राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने गणतंत्र दिवस पर किया ध्वजारोहण

राज्यपाल व मुख्यमंत्री ने गणतंत्र दिवस पर किया ध्वजारोहण
गणतंत्र दिवस के अवसर पर तिरंगे को सलामी देते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
गणतंत्र दिवस के अवसर पर तिरंगे को सलामी देते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने गणतंत्र दिवस के मौके पर आज अपने सरकारी आवास 5, कालिदास मार्ग पर ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर प्रदेश एवं देश की जनता को बधाई देते हुए उन्होंने देश की आजादी के लिए शहीद होने वाले सभी ज्ञात-अज्ञात बलिदानियों को याद किया। उन्होंने कहा कि इन अमर शहीदों का बलिदान देश को बेहतर तथा मजबूत बनने की प्रेरणा देता है। उन्होंने कहा कि देश की आजादी में सभी जाति व धर्म के लोगों का योगदान है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गणतंत्र दिवस संविधान तथा उसके द्वारा प्रदत्त अधिकारों एवं स्वतंत्रता की रक्षा हेतु संकल्पबद्ध होने का दिन है। हमारा संविधान विश्व का सबसे अच्छा संविधान है। देश में अलग-अलग भाषा, सम्प्रदाय, जाति व धर्म के लोग रहते हैं, यहां तक कि खान-पान तथा वेश-भूषा मे भी बड़ी विविधता है। उन्होंने कहा कि हम सब को यह सुनिश्चित करना होगा कि संविधान में निहित अधिकार व अवसर सभी को बिना किसी भेद-भाव के मिलें।

श्री यादव ने कहा कि आजादी के बाद से देश में काफी तरक्की हुई है, लेकिन दुनिया के अन्य देशों में आम लोगों को मिल रही सुविधाओं एवं मदद को देखते हुए अभी भी काफी कुछ किया जाना शेष है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की समाजवादी सरकार राज्य की जनता की प्रगति एवं खुशहाली के लिए लगातार काम कर रही है। राज्य के बजट का 70 प्रतिशत से अधिक गांव, गरीब व किसानों के हित के लिए चलायी जा रही योजनाओं तथा कार्यक्रमों पर खर्च किया जा रहा है। भ्रष्टाचार पर देश में चल रही चर्चा पर उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के निवारण के लिए हम सभी को मिलकर काम करना होगा। आधुनिक तकनीकी का इस्तेमाल इसमें बहुत कारगर हो सकता है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव राकेश गर्ग, सचिव शम्भू सिंह यादव सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

उधर मुख्य कार्यक्रम विधान भवन के सामने आयोजित हुआ, जहां राज्यपाल बी.एल. जोशी ने परेड की सलामी ली। इसके पहले मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने राज्यपाल का स्वागत किया और उन्हें गणतंत्र दिवस के मौके पर अपनी हार्दिक शुभकामनाएं दीं।

गणतंत्र दिवस समारोह में भव्य परेड, रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों तथा विभिन्न संस्थाओं की आकर्षक झांकियों ने दर्शकों का मन मोह लिया। परेड का नेतृत्व कर्नल प्रणव कुमार ने किया। परेड के अवसर पर भारतीय थल सेना के टी-72 टैंक, बीएमपी-2, एमएम लाइट फील्ड गन तथा एण्टी टैंक गाइडेड मिसाइल लाँचर भी प्रदर्शित किए गए।

परेड में 7/11 गोरखा राइफल, महार रेजीमेन्ट, केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल, भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल, यू.पी. पुलिस, पी.ए.सी. 32वीं बटालियन एवं होमगार्ड की पुरुष टुकडि़यों तथा सशस्त्र सीमा बल की महिला टुकड़ी द्वारा आकर्षक मार्च पास्ट प्रस्तुत किया गया। गणतंत्र दिवस परेड में गढ़वाल राइफल, ए.एम.सी. सेण्टर और कालेज, केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल, सशस्त्र सीमा बल, पी.ए.सी. 35वीं बटालियन, जाट रेजीमेंट सेण्टर एवं बिहार रेजीमेंट के बैण्ड भी सम्मिलित हुए।

मार्च पास्ट में एन.सी.सी. के बालक एवं बालिकाएं, उ0प्र0 सैनिक स्कूल तथा ब्वायज एंग्लो बंगाली इण्टर कालेज के छात्र, सेण्ट जोजफ इण्टर कालेज, राजाजीपुरम, लखनऊ पब्लिक कालेज, ए ब्लाक, राजाजीपुरम तथा सिटी माण्टेसरी स्कूल, आर.डी.एस.ओ. शाखा की छात्राएं भी शामिल हुईं। उ0प्र0 सैनिक स्कूल, लखनऊ पब्लिक कालेज, ए ब्लाक, राजाजीपुरम तथा सिटी माण्टेसरी स्कूल, कानपुर रोड शाखा के बैण्ड भी परेड में सम्मिलित हुए। इसके अलावा उ0प्र0 पुलिस का घुड़सवार दल, श्वान दल, फायर सर्विस तथा एम्बुलेंस सेवा ने भी परेड में हिस्सा लिया।

