राजनाथ और मोदी की मुलाक़ात बनी चर्चा का विषय

राजनाथ और मोदी की मुलाक़ात बनी चर्चा का विषय
राजनाथ और मोदी की मुलाक़ात बनी चर्चा का विषय
राजनाथ और मोदी की मुलाक़ात बनी चर्चा का विषय

राजनाथ सिंह को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने की बधाई नरेंद्र मोदी पहले ही दे चुके हैं। आज वह राजनाथ सिंह से दिल्ली स्थित उनके आवास पर मिलने भी आये। लगभग एक घंटा साथ रहने वाले दोनों नेताओं ने लंच भी एक साथ किया। मुलाक़ात को लेकर मोदी समर्थक गदगद दिख रहे हैं।

भाजपा में प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी को लेकर घमासान मचा हुआ है। भाजपा विश्व की एक मात्र ऐसी पार्टी है, जिसमें प्रधानमन्त्री पद के इतने दावेदार हैं। भाजपा के अधिकाँश समर्थक नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करने की मांग करते आ रहे हैं, लेकिन लालकृष्ण आडवाणी, सुषमा स्वराज, अरुण जेटली के साथ राजनाथ सिंह की नज़र प्रधानमंत्री की कुर्सी पर टिकी हुई है। सब अपने लिए गोटियाँ बिछा रहे हैं, जिससे भाजपा का नुकसान ही हो रहा है। राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद राजनाथ सिंह की खुद की नज़र में संभावनाएं और अधिक बढ़ गई होंगी, पर राजनाथ सिंह अपनी महत्वकांक्षा को व्यवहार में नहीं आने देते, जो अच्छी बात कही जा सकती है। निवर्तमान अध्यक्ष नितिन गडकरी के क्रियाकलापों से भाजपा की काफी फजीहत हो चुकी है, जिससे एनडीए को आम आदमी यूपीए का विकल्प के तौर पर नहीं देख पा रहा। राजनाथ सिंह के साथ फ़िलहाल अन्य सभी नेताओं को मिल कर आम आदमी के अन्दर वह विश्वास जगाना होगा, वरना सत्ता ही नहीं होगी, तो प्रधानमन्त्री पद की लड़ाई का क्या अर्थ रह जाएगा?

भाजपा नेताओं को आम समर्थकों की भावनाओं के अनुसार मोदी को केंद्र में अहम् जिम्मेदारी के साथ प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करना ही पड़ेगा, अन्यथा दूसरी कोई बूटी कार्यकर्ताओं में जोश भरने लायक भाजपा के पास नहीं है। राजनाथ और मोदी की आज की मुलाक़ात को लोकसभा चुनाव से जोड़ कर ही देखा जा रहा है। देखना यह है कि आने वाले दिनों में इस मुलाक़ात का क्या परिणाम सामने आता है। फिलहाल दोनों की मुलाक़ात चर्चा का विषय बन गई है।

Leave a Reply