मुलायम सिंह यादव, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, सांसद प्रो. रामगोपाल यादव, पीडब्ल्यूडी मंत्री शिवपाल सिंह यादव, प्रतीक यादव, साधना यादव, सांसद डिंपल यादव, जिला पंचायत अध्यक्ष प्रेमलता यादव, सपा युवजन सभा के राष्ट्रीय सचिव अनुराग यादव दीपू, सांसद धर्मेन्द्र यादव, अंशुल यादव, पीसीएफ चेयरमैन आदित्य यादव सैफई पहुंच गए। अंत्येष्टि सैफई के ब्लॉक प्रमुख तेज प्रताप यादव “तेजू” ने की। इसके बाद दोपहर में ही शांति हवन भी कर दिया गया, जिसमें परिजन और रिश्तेदार मौजूद रहे।

निधन की सूचना पर प्रदेश के नगर विकास एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री आजम खां ने भी रतन सिंह यादव के निधन पर अपने गहरे रंज-गम का इजहार किया है। शोक सन्देश में आजम खाँ ने कहा कि श्री रतन सिंह यादव अपने भाइयों में सबसे बड़े थे और सबके लिये एक सरपरस्त जैसे थे। उनके निधन से सभी को असीम दुख पहुंचा है और इस दुख की घड़ी में वह यादव परिवार के प्रत्येक सदस्य के गम में बराबर के शरीक हैँ।
आजम खां ने दिवंगत आत्मा की शांति तथा शोक संतप्त परिवार को इस दुख को सहन करने की शक्ति प्रदान करने के लिये ईश्वर से प्रार्थना की।
उधर सैफई से लखनऊ आते समय मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और उनकी पत्नी डिंपल यादव बाल-बाल बच गए। बताया जाता है कि घटना अमौसी एयरपोर्ट से करीब तीन किलोमीटर पहले हुई। अमौसी एयरपोर्ट पर उतरने से कुछ पहले एक पक्षी हेलीकॉप्टर की विंड स्क्रीन से टकरा गया, जिससे शीशा टूट गया, लेकिन पायलट ने हेलीकॉप्टर को सुरक्षित उतार लिया।

Leave a Reply