… व‌ह जितनी रात बढ़ाएंगे, मैं उतने ‌सूरज लाऊंगा: मोदी

… व‌ह जितनी रात बढ़ाएंगे, मैं उतने ‌सूरज लाऊंगा: मोदी
भारतीय जनता पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी नरेंद्र मोदी
भारतीय जनता पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी नरेंद्र मोदी

लखनऊ के रमाबाई रैली स्थल पर वंदे मातरम और भारत माता की जय के नारों से गूंजते वातावरण में भारतीय जनता पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी नरेंद्र मोदी ने कहा कि आंधियों की जिद है, जहां बिजली गिराने की, मुझसे में जिद है, वहीं आशियां बनाने की।
नरेंद्र मोदी ने कहा कि मैं आशा से भरा हुआ इंसान हूं, मेरी पार्टी आशा से भरी हुई पार्टी है, साथ ही कहा कि भाजपा के लोकतंत्र देख‌िये। पिछड़ी जाति का होने के बावजूद भी भाजपा ने मुझे पीएम पद का उम्मीदवार बनाया है।
बोले- आने वाला दौर पिछड़ी जातियों का है, गरीबों का है, पीड़ितों का है। मैं दिल्ली में एक चौकीदार की भूमिका में बैठने वाला हूं, यह भरोसा करिए, मैं देश की तिजोरी पर किसी का पंजा नहीं पड़ने दूंगा, चाहे कोई हाथी पर आए। सपा पर वार करते हुए बोले कि नेताजी, शर्म से माथा झुक जाता है, आपकी राजनीति, गुंडागर्दी के कारण पूरे हिंदुस्तान के गंभीर गुनाह में 45 प्रतिशत गुनाह आपनी नाक के नीचे होते हैं।
उन्होंने कहा कि महिलाओं का सम्मान और सुरक्षा होनी चाहिए। बोले- एक साल में अकेले यूपी में 20 हजार से अधिक महिला उत्पीडऩ की घटना घटी है। बोले- आप हमसे हिसाब मांग रहे हो। आपके कारनामे कैसे हैं, मुझे कहने की जरूरत नहीं है। सपा का एक खेमा समाज विरोधी पार्टी, दूसरा विरोधी सुखवादी पार्टी है।

उन्होंने कहा कि विकास का पैमाना प्रति व्यक्ति आय होता है। यूपी का 26 हजार रुपया है और गुजरात का 75 हजार रुपया, यह सब ऐसे नहीं हुआ।

सवाल करते हुए बोले कि पूछना चाहता हूं नेताजी, आपने मेरे से गुजरात के शेर मांगे थे शेर, मैंने कहा, दे दे भाई। इतना ही नहीं, आपने हमसे अमूल भी मांगा। अमूल को लाने की जरूरत क्या पड़ी। एक साल में यूपी में दूध 35 से 40 रुपये मिल रहा है। यह भी कहा कि मैं विकास की राजनीति का पक्षधर रहा हूं। वोट बैंक की राजनीति छोड़िये, विकास के मुद्दों पर आइये।

बोले कि गांव में किसान को कितनी बिजली मिलती है। नेताजी, जरा गुजरात जाकर देख आयें, 365 दिन, 24 घंटे मिलती है।
कटाक्ष करते हुए बोले कि बिजली में भी रिजर्वेशन है। नेताजी के इलाके में मिलती है, जनता जनार्दन को नहीं मिलती। अगला सवाल दागा कि नेताजी पूछना चाहता हूँ, आपके बेटे की एक साल की सरकार ने यूपी में डेढ़ सौ दंगे करवाए हैं, जबकि गुजरात में दस साल में एक भी दंगा नहीं हुआ।

उन्होंने किसानों को भी मरहम लगाने का प्रयास किया, साथ ही दसवीं और बारहवीं की परीक्षा देने वाले युवाओं को शुभकामना दी।

उन्होंने कहा कि आज वोट बैंक की राजनीति ने देश को तबाह कर दिया है। यहां मुसलमानों को वोट का टुकड़ा बना दिया गया है।
भ्रष्टाचार पर भी तीर छोड़े और कहा कि यहां मंत्री की भैंस चोरी हो गई। सोच रहा था कि मंत्री का बयान जरूर आयेगा और कहेंगे सेकुलरिज्म पर खतरा है।

स्कूल में दाखिला की बात करो, तो अपनी नाकामियां छिपाने के लिए ये सेकुलरिज्म का नकाब पहनकर गुमराह करने की कोशिश करते हैं।

नरेंद्र मोदी ने चौतरफा हमला बोला, वहीं सभी को लुभाने का भी प्रयास किया और यह रचना बोलते हुए अपनी बात समाप्त कर दी कि “सौगंध मुझे इस मिट्टी की, मैं देश नहीं झुकने दूंगा। व‌ह जितनी रात बढ़ाएंगे, मैं उतने ‌सूरज लाऊंगा।”

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने कहा कि हीरे को चमक पाने के लिए प्रहार सहने पड़ते हैं। नरेंद्र मोदी ने जितने प्रहार सहे हैं, उससे उनकी चमक बढ़ी है। उन्होंने विकास की भी बात कही। बोले- बिजली न मिलने के साथ यूपी में गन्ना किसानों का भुगतान भी नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा कि बिल्ली पाल कर दूध की हिफाजत नहीं की जा सकती है। बोले- जिस दिन देश में भाजपा की सरकार बनेगी, उस दिन हमारी ओर देखने की किसी की भी हिम्मत नहीं होगी।
रैली में लक्ष्मीकांत वाजपेयी, सेना के पूर्व जनरल वीके सिंह, उदितराज, कल्याण सिंह, सुनील शाह, सूर्य प्रताप शाही, लालजी टंडन, विनय कटियार, कलराज मिश्रा प्रमुख लोगों में मौजूद रहे, वहीं हमीरपुर से भाजपा विधायक साध्वी निरंजन ज्योति ने जनसमूह में यह सवाल कर जोश भर दिया कि आपको राम जादों की सरकार चाहिए या फिर हराम जादों की।

Leave a Reply