लोकतंत्र में सभी नागरिकों को समान अधिकार: प्रियदर्शी

लोकतंत्र में सभी नागरिकों को समान अधिकार: प्रियदर्शी
मूक बधिर बच्चों को प्रमाण पत्र देती जिलाधिकारी की पत्नी
मूक बधिर बच्चों को प्रमाण पत्र देती जिलाधिकारी की पत्नी

बदायूं के जिलाधिकारी जी.एस. प्रियदर्शी ने गणतऩ्त्र दिवस की 64 वीं जयन्ती पर जनपद वासियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि यह बड़े हर्ष का अवसर है कि हमारे देश के संविधान में समस्त नागरिकों को समान अधिकार दिए गए है, हमें अपने देश के उन महान सपूतों और प्राणों की आहूति देने वाले स्वतन्त्रता सेनानियों को याद करके उनके अनुश्रवणों को अपने जीवन में उतारकर उन्हें हमेशा याद रखना चाहिए, जिन्होने हमारे देश में ऐसा संविधान लागू किया, जिससे हमारे देश की जड़ें मज़बूत हुई और देश विकास की ओर अग्रसर हुआ।
श्री प्रियदर्शी ने यह विचार आज पुलिस लाइन में पुलिस परेड की सलामी लेने के पश्चात व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि शासन की नीतियों का भलीभांति क्रियान्वयन कराने से हमारे देश का लोकतन्त्र और मज़बूत होगा। देश में सामाजिक, आर्थिक धार्मिक स्तर पर जो असमानताएं हैं, वहीं दूसरी ओर इस लोकतान्त्रिक व्यवस्था के तहत सभी नागरिकों को वोट डालने का समान अधिकार दिया गया है। जिलाधिकारी ने सरकार की बेरोज़गारी भत्ता,कन्या विद्या धन, पढ़ें बेटियां-बढ़ें बेटियां, लेपटॉप एंव टेबलेट वितरण जनोपयोगी योजनाओं का ज़िक्र करते हुए कहा कि अल्प संख्यकों हेतु चलाई जा रही योजना हमारी बेटी उसका कल तथा एमएसडीपी योजना के तहत कब्रिस्तान की चाहर दीवारी कराने की योजना प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही हैं। उन्होंने महिला सशक्तीकरण हेतु पावर लाइन न0 1090 सहित 108 टोल फ्री नम्बरों का भी बदायूं स्थित कलेक्ट्रेट में तिरंगे को सलामी देते जिलाधिकारी आवश्यकतानुसार लाभ उठाने की जानकारी दी।
पुलिस लाइन में पुलिस परेड की सलामी के पश्चात सराहनीय कार्यों के लिए कांस्टेबिल भारत शर्मा और अनिल कुमार को जिलाधिकारी ने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मनित करने के साथ विभिन्न स्कूलों के छात्र-छात्राओं द्वारा देश प्रेम से जुड़े बेहतर सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने पर नक़द पुरस्कार देकर स्कूली बच्चों की हौसला अफज़ाई की गई। मूक वधिर बच्चों द्वारा भी रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए, जिसकी सभी ने दिल से सराहना की। जिनको जिलाधिकारी की पत्नी ने पुरस्कार और प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया।
आज जिलाधिकारी ने पहली बार जिला कारागार पहुंचकर कैदियों द्वारा किए जा रहे सांस्कृतिक कार्यक्रमों को देखा, जिससे वहां मौजूद कैदियों में हर्ष व जोश पैदा हो गया। जिलाधिकारी तथा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह यादव, जिला कारागार में प्रवेश और बाहर आते समय पंजिका में अंकन भी किया। बदायॅू क्लब पहुँच कर जिलाधिकारी ने ध्वजारोहण किया और क्लब में आयोजित कार्यक्रम में भाग लेकर सैनिकों की विधवाओं बरखा देवी, विमला शर्मा, शांति देवी सहित बदायॅू का इतिहास लिख रहे इतिहासकार गिराज नंदन को शाल उढ़ा कर सम्मानित किया।
सर्व प्रथम जिलाधिकारी ने कलेक्ट्रेट पहुँच कर ध्वजारोहण किया और अपने सभा कक्ष में अधिकारियों/ कर्मचारियों के साथ सभा कर कर्तव्य निष्ठा और ईमानदारी के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन करने की सलाह दी और जिलाधिकारी द्वारा अधिकारियों/कर्मचारियों का राष्ट्रीय संकल्प का पाठ दोहराया गया।  जिलाधिकारी ने गांधी नेत्र चिकित्सालय पहुँच कर वहां भी ध्वजारोहण किया। जिलाधिकारी ने कलेट्रेट स्थित शहीद स्थल और स्मारक पर भी पुष्पांजलि अर्पित कर अमर शहीदों को नमन किया।
इसके अलावा जिला चिकित्सालय महिला और पुरूष में मरीजों को फल वितरण किया गया। मलिन बस्तियों में विशेष सफाई कराई गई और स्पोर्ट स्टेडियम शैक्षिक संस्थाओं में खेल कूद प्रतियोगिताएं आयोजित कराई गईं। कुंवर रूकुम सिंह वैदिक इण्टर कालेज में भाषण प्रतियोगिता आयोजित की गई। प्रातः काल प्रभात फेरी भी निकाली गई। एनसीसी, स्काउट गाइड एनएसएस तथा पुलिस और होमगार्ड का रूट मार्च और भारत माता की शोभा यात्रा भी निकाली गई। नगर पालिका परिषद में एक सार्वजनिक सभा और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए गए। इसके अलावा तमाम शैक्षिक संस्थाओं पर भी ध्वजारोहण किया गया।
उक्त कार्यक्रमों में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह यादव, मुख्य विकास अधिकारी सूर्यपाल गंगवार, अपर जिलाधिकारी (वि. एवं रा.) जयन्त कुमार दीक्षित, नगर मजिस्ट्रेट ज़मीर आलम एसपी आरए शिवशंकर,एसपी सिटी पीयूष श्रीवास्तव, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 रजनीश पाल सिंह, सहित अन्य गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।

Leave a Reply