मॉरीशस के राष्ट्रपति व न्यायाधीश स्वागत से अभिभूत

मॉरीशस के राष्ट्रपति व न्यायाधीश स्वागत से अभिभूत
  • विश्व में शान्ति स्थापना और विश्व बंधुत्व स्थापित करने के प्रयास सभी को मिल-जुलकर करने होंगे: मुख्यमंत्री
  •   भारत को संयुक्त राष्ट्र संघ में सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य बनाने में  अब देरी नहीं होनी चाहिए: राजकेश्वर पुरयाग
ताज होटल में मुख्य न्यायाधीशों और मॉरीशस के राष्ट्रपति राजकेश्वर पुरयाग के साथ मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
ताज होटल में मुख्य न्यायाधीशों और मॉरीशस के राष्ट्रपति राजकेश्वर पुरयाग के साथ मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मॉरिशस के राष्ट्रपति राजकेश्वर पुरयाग और लगभग 70 देशों से अधिक की संख्या में आए मुख्य न्यायाधीशों का स्वागत करते हुए कहा है कि विश्व में शान्ति स्थापना और विश्व बंधुत्व स्थापित करने के प्रयास सभी को मिल-जुलकर करने होंगे। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश देश का सबसे बड़ा राज्य है और यह गंगा-जमुनी तहजीब का अनूठा उदाहरण है। मॉरिशस के राष्ट्रपति राजकेश्वर पुरयाग ने जोर देते हुए कहा कि भारत को संयुक्त राष्ट्र संघ में सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य बनाने में अब देरी नहीं होनी चाहिए।
मौका था, स्थानीय ताज होटल में मुख्य न्यायाधीशों और मॉरिशस के राष्ट्रपति राजकेश्वर पुरयाग के सम्मान में आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रमों एवं रात्रि भोज का। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस कार्यक्रम में सम्मिलित होने के लिए विभिन्न देशों से पधारे सभी विद्वान न्यायाधीशों से और राजकेश्वर जी से मिलकर मुझे अत्यन्त खुशी हो रही है। इन सभी के उत्तर प्रदेश आगमन पर राज्य सरकार एवं उनकी तरफ से हार्दिक स्वागत है।
इस अवसर पर मॉरिशस के राष्ट्रपति राजकेश्वर पुरयाग जी ने कहा कि प्रदेश सरकार और मुख्यमंत्री द्वारा दिया गया सम्मान और स्वागत बेमिसाल है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश और लखनऊ के इतिहास व संस्कृति की विशिष्ट पहचान है। उन्होंने कहा कि विभिन्न धर्मों, सम्प्रदायों और भाषा-बोलियों के लोग यहां मिल-जुलकर रहते हैं और लगभग 20 करोड़ की आबादी वाले इस प्रदेश का भविष्य उज्ज्वल है। उन्होंने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा उत्तर प्रदेश के विकास के लिए चलाई जा रही योजनाओं और कार्यक्रमों की सराहना करते हुए कहा कि आने वाले समय में यहां सकारात्मक परिवर्तन दिखाई देगा।
राष्ट्रपति ने कहा कि भारत और मॉरिशस का रिश्ता बेहद पुराना है और यह प्रत्येक समय पर खरा उतरा है। उन्होंने कहा कि विश्व में शान्ति की स्थापना के लिए दोनों देश मिल-जुलकर कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि व्यापार और अन्य क्षेत्रों में भारत और मॉरिशस के द्विपक्षीय सम्बन्ध मजबूत बनाए जाने की दिशा में तेजी से कार्य हो रहा है।
इस अवसर पर सिटी माण्टेसरी स्कूल के संस्थापक डा. जगदीश गांधी ने सभी अतिथियों का स्वागत किया। स्कूल के छात्र-छात्राओं ने एकता और अखण्डता को प्रदर्शित करते हुए सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। इस मौके पर बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री योगेश प्रताप सिंह, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव राकेश गर्ग सहित वरिष्ठ अधिकारीगण एवं गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

Leave a Reply