विज्ञान फेल, नसबंदी के बाद भी हो गया बच्चा

विज्ञान फेल, नसबंदी के बाद भी हो गया बच्चा
तहसील दिवस में शिकायतें सुनते अधिकारी
तहसील दिवस में शिकायतें सुनते अधिकारी

बदायूं के तहसील दातागंज में आयोजित तहसील दिवस में मुगर्रा की आंगनबाड़ी माया देवी के फर्जी अभिलेखों के सहारे नौकरी करने का मामला प्रकाश में आने के साथ ही नसबन्दी के बाद भी बच्चा होने पर क्षर्ति पूर्ति की धनराशि देने में देरी को लेकर महिला 06 अप्रैल, 2011 से तहसील दिवसों के चक्कर लगा रही है। जिलाधिकारी सीपी त्रिपाठी ने उक्त दोनों प्रकरणों को गम्भीरता से लेते हुए सीडीओ और सीएमओ को सम्बंधित मामलों में त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं।
जिलाधिकारी श्री त्रिपाठी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दलवीर सिंह यादव एवं मुख्य विकास अधिकारी जयन्त कुमार दीक्षित आज तहसील दिवस में जनता की समस्याओं को सुन रहे थे। दातागंज स्थित माली चौक की एक महिला ने शिकायत की कि उसने नसबन्दी के बाद बच्चा होने पर 04 मई, 2011 को मुख्य चिकित्साधिकारी के यहां दावा भी प्रस्तुत कर दिया है और वह तबसे आज तक निरन्तर स्वास्थ्य विभाग के सम्पर्क में है और उसको आज तक क्षर्ति पूर्ति की धनराशि प्राप्त नहीं हुई है। जिलाधिकारी ने प्रभारी मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए हैं कि इस प्रकरण में तत्काल कार्यवाही कराकर महिला को क्षतिपूर्ति की धनराशि दिलाई जाए। ग्राम मुगर्रा के नत्थू लाल ने गांव की आंगनबाड़ी कार्यकत्री माया देवी के फर्जी अभिलेखों के सहारे कार्य करने के साथ ही पुष्टाहार भी न बांटने की शिकायत की। जिलाधिकारी ने इस प्रकरण को गम्भीरता से लेते हुए मामले को मुख्य विकास अधिकारी के सुपुर्द कर कड़ी कार्यवाही के निर्देश दिए, जिस पर मुख्य विकास अधिकारी तुरन्त मौके पर प्रभारी जिला कार्यक्रम अधिकारी और सीडीपीओ को तलब कर नाराज़गी जताई और निर्देश दिए कि इसमें सम्बंधित आंगनबाड़ी के खिलाफ कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जाए। ज्ञातव्य हो कि इस आंगनबाड़ी कार्यकत्री के अभिलेखों की जब 31 जुलाई, 2007 को शिकायत के आधार पर जांच हुई तो जांच अधिकारी ने अभिलेखों के फर्जी होने की रिर्पोट दी है। ग्राम रायपुरा की निर्मला देवी ने शिकायत की कि उसने अपना 9 वीघा खेत तीन कुंतल प्रति वीघा की दर पर बनवारी को खेती करने हेतु दिया था, वह अब तय किए हुए गेहूं नहीं दे रहा है, जिस पर सीओ दातागंज ने सम्बंधित एसओ को निर्देश दिए हैं कि उसकी समस्या का तुरन्त निदान कराया जाए। किशनी महेरा के उत्तम कुमार ने कोटेदार ओम हरिदास द्वारा खाद्यान न बांटने की शिकायत की तो जिलाधिकारी ने सम्बंधित कोटेदार के विरूद्ध कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। इस्माईलपुर के अशोक कुमार ने शिकायत की कि नन्हीं विधवा अलताफ को विधवा पेंशन प्राप्त होने के साथ ही उसका और उसके लड़कों के नाम अन्त्योदय योजना का राशन कार्ड भी बना हुआ है, जबकि उसके पास 17 वीघा जमीन है जिसका वह रू0 39.50 लगान भी जमा कर ही है। जिलाधिकारी ने इस प्रकरण में जिला समाज कल्याण अधिकारी को तलब कर जांच कराकर कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। तहसील दिवस में ज्यादातर मामले अवैध कब्जे, पैमाइश, चकरोड़ों पर कब्जा जैसे भूमि विवाद के आए जिनमें मौके पर जांचकर कार्यवाही के निर्देश दिए गए थे। गत तहसील दिवसों से चली आ रही परम्परा को निभाते हुए इस तहसील दिवस में भी ब्लाक उसावां के शम्भू नगला स्थित प्राथमिक विद्यालय के कक्षा आठ के छात्र अजब सिंह, ममतेश कुमार तथा सहायक अध्यापक नाज़िम अली को पर्यावरण में बेहतर योगदान के लिए डीएम, एसएसपी तथा सीडीओ ने प्रशंसनीय पत्र भेंट किए। तहसील दिवस में कुल 92  शिकायतें प्राप्त हुईं जिनमें  21 शिकायतों का मौके पर निस्तारण कराया गया। इस अवसर सभी सम्बंधित अधिकारीगण मौजूद रहे।

Leave a Reply