शिविरों में सामग्री वितरण अधिकारी अपनी निगरानी में करायें

शिविरों में सामग्री वितरण अधिकारी अपनी निगरानी में करायें
  • शिविरों में प्रभारी किसी भी सामग्री की कमी या कर्मचारियों के सम्बन्ध में कन्ट्रोल रूम नं0 0131-2436918 पर सूचित करें
  • शिविरों के निकट खराब पड़े हैण्डपम्पों की सूचना तुरन्त डीपीआरओ को दें, ताकि कल तक पम्पों की मरम्मत कराई जा सके: डीएम
शिविरों में सामग्री वितरण अधिकारी अपनी निगरानी में करायें
शिविरों में सामग्री वितरण अधिकारी अपनी निगरानी में करायें
जिलाधिकारी मुजफ्फरनगर कौशल राज शर्मा ने सभी एसडीएम तथा राहत शिविरों के प्रभारियों को निर्देश देते हुए कहा है कि राहत शिविरों में खाद्यान्न सामग्री व जीवनोपयोगी आवश्यक वस्तुओं का वितरण अपनी निगरानी में कराएं। उन्होंने राहत सामग्री वितरण का रजिस्टर पूर्ण रूप से भरने तथा वितरण कराते समय की वीडियोग्राफी कराने के साथ ही रजिस्टर पर परिवार के मुखिया के हस्ताक्षर कराने के भी निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि ग्राम प्रधानों की भी इसमें मदद लें तथा रसोई सम्बन्धी जिम्मेदारी उनको सौंपे। उन्होंने सीएमओ को निर्देश दिए कि प्रत्येक शिविर में एक चिकित्सक की ड्यूटी लगायें। ये चिकित्सक बीमारों का इलाज करेंगे तथा मुफ्त दवाईयों का वितरण भी करेंगे। जिलाधिकारी ने पुलिस विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि एक जिम्मेदार पुलिस अधिकारी की ड्यूटी लगाएं, जो कैम्प में उपस्थित पीडि़त व्यक्ति की शत-प्रतिशत एफआईआर दर्ज कर सम्बन्धित थानों में एफआईआर की प्रति पहुंचाना सुनिश्चित करेंगे।
जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा आज विकास भवन, मुजफ्फरनगर में राहत सामग्री वितरण की बैठक में समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने सभी शिविरों के प्रभारियों को निर्देश दिए कि खाद्यान्न सामग्री के सम्बन्ध में तथा शिविरों मे कर्मचारियों के न पहुंचने के सम्बन्ध में तुरन्त सूचित करें, ताकि सम्बन्धित राहत शिविर में खाद्यान्न सामग्री उपलब्ध कराई जा सके तथा शिविर में अनुपस्थित कर्मचारी के स्थान पर वैकल्पिक व्यवस्था कराई जा सके, उन्होंने कहा कि इसकी सूचना कन्ट्रोल रूम के टेलीफोन नम्बर 0131-2436918 पर नोट करा दें अथवा जिला आपूर्ति अधिकारी के मोबाईल नम्बर 9415669636 पर शिविरों के प्रभारी सूचित कर दें।
श्री शर्मा ने निर्देश दिए कि राहत शिविरों के निकट खराब पड़े हैण्डपम्पों की सूचना तुरन्त डीपीआरओ को दें, ताकि उसी दिन हैण्डपम्पों की मरम्मत कराई जा सके। उन्होंने कहा कि प्रत्येक राहत शिविर में लेखपाल, सैक्रेट्री सफाईकर्मी, शिक्षामित्रों आदि की ड्यूटी भी लगाई गई है, जिनसे भी कार्य लिया जाए। जिलाधिकारी ने डीपीआरओ को निर्देश दिए कि मोबाइल शौचालयों की भी शिविरों में व्यवस्था करायें। उन्होंने कहा कि पहले उन शिविरों में व्यवस्था करें जो सड़कों के किनारे हैं, उसके बाद जिन घरों में अधिक परिवार ठहरे हैं, उनमें मोबाइल शौचालयों की व्यवस्था करें।
जिलाधिकारी ने शिविर प्रभारियों को निर्देश दिए कि ये सुनिश्चित कर लें कि प्रत्येक परिवार को दो चादर, एक दरी, दो प्लेट, बाल्टी व जग तथा साबुन आदि मुहैय्या हो जाए। उन्होंने एडीएम से कहा कि खाद्य सामग्री की छोटी किट भी बनवायें। जिलाधिकारी ने डीपीआरओ को निर्देश दिए कि शिविरों में सफाई व्यवस्था पर विशेष ध्यान दें तथा ग्राम प्रधानों से सम्पर्क कर उनकी सहायता भी लें।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी श्री रवीन्द्र गोडबोले, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व श्री राजेश कुमार श्रीवास्तव, अपर जिलाधिकारी प्रशासन डा. इन्द्रमणि त्रिपाठी, सभी एसडीएम, सीएमओ व राहत शिविरों के सभी प्रभारी अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply