राजनैतिक लाभ के लिए फांसी देना निंदनीय: साध्वी चिदर्पिता

राजनैतिक लाभ के लिए फांसी देना निंदनीय: साध्वी चिदर्पिता

– अफजल गुरु को तत्काल फांसी देने की मांग

साध्वी चिदर्पिता

मुंबई के ताज होटल में कहर बरपाने वाले आतंकी अजमल आमिर कसाब को फांसी देने के मुद्दे पर साध्वी चिदर्पिता की राय भिन्न है। उनका कहना है कि कांग्रेस ने कसाब को फांसी राष्ट्रहित में नहीं, बल्कि राजनैतिक लाभ की द्रष्टि से दी है।

मीडिया को दिए बयान में उन्होंने कहा कि भारत की किसी भी दिशा में आतंकी घटना होना अक्षम्य ही है, लेकिन सम्पूर्ण भारत के किसी भी स्थान पर हुई आतंकी घटना और संसद पर हुई घटना में विशाल अंतर है।  उनका कहना है कि संसद में घुसने का प्रयास मात्र एक घटना नहीं थी, वह भारतीय गणराज्य की अस्मिता पर सीधा आक्रमण था, पर वर्ग विशेष को खुश रखने की दूषित भावना के चलते केंद्र की कांग्रेस सरकार संसद पर हुए हमले के दोषी अफज़ल गुरु की फांसी को टालने का लगातार प्रयास कर रही है। साध्वी ने कहा कि अजमल आमिर कसाब को फांसी कांग्रेस सरकार ने राष्ट्र को ध्यान में रखकर नहीं, बल्कि राजनैतिक स्वार्थ को पूरा करने के उद्देश्य से दी है।  महंगाई और भ्रष्टाचार से ध्यान हटाने के साथ कांग्रेस पार्टी ने विधानसभा चुनाव में लाभ लेने की नीयत से कसाब को फांसी दी है, जिसका स्वागत करने की बजाय निंदा ही की जानी चाहिए। साध्वी चिदर्पिता आगे कहा कि कांग्रेस की नज़र में राष्ट्रहित सर्वोपरि है, तो अफज़ल गुरु को फांसी देने में लंबित कार्यवाही को तत्काल पूर्ण करे। उनका कहना है कि देश की सर्वोच्च अदालत अफज़ल गुरु को फांसी देने का निर्णय पहले ही सुना चुकी है और देश के सभी नागरिक भी यही चाहते हैं, ऐसे में कांग्रेस को कानून और जनभावनाओं का आदर करते हुए अफजल गुरु  को फांसी देने की दिशा में कार्रवाई की बाधाएं तत्काल दूर करनी चाहिए।

 

One Response to "राजनैतिक लाभ के लिए फांसी देना निंदनीय: साध्वी चिदर्पिता"

  1. रतन सिंह शेखावत   November 22, 2012 at 8:42 PM

    साध्वी जी के विचारों से सहमत

    Reply

Leave a Reply