मैंथा फैक्ट्री के टैंक की सफाई को अंदर घुसे तीन भाइयों की मौत

मैंथा फैक्ट्री के टैंक की सफाई को अंदर घुसे तीन भाइयों की मौत
  • हृदय विदारक घटना के चलते परिवार में मचा कोहराम, क्षेत्र में शोक व्याप्त 
  • कृषक दुर्घटना बीमा व पारिवारिक लाभ योजना का परिजनों को मिलेगा लाभ
मृतकों के परिजनों के साथ विलाप करती गाँव की महिलायें
मृतकों के परिजनों के साथ विलाप करती गाँव की महिलायें

बदायूं जिले में स्थित उसहैत थाना क्षेत्र के गाँव बिचौला में आज तीन सगे भाई असमय ही काल के गाल में समा गये। हृदय विदारक घटना के चलते परिवार में कोहराम मचा हुआ है, साथ ही पूरे इलाके में शोक व्याप्त है।

बताया जाता है कि बिचौला निवासी ओमपाल (28), वीरपाल (26) व उदयपाल (23) तीनों ने मिल कर कड़ी मेहनत से मैंथा की फसल की कटाई की। काटने के बाद तीनों भाई गाँव के ही मोतीलाल की मैंथा फैक्ट्री पर तेल निकलवाने के लिए फसल लेकर पहुँच गये। फैक्ट्री अभी शुरू नहीं हुई है, जिससे तीनों मिल कर फैक्ट्री की सफाई करने लगे। बताया जाता है कि सब से छोटा भाई उदयपाल टैंक की सफाई करने के लिए टैंक के अंदर घुस गया, लेकिन टैंक के अंदर से किसी भी तरह की हलचल महसूस नहीं हुई, तो कुछ देर तक वीरपाल ने झाँक कर देखा। झाँकने पर पता चला कि उदयपाल बेहोश पड़ा है, तो वीरपाल कुछ सोचे समझे बिना टैंक में उसकी मदद के लिए उतर गया, लेकिन नीचे उतरने के कुछ मिनट बाद ही वह भी बेहोश हो गया, इसके बाद बाहर आवाज लगा कर ओमपाल भी भाइयों की मदद के लिए टैंक में उतर गया, तो कुछ मिनट बाद ही वह भी बेहोश गया। इसके बाद गाँव वाले जमा हुए और सभी ने मिल कर तीनों को बाहर निकाला। बाहर निकालने के बाद पता चला कि तीनों भाई टैंक के अंदर ही दम तोड़ चुके थे। आठ फुट गहरे टैंक के अंदर मौजूद जहरीली गैस से दम घुटने के कारण तीनों भाइयों की मौत हुई है।

हृदय विदारक घटना की खबर मृतकों के घर पहुंची, तो कोहराम मच गया, साथ ही जिसने सुना, वह अवाक रह गया। ओमपाल की पत्नी, दो लड़की, एक लड़का, वीरपाल की पत्नी, दो लड़के, एक लड़की और उदयपाल पत्नी व एक लड़की का रो-रोकर बुरा हाल है।

घटना की सूचना के बाद पहुंचे दातागंज एसडीएम बैभव मिश्रा ने परिजनों को सांत्वना देते हुए बताया कि मृतकों के परिजनों को कृषक दुर्घटना बीमा के तहत पांच-पांच लाख रुपया और पारिवारिक लाभ योजना के तहत बीस-बीस हजार रुपया दिया जायेगा।

मौत के कुए: इसी फैक्ट्री में दम घुटने से हुई तीनों भाइयों की मौत
मौत के कुए: इसी फैक्ट्री में दम घुटने से हुई तीनों भाइयों की मौत