शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती हत्या के आरोप से मुक्त

शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती हत्या के आरोप से मुक्त
शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती
शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती

कांचिकामकोटि पीठ के शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती को अदालत ने आरोप मुक्त कर बरी कर दिया है, उन पर श्रीवर्धराज स्वामी मंदिर के प्रबंधक शंकररमण की हत्या की साजिश रचने का आरोप था। 69वे शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती पर वर्ष 2004 में आरोप लगा था, तब पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार भी किया था। उस समय यह प्रकरण चर्चा का प्रमुख विषय रहा था।

तमिलनाडु में स्थित पुडुचेरी के मुख्य जिला एवं सत्र न्यायाधीश सीएस मुरुगन ने आज निर्णय सुनाया, जिसमें शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती सहित सभी 23 आरोपी बरी कर दिए गये हैं। कांचीपुरम (तमिलनाडु) स्थित वरदराजपेरुमल मंदिर के प्रबंधक शंकररमण की 3 सितंबर, 2004 को हत्या कर दी गई थी, जिसमें जयेंद्र सरस्वती को अभियुक्त नंबर एक और उनके सहयोगी विजयेंद्र को अभियुक्त नंबर दो बनाया गया था। यह पूरा प्रकरण नौ वर्षो में तमाम कानूनी प्रक्रियाओं से गुजरा है। हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट से निर्देश दिए गये हैं। इस मुकदमे में 189 लोगों की गवाही हुई, जिनमें से 83 गवाह मुकर गए एवं इसी वर्ष मार्च में इस मुकदमे में याचिका दायर करने वाले एक एम. कांतिवरम की हत्या भी हो चुकी है। उधर शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती पर महिलाओं से संबंध रखने का भी आरोप लगा था।

Leave a Reply