रामदेव के विरुद्ध मुकदमों की संख्या शतक के करीब

रामदेव के विरुद्ध मुकदमों की संख्या शतक के करीब
योग गुरु बाबा रामदेव
योग गुरु बाबा रामदेव

विधान सभा चुनाव में भाजपा की जीत का श्रेय नरेंद्र मोदी को देने के साथ ही सोनिया गांधी और राहुल गांधी की खुल कर तीखी आलोचना करने वाले बाबा रामदेव को एक तरह से 11 मुकदमों का तोहफा और मिल गया है। उनकी संस्थायें जांच में स्टांप चोरी की दोषी पाई गई हैं।

हरिद्वार जिला प्रशासन की ओर से बाबा रामदेव के पंतजलि योग पीठ पर स्टांप चोरी के 11 मामले और दर्ज कराये गये हैं, जिससे अब पंतजलि योग पीठ व बाबा रामदेव के विभिन्न संस्थानों के विरुद्ध दर्ज मुकदमों की संख्या 97 हो गई है। बुधवार को दर्ज कराये गये मुकदमों में 8 एडीएम कोर्ट व तीन मुकदमे जिलाधिकारी कोर्ट मे दर्ज कराये गये हैं, जिनमें एक करोड़ 78 लाख की स्टांप चोरी का आरोप लगाया गया है। रामदेव की संस्थाओं पर इससे पहले सिर्फ स्टांप चोरी के 55 मामले दर्ज हो चुके हैं। स्टांप चोरी के मामलों में रामदेव पर मुकदमों की संख्या बढ़ कर 66 हो गई है, इसके अलावा 23 मामले जमीन खरीद की शर्तों के उल्लघंन और 8 मामले ग्राम सभा की जमीन पर कब्जे एवं रिवीजन से संबंधित बताये जा रहे हैं।

हरिद्वार के एडीएम जीवन सिंह नागन्याल ने बताया कि रामदेव के ट्रस्ट पर अब तक स्टांप चोरी के 55, जमीन खरीद शर्त उल्लंघन संबंधी 23, ग्राम सभा की जमीन पर कब्जे के 3, कब्जे को लेकर रिवीजन संबंधी 5 और स्टांप चोरी के नये 11 मामले दर्ज हो चुके हैं।

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

राजनीति करनी है, तो ठसके बर्दाश्त करें रामदेव: हरीश

Leave a Reply