लोकपाल बिल पास होने से आज का दिन बना ऐतिहासिक

लोकपाल बिल पास होने से आज का दिन बना ऐतिहासिक
रालेगढ़ सिद्धी में अनशन पर बैठे अन्ना हजारे।
रालेगढ़ सिद्धी में अनशन पर बैठे अन्ना हजारे।

 

छः घंटे की बहस के बाद राज्यसभा ने लोकपाल विधेयक को आज पास कर दिया। विधेयक पास होने में कोई ख़ास दिक्कत नहीं आई। समाजवादी पार्टी ने विरोध का दिखावा ही किया, क्योंकि खुद को अलग कर सपा ने एक तरह से सरकार का साथ ही दिया।

पहले तो सपा के सांसदों ने महंगाई के मुद्दे पर हंगामा कर सदन को 12:00 बजे तक स्थगित करा दिया, लेकिन विधेयक पर बहस शुरू होने से पहले प्रो. रामगोपाल यादव ने इतना जरूर कहा कि लोकपाल कानून बना, तो कोई अफसर फाइल पर दस्तखत नहीं करेगा, निर्णय लेने से डरेगा। उन्होंने कहा कि लोकपाल कौन होगा, वह कहां से आएगा? बोले- जनता की मदद राजनीतिक व्यक्ति करते हैं। कल को कोई रिटायर व्यक्ति लोकपाल बन जाएगा, तो फिर वह दूध के धुले व्यक्ति को भी जेल भेज सकता है। बोले- आज भले न हो, लेकिन कल उनकी यही बात सच साबित होगी, इसलिए सपा इस विधेयक को पारित कराने के पाप की भागीदार नहीं होगी। बोले- सपा सदन से बहिर्गमन करती है।

बिल पास होने के बाद केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री कमलनाथ ने सभी पार्टियों को धन्यवाद देते हुए कहा कि आज ‘ऐतिहासिक दिन’ है। उन्होंने लोकसभा में भी इस बिल के एकमत से पारित होने की उम्मीद जताई, इसी तरह कानून मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा कि हमने आज के दिन कोई ऐसी बात नहीं की कि ये प्रक्रिया पटरी से उतर जाए। बोले-  लोकपाल और सीबीआई स्वतंत्र होंगे और ये ठोस कानून है।

उधर रालेगढ़ सिद्धी में अनशन पर बैठे अन्ना हजारे ने मौजूदा लोकपाल विधेयक को सही बताते हुए लोकसभा में पास होने के बाद अनशन तोड़ने की बात कही है।

Leave a Reply