विशेष टीमें गठित कर अपराधियों को गिरफ्तार करें: मुख्यमंत्री

विशेष टीमें गठित कर अपराधियों को गिरफ्तार करें: मुख्यमंत्री
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने जनपद अलीगढ़ में एक पुलिस उप निरीक्षक को गोली मारकर घायल करने वाले अपराधियों को शीघ्र गिरफ्तार करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि विशेष टीमें गठित कर अपराधियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करें।
मुख्यमंत्री के निर्देशों के क्रम में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अलीगढ़ द्वारा एक विशेष पुलिस टीम का गठन किया गया है। साथ ही, पुलिस महानिदेशक द्वारा उ0प्र0 एसटीएफ को भी अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए लगाया गया है।
गौरतलब है कि अलीगढ़ के क्वार्सी थाना क्षेत्र के स्वर्ण जयन्ती नगर में कल रात दो पक्षों में झगड़ा हो रहा था। इस दौरान थाना क्वार्सी पर नियुक्त उप निरीक्षक भूदेव प्रसाद थाने से अपने घर जा रहे थे। शोर सुनकर जब वे मौके पर पहुंचे, तब किसी ने उन पर गोली चला दी, जिससे वे घायल हो गए। घायलावस्था में भूदेव प्रसाद को वरुण ट्रामा सेण्टर में भर्ती कराया गया, जहां आॅपरेशन से गोली निकाल ली गई है। वर्तमान में श्री प्रसाद की स्थिति खतरे से बाहर है।
उधर अखिलेश यादव ने अर्थ एवं संख्याधिकारी, गाजियाबाद कुमारी लक्ष्मी देवी को, शासकीय कार्यों में उदासीनता बरतने, मासिक समीक्षा बैठकों में गलत सूचना प्रस्तुत करने तथा प्रदेश के विकास प्राथमिकता वाले महत्वपूर्ण कार्यों के प्रति असहयोग का रवैया अपनाने के कारण तत्काल प्रभाव से निलम्बित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कुमारी लक्ष्मी देवी के विरुद्ध विभागीय कार्रवाई करने तथा 30 दिन के अन्दर जांच आख्या प्रस्तुत करने के भी निर्देश दिए हैं।

ज्ञातव्य है कि जिलाधिकारी गाजियाबाद ने कुमारी लक्ष्मी देवी के विरुद्ध कर्तव्यों के निर्वहन में उदासीनता बरतने, अपने अधीनस्थों को अनावश्यक प्रताड़ित करने, बिना उच्चाधिकारियों के संज्ञान में लाए अपने स्तर से ही अकारण उनका वेतन रोकने, शासकीय आदेशों का पालन न करने, महत्वपूर्ण शासकीय कार्यों में लापरवाही बरतने की शिकायत शासन से लिखित रूप में की थी।
जिलाधिकारी गाजियाबाद ने यह भी सूचित किया था कि अर्थ एवं संख्याधिकारी, गाजियाबाद द्वारा मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों की समीक्षा बैठक हेतु मुख्य सचिव द्वारा उपलब्ध कराए गए प्रारूप पर वांछित सूचना देने में लापरवाही एवं उदासीनता बरती गई तथा सूचना समय से नहीं भेजी गई।
मुख्यमंत्री ने सचेत किया है कि कार्य के प्रति लापरवाही बरतने तथा उदासीनता दिखाने वाले अधिकारियों/कर्मचारियों को बख्शा नहीं जाएगा।

Leave a Reply