गणतंत्र दिवस के अवसर पर बोलते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
गणतंत्र दिवस के अवसर पर बोलते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

इस अवसर पर विभिन्न विद्यालयों के बच्चों द्वारा देशभक्ति, राष्ट्रीय एकता, नैतिक मूल्यों व आदर्शों पर आधारित आकर्षक सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए। लखनऊ पब्लिक कालेज, गोमतीनगर के बच्चों द्वारा नाज़-ए-हिन्दुस्तान नृत्य, सिटी माण्टेसरी स्कूल, राजेन्द्र नगर तृतीय शाखा के विद्यार्थियों द्वारा संस्कार नृत्य, सिटी माण्टेसरी स्कूल, अलीगंज शाखा के बच्चों द्वारा भारतीयम ड्रिल तथा ब्वायज एंग्लो बंगाली इण्टर कालेज के छात्रों द्वारा देशभक्ति गीत इण्डियन-इण्डियन पर नृत्य प्रस्तुत किया गया। बाल विद्या मंदिर के बच्चों द्वारा म्युजि़कल पिरामिड का प्रदर्शन किया गया।

गणतंत्र दिवस की परेड में विभिन्न विभागों, संस्थाओं एवं विद्यालयों की आकर्षक झांकियां भी शामिल हुईं। सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग की ‘कामयाबी के क़दम’ झांकी में प्रदेश सरकार की जनोपयोगी योजनाओं को प्रदर्शित किया गया। इसी प्रकार मुख्य निर्वाचन अधिकारी द्वारा ‘नैतिक मतदान’ तथा उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग द्वारा ‘बागवानी विकास के समृद्ध चरण, संरक्षित खेती, खाद्य प्रसंस्करण’ थीम पर आधारित झांकियां निकाली गईं। इरम एजूकेशनल सोसाइटी की झांकी का शीर्षक ‘तहज़ीबे अवध’ तथा लखनऊ पब्लिक स्कूल एण्ड कालेजेज़ की झांकी का शीर्षक ‘विश्व के शान्ति दूत’ था।

सिटी माण्टेसरी स्कूल की झांकी ‘एकता में है ताकत’ तथा अमीनाबाद इण्टर कालेज की झांकी ‘ऐतिहासिक काकोरी ट्रेन एक्शन’ थीम पर आधारित थी। राज्य सूचना शिक्षा संचार ब्यूरो में प्रदेश सरकार की विभिन्न स्वास्थ्य योजनाओं को दर्शाया गया था जबकि उ0प्र0 पावर कार्पोरेशन की झांकी ‘तमसो मा ज्योतिर्गमय’ में ऊर्जा संरक्षण का संदेश दिया गया था। फुटवियर डिज़ाइन एण्ड डेवलपमेण्ट इंस्टीट्यूट की झांकी की थीम ‘सोपान-सफलता की ओर तीव्रता से’ थी तथा उ0प्र0 पुलिस की झांकी ‘1090 वुमेन पावर लाइन’ पर आधारित थी।

‘देश निर्माण एवं प्रगति के लिए निरन्तर अग्रसर’ विषयक झांकी में उ0प्र0 राजकीय निर्माण निगम की उपलब्धियों को दर्शाया गया था। समाज कल्याण विभाग की झांकी ‘कल्याण योजनाओं को घर-घर पहुंचाएंगे, लोहिया के सपनों का भारत बनाएंगे’ में विभागीय योजनाओं की जानकारी दी गई थी। लखनऊ विकास प्राधिकरण की झांकी ‘सी.जी. सिटी’ थीम पर केन्द्रित थी, जिसमें चक गंजरिया क्षेत्र की योजनाओं का ब्यौरा था। वन विभाग की झांकी ‘समृद्ध वन स्वस्थ जीवन एवं सुखद भविष्य’ शीर्षक पर आधारित थी। राज्य की विविधतापूर्ण छवि को पर्यटन विभाग की झांकी ‘मेले-उत्सवों का प्रदेश-उत्तर प्रदेश’ में प्रदर्शित किया गया था। गणतंत्र दिवस समारोह के अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री श्री नारायण दत्त तिवारी सहित अन्य महानुभाव उपस्थित थे। इस अवसर पर मुख्य सचिव श्री जावेद उस्मानी सहित शासन-प्रशासन तथा सेना के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।